--Advertisement--

आज रिटायर होंगे सुलखान सिंह, नए DGP को लेकर सस्पेंस बरकरार

सुलखान सिंह को शासन ने तीन महीने का सेवा विस्तार दे दिया था।

Danik Bhaskar | Dec 31, 2017, 08:25 AM IST
ओपी सिंह (फाइल) ओपी सिंह (फाइल)

लखनऊ. यूपी के डीजीपी सुलखान सिंह आज (रविवार) को रिटायर हो रहे हैं। उनकी जगह अब बिहार के गया जिले के रहने वाले ओपी सिंह प्रदेश के नए डीजीपी होंगे। मुख्य सचिव यूपी, प्रधान सचिव गृह और मुख्यमंत्री के मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली समिति की सिफारिशों पर राज्य सरकार ने भारत सरकार से ओम प्रकाश सिंह (ओपी सिंह) आईपीएस-आरआर 1983 की सेवाएं उपलब्ध कराने का अनुरोध किया है। ओपी सिंह वर्तमान में डीजी सीआईएसएफ के रूप में तैनात हैं।

-प्रमुख सचिव गृह, अरविंद कुमार ने बताया- "ओपी सिंह के कार्यभार ग्रहण करने तक आनंद कुमार, एडीजी (लॉयन ऑर्डर) कार्यभार संभालेंगे। नए डीजीपी ओपी सिंह 3 जनवरी, 2018 को कार्यभार ग्रहण करेंगे।"

- उन्होंने बताया- " केन्द्रीय कार्यवाही करने में अभी 2 से 3 दिन का वक्त लग सकता है। सिंह का कार्यकाल ढाई साल का होगा।

-सितंबर महीने में सुलखान सिंह को रिटायर्मेंट होना था, लेकिन शासन ने उनको तीन महीने का सेवा विस्तार दे दिया था। सेवा विस्तार भी 31 दिसंबर को खत्म हो रहा है। लेकिन 1983 बैच के आईपीएस ओपी सिंह पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने भरोसा जताया है।

इनके नामों पर भी थी चर्चा

-यूपी के नए DGP के लिए सबसे पहले डीजी फायर प्रवीन सिंह का नाम था। सुलखान सिंह को सेवा विस्तार मिलने से पहले भी प्रवीन सिंह का नाम चर्चा में आया था। इसके साथ ही भावेश कुमार सिंह और रजनीकांत मिश्रा का नाम चर्चा हुई थी।

कौन हैं ओपी सिंह

-ओपी सिंह बिहार के गया जिले के रहने वाले हैं। वो वर्तमान में सीआईएसएफ डीजी के पद पर तैनात हैं। बताया जा रहा है कि ओपी सिंह कभी मुलायम सिंह के करीबी थे, लेकिन अखिलेश सरकार की नाराजगी के कारण वो केन्द्र चले गए थे।

-महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों के साथ सीआईएसएफ को दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन, अति महत्वपूर्ण व्यक्ति (VIP) सुरक्षा, आपदा प्रबंधन तथा हैती में यूएन की सशस्त्र व पुलिस यूनिट (FPU) स्थापना की सुरक्षा करने जैसे कार्य भी हाल ही में को सौंपे गए थे।

8 महीने का था सुलखान सिंह का कार्यकाल

-सुलखान सिंह 21 अप्रैल, 2017 को प्रदेश के डीजीपी बने थे। सुलखान सिंह जावीद अहमद की जगह प्रदेश के नए डीजीपी बनाए गए थे। सितंबर महीने में उनका कार्यकाल खत्म हुआ था जिसके बाद उन्हें तीन महीने का एक्सटेंशन मिला था।

-सुलखान सिंह यूपी के बांदा जिले के रहने वाले हैं।

सरकार ने तीन महीने का दिया था सेवा विस्तार। (फाइल) सरकार ने तीन महीने का दिया था सेवा विस्तार। (फाइल)
फाइल। फाइल।