न्यूज़

--Advertisement--

आज पेश होगा योगी सरकार का बजट, फोकस पर होंगे युवा और किसान

योगी सरकार के बजट से लोगों को काफी उम्मीदें हैं।

Dainik Bhaskar

Feb 16, 2018, 12:02 AM IST
वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने योगी सरकार का बजट पेश किया। वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने योगी सरकार का बजट पेश किया।

लखनऊ. 2019 के आम चुनाव से पहले योगी सरकार ने यूपी में अब तक का सबसे बड़ा बजट पेश किया। बजट 4.28 लाख करोड़ रुपए का है, जो पिछली बार से 11.4% ज्यादा है।बजट पेश करने से पहले वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने राम और कृष्ण को नमन किया। अग्रवाल ने बजट स्पीच की शुरुआत में कहा- "साहिल से मुस्कुरा के तमाशा न देखिए, हमने ये खस्ता नाव विरासत में पायी है। बारिश के इंतज़ार में सर्दियां गुजर गई, उठो जमीं को चीर के पानी निकाल लो।" सीएम योगी आदित्य नाथ ने कहा कि ये किसानों और युवाओं का बजट है।

योगी के बजट की खास बातें

1) अल्पसंख्यक

- अल्पसंख्यक कल्याण के लिए 2757 करोड़ रुपये खर्च होंगे। मदरसा अनुदान के मद में सरकार ने रखे 215 करोड़ रुपये। अरबी फारसी मदरसों को मॉडर्न बनाने के लिए 404 करोड़ और अरबी पाठशालाओं के लिए 486 करोड़ के अनुदान की व्यवस्था की गई।

2) शिक्षा

- शिक्षा के क्षेत्र में सर्व शिक्षा मिशन को 18167 करोड़ रुपये का बजट आवंटन किया गया है। माध्यमिक शिक्षा अभियान के लिए 480 करोड़ रुपये दिए गए हैं। दीनदयाल राजकीय मॉडल विद्यालय के लिए 26 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

- 1 से 8 की कक्षाओं में निःशुल्क किताबों के लिए 76 करोड़, यूनिफॉर्म के लिए 40 करोड़, मिड डे मील के लिए 2 हजार 48 करोड़ रुपए, फल वितरण के लिए 167 करोड़। माध्यमिक शिक्षा अभियान 480 करोड़, दीनदयाल उपाध्याय राजकीय मॉडल विद्यालय के लिए 26 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।

3) गांव और किसान

- किसानों को खाद के लिए 100 करोड़ रुपए।

- खाद्य उत्पादन का लक्ष्य 581 लाख 60 हजार मीट्रिक टन और तिलहन उत्पादन का लक्ष्य 11 लाख 28 हजार मीट्रिक टन रखा गया है। बुंदेलखण्ड क्षेत्र में खेत-तालाब योजना के अन्तर्गत आगामी वर्ष में 05 हजार तालाबों के निर्माण का लक्ष्य। सोलर पम्पों द्वारा सिचाई की स्थापना के लिए 131 करोड़ रूपए की व्यवस्था की गई है।

- स्प्रिंकलर सिंचाई योजना के अन्तर्गत किसानों को सब्सिडी हेतु 24 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। शरदकालीन गन्ना बुवाई के लिए 1 लाख 65 हजार हेक्टेयर का लक्ष्य। 80 लाख कुंटल उन्नतिशील गन्ना बीज गन्ना कृषकों को उपलब्ध कराया जाएगा।

-पं दीन दयाल उपाध्याय लघु डेयरी योजना के लिए 75 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है।

4) गरीब

- सौभाग्य योजना से गरीबों को मिलेगा बिजली कनेक्शन। सौभाग्य योजना से 1.5 करोड़ नए बिजली कनेक्शन। सौभाग्य योजना के लिए 1883 करोड़ का बजट है।
- गरीबों को 5 लाख घर देने का लक्ष्य रखा गया है। वन डिस्ट्रिक, वन प्रोडक्ट को 250 करोड़ आवंटित हुए हैं।

5) चिकित्सा और स्वास्थ्य

- प्रधानमंत्री चिकित्सा शिक्षा के तहत सुपर स्पेशियलटी विभाग बनाए जाने के लिए 126 करोड़ दिए जाएंगे। पीजीआई में 200 बेड बढ़ाए जाएंगे। रोबोटिक सर्जरी शुरू की गई। फैजाबाद, बस्ती, बहराइच, फिरोजाबाद और शाहजहांपुर में जिला चिकित्सालय के लिए 500 करोड़ रुपए और गांवों में 100 आयुर्वेदिक अस्पताल खोले जाएंगे।

6) स्वच्छ भारत मिशन

- पंचायती राज स्वच्छ भारत मिशन के तहत 5000 हजार करोड़ रुपए आवंटित किए गए। शमशान के लिए 100 करोड़ की व्यवस्था की गई है।

7) उद्योग

- औद्योगिक विकास के लिए 500 करोड़ रुपए, सूक्ष्म एवं लघु माध्यम उदगम, एक जनपद-एक उद्योग के लिए 250 करोड़। मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के लिए 100 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।

- मुख्यमंत्री खाद्य प्रसंस्करण उद्योग नीति-2017 लागू की गई है। मुख्यमंत्री खाद्य प्रसंस्करण मिशन के लिए 42 करोड़ 49 लाख रुपये का बजट है।

8) संस्कृति

- अयोध्या में दिवाली और मथुरा के बरसाना में होली कार्यक्रम का बजट में जिक्र किया है। अयोध्या की दीपावली और ब्रज की होली के आयोजन के लिए 10 करोड़ रुपए बजट में दिए गए।।

9) सिंचाई

- सरयू नहर परियोजना के लिए 1614 करोड़ रुपए, अर्जुन सहायक परियोजना में 741 करोड़, मध्य गंगा नहर परियोजना के लिए 1701 करोड़ रुपए, नहर सिंचाई परियोजना के लिए 500 करोड़ रुपए का बजट है।

- बाणसागर परियोजना के लिए 127 करोड़ रुपए, बाढ़ एवं जल प्लावन से बचाव के लिए तटबंध निर्माण, कटाव-जल निकासी की योजनाओं के लिए 1004 करोड़ रुपए दिए जाएंगे। लघु सिंचाई के तहत 36 करोड़ की व्यवस्था की गई है।

10) दिव्यांग

- दिव्यांग पेशन योजना के लिए 575 करोड़ रुपए दिए जाएंगे। एकलव्य क्रीड़ा कोष के लिए 25 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है। स्पोर्ट्स कॉलेज एवं स्टेडियम की स्थापना एवं विकास के लिए 74 करोड़ रुपए राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के विजेताओं के लिए 3 करोड़ रुपए।

आगे की स्लाइड में पढ़ें- UP के बजट में कितनी नई योजनाएं, पर्यटन के लिए क्या हुआ?

योगी सरकार के कार्यकाल का दूसरा बजट शुक्रवार को पेश किया गया। योगी सरकार के कार्यकाल का दूसरा बजट शुक्रवार को पेश किया गया।

यूपी में पर्यटन के लिए बजट में क्या?

- रामायण सर्किट, कृष्णा सर्किट, सूफी सर्किट, बौद्ध सर्किट, बुंदेलखंड सर्किट, जैन सर्किट के लिए 70 करोड़ रुपए दिए हैं। ब्रज तीर्थ विकास परिषद की स्थापना एवं सुविधाओं के लिए 100 करोड़ रुपए। प्रदेश की सड़कों के निर्माण कार्य हेतु 11343 करोड़ रुपए, पुलों के निर्माण के लिए 1817 करोड़ रुपए, सड़कों की मरम्मत और नवीनीकरण के लिए 3324 करोड़ रुपए बजट में दिए गए हैं। आरआईडीएफ योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में सड़क बनाने, मरम्मत, चौड़ा करने के लिए 920 करोड़ रुपए बजट में दिए गए हैं।

X
वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने योगी सरकार का बजट पेश किया।वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने योगी सरकार का बजट पेश किया।
योगी सरकार के कार्यकाल का दूसरा बजट शुक्रवार को पेश किया गया।योगी सरकार के कार्यकाल का दूसरा बजट शुक्रवार को पेश किया गया।
Click to listen..