--Advertisement--

UPTET एग्जाम में फेल होने शिक्षामित्र न हो मायूस, उनके लिए हैं ये तीन रास्ते

UPTET-2017 के एग्जाम में कुल 11 फीसदी कैंडिडेट एग्जाम पास कर पाए है।

Dainik Bhaskar

Dec 17, 2017, 03:03 PM IST
25 जुलाई 2017 को शिक्षामित्रों के समायोजन को सुप्रीम कोर्ट ने रद्द कर दिया था। उसके बाद शिक्षामित्रों ने खूब धरना दिया। 25 जुलाई 2017 को शिक्षामित्रों के समायोजन को सुप्रीम कोर्ट ने रद्द कर दिया था। उसके बाद शिक्षामित्रों ने खूब धरना दिया।

लखनऊ. शुक्रवार को यूपी बेसिक एजुकेशन बोर्ड ने यूपीटीईटी-2017 का रिजल्ट जारी कर दिया है। इस बार प्राइमरी लेवल पर 18 फीसदी और हाई प्राइमरी लेवल पर 8 फीसदी कैंडिडेट एग्जाम पास कर पाए । इस रिजल्ट से सबसे बड़ा झटका शिक्षामित्रों को लगा है। अभी उनके पास हैं तीन रास्ते....

# पहला रास्ता
- यूपी प्राथमिक शिक्षामित्र संघ के प्रेसिडेंट गाजी इमाम ने DainikBhaskar.com से बातचीत में कहा, "शिक्षामित्र बिल्कुल निराश नहीं हो, उनके पास असिस्टेंट टीचर बनने के लिए उनके पास तीन रास्ते हैं।
-शिक्षामित्रों के समायोजन रद्द होने का आदेश 25 जुलाई 2017 को सुप्रीम कोर्ट ने दिया था। उस आदेश में कहा गया था- शिक्षामित्र योग्यता बढ़ाने के लिए जितनी बार चाहे, उतनी बार टीईटी एग्जाम में बैठ सकते हैं, लेकिन टीईटी पास होने के बाद सहायक अध्यापक बनने के लिए खुली भर्ती में केवल दो मौके ही मिलेंगे। इन दोनों मौके की गिनती भर्ती निकलने के बाद से होगी।
-इस हिसाब से शिक्षा मित्रों के पास टीचर बनने के बाद दो मौके बचे हैं। बता दें कि यूपी सरकार प्रदेश में 64 हजार शिक्षकों की भर्ती के लिए विज्ञापन निकालने वाली है। ऐसे में अभी भी शिक्षामित्रों के पास सहायक अध्यापक बनने के लिए दो मौके बचे हुए है।


# दूसरा रास्ता


-यूपी प्राथमिक शिक्षामित्र संघ की तरफ से 14 दिसम्बर 2017 को सहायक अध्यापक के पद पर समायोजन के लिए रिव्यू पिटीशन दाखिल की गई थी, जिसे अभी कोर्ट ने एक्सेप्ट कर लिया है।
-जनवरी के पहले हफ्ते में इस पर पुनर्विचार होगा। इसलिए अभी शिक्षामित्रों के पास सहायक अध्यापक बनने का एक मौका अभी बचा हुआ है।


# तीसरा रास्ता


-यूपी प्राथमिक शिक्षामित्र संघ का प्रतिनिधिमंडल समायोजित करने की मांग को लेकर जल्द ही सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करने की तैयारी में है।
- शिक्षामित्र सीएम से ये मांग करेंगे कि सरकार उनके 17 साल के अनुभव को इग्नोर न करे और उन्हें सहायक अध्यापक पद पर समायोजित करने के लिए अध्यादेश लाए। इस वजह से शिक्षामित्रों के पास सहायक अध्यापक बनने का एक मौका अभी भी बचा हुआ है।

UPTET-2017 शुक्रवार को रिजल्ट आया था। इसमें सिर्फ 11 फीसदी कैंडिडेट पास हुए थे। UPTET-2017 शुक्रवार को रिजल्ट आया था। इसमें सिर्फ 11 फीसदी कैंडिडेट पास हुए थे।
X
25 जुलाई 2017 को शिक्षामित्रों के समायोजन को सुप्रीम कोर्ट ने रद्द कर दिया था। उसके बाद शिक्षामित्रों ने खूब धरना दिया।25 जुलाई 2017 को शिक्षामित्रों के समायोजन को सुप्रीम कोर्ट ने रद्द कर दिया था। उसके बाद शिक्षामित्रों ने खूब धरना दिया।
UPTET-2017 शुक्रवार को रिजल्ट आया था। इसमें सिर्फ 11 फीसदी कैंडिडेट पास हुए थे।UPTET-2017 शुक्रवार को रिजल्ट आया था। इसमें सिर्फ 11 फीसदी कैंडिडेट पास हुए थे।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..