Home | Uttar Pradesh | Lucknow | News | unemployed man cheated on the name of job

न्यूज पेपर में पढ़ी खबर, तो पता चला लूट चुका है ये शख्स

युवक को दरोगा बनाने का झांसा देकर उससे 15 लाख रुपये ठग लिए गए। ठगी भी ऐसी कि युवक को भनक तक नहीं लगी थी।

DainikBhaskar.com| Last Modified - Feb 07, 2018, 11:08 AM IST

1 of

हरदोई (यूपी). यहां एक युवक को दारोगा बनवाने का झांसा देकर लाखों की ठगी करने का मामला सामने आया है। दरअसल, कानपुर में गिरफ्तार में हुए फर्जी इंस्पेक्टर ने युवक को दरोगा बनवाने का लालच देकर 15 लाख रुपए ठग लिए थे। वहीं, पीड़ित युवक ने अखबार में जब फर्जी इंस्पेक्टर के गिरफ्तारी की खबर पढ़ी को पूरा मामला समझ गया। फिलहाल, पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरु कर दी है। आगे पढ़िए क्या है पूरा मामला...
 
- पीड़ित युवक गौरव जायसवाल जिले के कासिमपुर थाना क्षेत्र का रहने वाला है। गौरव ने आरोप लगाया है कि उसके चाचा जुगुल किशोर जायसवाल कानपुर में रहते हैं और एक अंग्रेजी शराब की दूकान पर काम करते हैं।
- एक दिन चाचा अपने दोस्त अजय के साथ हरदोई स्थित मेरे आवास पर आए थे। अजय खुद को पुलिस इंस्पेक्टर बताते हुए मुझे दारोगा की नौकरी दिलाने का झांसा देकर 35 हज़ार रुपए लेकर चले गए। इसी तरह धीरे-धीरे करके उन्होंने हमसे 15 लाख रुपए ठग लिए।
- इस दौरान अजय ने मुझे वायरलेस, वर्दी, कैप और बैच स्टार भी दिए थे और जब भी मैं भर्ती के बारे में कुछ पूछता था तो टाल देते थे।
- 3 फरवरी कि सुबह घर पर न्यूज पेपर पढ़ रहा था। इस दौरान देखा की फर्जी इंस्पेक्टर अजय सिंह की खबर पेपर में छपी थी। जिसके बाद मुझे पूरा मामला समझ आ गया। नौकरी पाने के लिए मैंने बहन की शादी के लिए रखे गए जेवर और खेत गिरवीं रख कर कर्ज लिया था।


ऐसे आया था पुलिस की पकड़ में
- खुद को इंस्पेक्टर बता कर ठगी करने वाला अजय सिंह आगरा के हरीपर्वत इलाके का रहने वाला है।
- आगरा से लेकर कानपुर तक ठगी का गिरोह चलाता था। यह पुलिस की वर्दी पहनकर लोगों से ठगी, लूटपाट और टप्पेबाजी करता था।
- 2 फरवरी को कानपुर के बाबूपुरवा पुलिस ने आरोपी अजय सिंह को गिरफ्तार कर लिया था। साथ ही, उसके पास से पुलिस की वर्दी, नेम प्लेट, परिचय पत्र, वाकी-टाकी और एक पिस्टल भी बरामद किया था।


क्या कहती है पुलिस
- एएसपी कुंवर ज्ञानंजय सिंह का कहना है कि पीड़ित के तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया। आरोपी अजय को रिमांड में लेकर पूछताछ की जा रही है।

unemployed man cheated on the name of job
अखबार खबर पढ़कर युवक का पता चला कि उसे ठगा गया है।
unemployed man cheated on the name of job
आरोपी पर्जी इंस्पेक्टर युवक को वायरलेस, वर्दी, कैप और बैच स्टार भी दिए थे।
unemployed man cheated on the name of job
2 फरवरी को कानपुर पुलिस फर्जी इंस्पेक्टर को शुक्लागंज से गिरफ्तार कर लिया था।
prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now