Hindi News »Uttar Pradesh »Lucknow »News» Two People Died After Fire In Car At Badaun

जिंदा जलने से पापा को नहीं बचा सका 8 साल का ये मासूम

कार में सवार ये लोग अपनी रिश्तेदार के घर से लौट रहे थे।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 16, 2018, 10:54 AM IST

  • जिंदा जलने से पापा को नहीं बचा सका 8 साल का ये मासूम
    +5और स्लाइड देखें
    कार में पीछे बैठे देव ने गाड़ी में कूदकर अपनी जान बचाई।

    बदायूं. मुरादाबाद-फर्रूखाबाद हाईवे पर वजीरगंज थाना क्षेत्र में कार में जिंदा जलकर जीजा-साले की मौत हो गई, जबकि कार में सवार 8 साल के देव ने कूदकर अपनी जान बचाई। घटना रविवार रात की है। टक्कर के बाद लगी आग...

    -बताया जा रहा है कि कार में लगे एलपीजी सिलेंडर में कहीं से लीकेज हो रहा था। उसी वक्त किसी अज्ञात वाहन से कार को टक्कर लगी। उसके बाद कार आग के गोले में तब्दील हो गई। इस हादसे जान बचाकर निकला मासूम देव घटना का इकलौता चश्मदीद है। घटना के वक्त उसने पापा और मामा दोनों को बचाने की कोशिश की।

    बच्चे ने सुनाई आपबीती

    - देव ने बताया, "घर से निकलते ही मामा की सेंट्रो कार में पिछली सीट पर बैठा था। ठंडी हवा की वजह से गाड़ी के शीशे चारो तरफ से बंद थे। पापा और मामा बातें करते जा रहे थे। तभी उसे झपकी आ गई।"
    - "अचानक जोरदार धमाके से मेरा सिर आगे की सीट पर जा लगा। जब मैंने देखा गाड़ी के अंदर धुआं और बाहर आग लगी है। उसके बाद मैंने पापा को आवाज दी, लेकिन पापा ने जवाब नहीं दिया।

    - "तब मुझे लगा कि मैं बच नहीं पाऊंगा। उसके बाद मैंने कार का गेट खोलने की कोशिश की, पर वो लॉक हो गया था। फिर मैंने साइड का शीशा खोला और बाहर कूद गया। कूदते वक्त मैंने पानी की केन निकाली। पीछे से पापा को निकालने की कोशिश की,लेकिन वो नहीं उठे। मामा को बाहर निकालने की कोशिश की, लेकिन वो नहीं निकल पाए।"

    हाईवे पर गाड़ियों को रोकता रहा

    -इस बीच हाईवे पर जाकर इधर-उधर निकल रही गाड़ियों से मदद मांगने की कोशिश की, लेकिन कोई नहीं रुका। दस मिनट तक कभी कार, तो कभी हाईवे की तरफ भागता रहा। तब बाइक सवार दो लोग उसे देखकर रुके। वह मदद के लिए आगे आए, तब तक कार में बैठे पापा और मामा जल चुके थे।


    -उसने कई बार हाईवे पर जाकर इधर-उधर निकल रहे वाहनों को हाथ देकर मदद मांगी पर कोई नहीं रुका । दस मिनट तक वह कभी कार की तरफ तो कभी हाईवे की ओर भागता रहा। तब एक बाइक पर सवार दो लोग उसे देखकर रुके। उसने बताया तो वह मदद करने आगे आए पर तब तक कार और उसमें बैठे उसके पापा और मामा पूरी तरह जल चुके थे ।

    -उसने कई बार हाईवे पर जाकर इधर-उधर निकल रहे वाहनों को हाथ देकर मदद मांगी पर कोई नहीं रुका । दस मिनट तक वह कभी कार की तरफ तो कभी हाईवे की ओर भागता रहा। तब एक बाइक पर सवार दो लोग उसे देखकर रुके। उसने बताया तो वह मदद करने आगे आए पर तब तक कार और उसमें बैठे उसके पापा और मामा पूरी तरह जल चुके थे। देव जब अकेला रह गया था, तब किसी ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पुलिस दोनों की डेडबॉडी को जिला हॉस्पिटल पहुंचाया।

    दोनों युवक करते थे ठेकेदारी

    - मरने वाले दोनों युवकों में एक का नाम निर्वेश गौतम है। निर्वेश बादामनगर गांव का रहने वाला है। वहीं, उमेश बिसौली के मदनजुड़ी गांव का रहने वाला है। दोनों रिश्ते में जीजा-साले हैं। ठेके पर बिल्डिंग बनाने का काम करते थे।


  • जिंदा जलने से पापा को नहीं बचा सका 8 साल का ये मासूम
    +5और स्लाइड देखें
    कार में आग लगने से जीजा-साले जिंदा जल गए।
  • जिंदा जलने से पापा को नहीं बचा सका 8 साल का ये मासूम
    +5और स्लाइड देखें
    जीजा-साले दोनों कार में आगे बैठे थे।
  • जिंदा जलने से पापा को नहीं बचा सका 8 साल का ये मासूम
    +5और स्लाइड देखें
    कार में आग लगने के बाद कुछ यूं डेडबॉडी बिखरी थी।
  • जिंदा जलने से पापा को नहीं बचा सका 8 साल का ये मासूम
    +5और स्लाइड देखें
    परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है।
  • जिंदा जलने से पापा को नहीं बचा सका 8 साल का ये मासूम
    +5और स्लाइड देखें
    कार में जिंदा जले लोग रिश्तेदार के यहां से लौट रहे थे।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Lucknow News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Two People Died After Fire In Car At Badaun
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×