--Advertisement--

बांस के सहारे घर में घुसे परिजन, दरवाजा खोलकर देखा तो सामने आया ये सच

पुलिस द्वारा दम घुटने से मौत होना बताया जा रहा है।

Danik Bhaskar | Jan 08, 2018, 09:00 PM IST
दरवाजो नहीं खुलने पर बांस के सहारे दूपसे मंजिल पर पहुंचे परिजन। दरवाजो नहीं खुलने पर बांस के सहारे दूपसे मंजिल पर पहुंचे परिजन।

बहराइच. बेगमपुर गांव में रविवार को 70 वर्षीय वृद्धा व उसकी दो नातिन संदिग्ध अवस्था में अपने कमरे में मृत अवस्था में मिलने से हड़कंप मच गया। जबकि बहू को गंभीर हालात में हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है। घटना की जानकारी मिलते ही एएसपी, महसी सीओ, व रामगांव पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और फॉरेंसिक टीम के माध्यम से साक्ष्य जुटाने में लगी है। मामला रामगांव थाना अंतर्गत बेगमपुर गांव का है।

-पुलिस द्वारा दम घुटने से मौत होना बताया जा रहा है। हालांकि फॉरेंसिक टीम ने किचेन में मिले पके खाद्य पदार्थों का सैंपल जुटाया है। जिसे जांच के लिए लैब भेजने को कहा है। पुलिस ने पंचनामा कर तीनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

-गांव के निवासी राम शरीक सिंह चौहान अपनी बेटी मालती के विवाह के लिए सीतापुर जिले के महमूदाबाद गए हुए थे। शनिवार रात राम शरीक का बेटा लालधर अपनी बहन व बहनोई को खाना देने के लिए नर्सिंग होम चला गया और रात में वहीं रुक गया। उधर, घर पर राम शरीक सिंह ने पत्नी कुमारी देवी (70) व बहू संजू सिंह (24), नातिन विद्या, काजल के साथ खाने के बाद सोने चले गए।
-राम शरीक ग्राउंड फ्लोर पर सो गया, जबकि बहू, पत्नी व दोनों नातिन एक साथ दूसरे फ्लोर पर बने कमरे में सोने चले गए। रविवार सुबह राम शरीक सोकर उठा, लेकिन छत पर सोए अन्य परिजन नहीं उठे। जब काफी देर हो गई तो राम शरीक को शक हुआ। उसने बेटे लालधर को बात बताई। सुबह करीब 11 बजे बेटा लालधर जब घर पहुंचा तो बांस के सहारे लोग छत पर चढ़े।

कमरे में मृत पड़ी थी मां

-उसने कमरे में जाकर देखा तो वृद्धा कुमारी देवी, नातिन विद्या व काजल बेड पर मृत अवस्था में मिले, जबकि बहू संजू की सांस चल रही थी। तत्काल उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है। इस घटना की सूचना पुलिस को दी गयी।

क्या कहना है पुलिस का

-एएसपी ग्रामीण रविन्द्र सिंह ने बताया- "जिस कमरे में शव मिले हैं, उसके बाहर दो तसलों में अलाव बरामद हुए हैं। बेड पर व नीचे फर्श पर उल्टी के निशान मिले हैं। साथ ही किचेन में रोटी, सब्जी व तीन दिन पहले पका चिकेन मिला है। प्रतीत होता है कि तीनों की मौत दम घुटने से हुई है। कारण कमरे से धुआं निकलने की कोई जगह नहीं है।"
-फिलहाल शवों का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। पीएम रिपोर्ट मिलने पर मौत की असली वजह का पता चलेगा।

क्या कहना है डॉक्टर का

-जिला अस्पताल के वरिष्ठ सर्जन व इमरजेंसी मेडिकल अफसर डॉ पंकज श्रीवास्तव ने बताया- "संजू के शरीर में पॉइजनिंग की शिकायत है, जो उसके फेफड़ों पर सबसे अधिक असरदार है। इसलिए उसे सांस लेने में तकलीफ हो रही है। उपचार चल रहा है। लेकिन हालत नाजुक है। घर वालों ने बताया है की रात में अलाव में कोयला जलाया गया था। कोयले से कार्बन मोनो आक्साइड उत्सर्जित होती है, जो शरीर के लिए बेहद हानिकारक है।"

पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।
पुलिस के अनुसार दम घुटने के कारण मौत बताई जा रही है। पुलिस के अनुसार दम घुटने के कारण मौत बताई जा रही है।