Hindi News »Uttar Pradesh »Lucknow »News» Tiger In School Campus At Lucknow Uttar Pradesh

जब स्कूल में घुसा तेंदुआ-खुद ही हो गया कैद, VIDEO में देखें पूरा सीन

7.30 घंटे की रेस्क्यू के बाद तेंदुए को पकड़ा गया। सुबह के वक्त स्कूल कैंपस में तेंदुआ नजर आया था।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 13, 2018, 08:18 PM IST

    • स्कूल में तेंदुआ के घुसने बाद हड़कंप मच गया । पहली बार CCTV में तेंदुआ नजर आया था।

      लखनऊ.7.30 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद ठाकुरगंज के स्कूल में घुसे तेंदुए को वन विभाग ने पकड़ लिया। अब उच्च अधिकारियों की राय के बाद उसे जंगल में छोड़ा जाएगा। फिलहाल, अभी तेंदुए को लखनऊ के चिडियाघर में रखा गया है। वन विभाग की टीम ने तेंदुए को पकड़ने के लिए ट्रैंकुलाइज गन का इस्तेमाल किया है। बेहोश होने पर उसे पकड़कर पिंजरे में कैद किया। सुबह 10.11 बजे नजर आया तेंदुआ...

      -सुबह 10.11 बजे कॉलेज कैंपस में लगे सीसीटीवी में तेंदुआ नजर आया था। ये जानकारी स्कूल की टीचर सिस्टर जोशिया ने स्कूल मैनेजमेंट को दी। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस और वन विभाग की टीम स्कूल कैंपस में तेंदुए की तलाश शुरु की।

      -एक घंटे के तलाश के बाद तेंदुआ स्कूल बिल्डिंग के बेसमेंट में नजर आया। इसके बाद एसपी वेस्ट विकास चंद्र त्रिपाठी ने वन विभाग ने लखनऊ जू प्रशासन को मामले की जानकारी दी। करीब 1.30 घंटे बाद जू प्रशासन 17 लोगों की टीम के साथ स्कूल कैंपस में पहुंचा। इसके बाद जू प्रशासन ने पिंजरे को बेसमेंट की एक गेट के सामने लगा दिया। दूसरे गेट को ब्लॉक कर तीन खिड़कियों के रास्ते तेंदुए को लोहे की रॉड से पुश किया जाने लगा।

      -चार घंटे तक ऐसा करने के बाद जब तेंदुआ पिंजरे में नहीं आया, तब बेसमेंट की छत को ड्रिल मशीन से तोड़ा गया। इसके बाद खिड़की से ट्रैकुलाइजर गन से उस पर कई वार किए गए। पांच वार के बाद एक बार तेंदुआ खिड़की की तरफ ऐसा लपका, जैसे वो खिड़की से बाहर आ जाएगा। उसके बाद वन विभाग की टीम ने एक-एक करके दो निशाने लगाए, जिसके बाद तेंदुआ बेहोश हो गया। वन विभाग की टीम के में मेंबर बेहोश तेदुएं के पास पहुंचे। जाल में बांधने के बाद उसे पिंजरे में बांधकर चिड़ियाघर लेकर आए।

      दिव्यांग बच्चों के स्कूल में था तेंदुआ

      -जानकारी के मुताबिक, ठाकुरगंज इलाके में बना ये सेंट फ्रांसिस स्कूल मूक-बधिर बच्चों का है। इस कैंपस में बच्चे का हॉस्टल है, जिसमें बच्चे रहते हैं। जिस वक्त कैंपस में तेंदुआ घुसा, उस वक्त से स्कूल में बच्चे और टीचर समेत 60 लोग मौजूद हैं। तेंदुआ को देखने के बाद लोगों ने खुद भागकर अपनी जान बचाई। तेदुएं के पकड़े जाने के बाद बच्चों में खुशी की लहर है। बच्चों ने हाथ हिलाकर अपनी खुशी का इजहार किया।

      लखनऊ जू में कराएंगे मेडिकल: DFO

      - लखनऊ जू के उपनिदेशक उत्कर्ष शुक्ला ने बताया- "तेंदुए को पकड़ने के लिए करीब 7.30 घंटे की मशक्कत के बाद तेंदुए को पकड़ा गया है। 2 डॉट लगने के बाद बेहोशी की हालत में हैं। लखनऊ जू में लेजाकर उसका मेडिकल कराएंगे। उच्च अधिकारी की राय के बाद उसे जंगल में छोड़ा जाएगा।"

    • जब स्कूल में घुसा तेंदुआ-खुद ही हो गया कैद, VIDEO में देखें पूरा सीन
      +5और स्लाइड देखें
      वन विभाग की टीम तेंदुए को पकड़ने में लगी है।
    • जब स्कूल में घुसा तेंदुआ-खुद ही हो गया कैद, VIDEO में देखें पूरा सीन
      +5और स्लाइड देखें
      स्कूल कैंपस में तेदुएं की सूचना मिलने के बाद आस-पास के लोग इक्ट्ठा हो गए।
    • जब स्कूल में घुसा तेंदुआ-खुद ही हो गया कैद, VIDEO में देखें पूरा सीन
      +5और स्लाइड देखें
      लखनऊ जू की टीम 17 लोगों के साथ तेंदुए को पकड़ने के लिए पहुंची।
    • जब स्कूल में घुसा तेंदुआ-खुद ही हो गया कैद, VIDEO में देखें पूरा सीन
      +5और स्लाइड देखें
      बेसमेंट में छिपे तेंदुए को पकड़ने के लिए एक गेट पर पिंजरा लगाया गया।
    • जब स्कूल में घुसा तेंदुआ-खुद ही हो गया कैद, VIDEO में देखें पूरा सीन
      +5और स्लाइड देखें
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online

    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Lucknow News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: Tiger In School Campus At Lucknow Uttar Pradesh
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    More From News

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×