--Advertisement--

यूपी में तंबाकू का सेवन 2009-10 के मुकाबले 1.6 फीसदी बढ़ा : सिद्धार्थ नाथ सिंह

3.2 परसेंट महिलाएं धूम्रपान करती हैं।

Danik Bhaskar | Dec 28, 2017, 04:50 PM IST
सर्वे करने के दौरान पाया गया क सर्वे करने के दौरान पाया गया क

लखनऊ. यूपी के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने गुरूवार को क्लार्क अवध होटल में ग्लोबल अडल्ट टोबैको सर्वे (GATS) की रिपोर्ट जारी किया। इस दौरान प्रदेश के चिकित्सा राज्य मंत्री महेंद्र सिंह, डीजी हेल्थ पद्माकर सिंह और मुंबई के टाटा इंस्टीटयूटस ऑफ सोशल साइंसेज की प्रोफेसर सुलभ परसुरामन भी मौजूद थीं।

-प्रो. परसुरामन ने ही इस सर्वे को यूपी और उत्तराखंड में पूरा किया है। उन्होंने 74 हजार लोगों के इंटरव्यू किये थे। जिसमें 40 हजार पुरुष और 34 हजार महिलाएं शामिल थीं।

स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहीं ये बातें

-यूपी में तम्बाकू का सेवन पहले के मुकाबले अब 1.6 फीसदी बढ़ गया है। ये सभी के लिए चिंता का विषय है।
-2009-10 की सर्वे रिपोर्ट में 33.9 प्रतिशत लोग तंबाकू सेवन करते पाए गये थे।
-2016–17 की सर्वे रिपोर्ट में तंबाकू सेवन करने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 35.5 परसेंट हो गई है।
-स्कूलों और प्ले ग्राउंड के आस-पास तम्बाकू बिक्री पर रोक लगनी चाहिए।
- उन्होंने कहा- "बीजेपी सरकार प्रदेश के सभी जिलों में तम्बाकू सेवन से होने वाले नुकसान के बारे में लोगों को जागरूक करेगी।"

क्या कहती है ये सर्वे रिपोर्ट


-मुंबई के टाटा इंस्टीटयूटस ऑफ सोशल साइंसेज की प्रो. सुलभ परसुरामन ने GATS की रिपोर्ट जारी करते हुए बताया- "सर्वे करने के दौरान पाया गया कि यूपी में हर 6 में से एक महिला और 4 में से 1 पुरुष तंबाकू का सेवन करते हैं। वर्तमान में धूम्रपान करने वाले लोगों की तादाद 23.1 फीसदी है। जिसमें पुरुष 23.1, महिलाएं 3.2 और युवा 13.5 फीसदी हैं।

-2009-10 के सर्वे की तुलना में 2016-17 में तम्बाकू सेवन करने वाले युवाओं की संख्या में 2.8 परसेंट की गिरावट आई है। 35.5 परसेंट वयस्क जो चार दिवारी के भीतर काम करते हैं। वे किसी न किसी रूप में अप्रत्यक्ष रूप से धुम्रपान के सम्पर्क में आते हैं।
-यूपी में 15.9 और 11.5 परसेंट वयस्क खैनी और गुटखे का प्रयोग करते हैं। जबकि 11.3 वयस्क बीड़ी पीते हैं। वर्तमान में 23.1 परसेंट पुरूष और 3.2 परसेंट महिलाएं धूम्रपान करती हैं।