--Advertisement--

मदरसों में दीवाली और दशहरा की छुट्टी अनिवार्य, योगी सरकार ने जारी किया कैलेंडर

योगी सरकार ने नया कैलेंडर जारी किया है।

Dainik Bhaskar

Jan 03, 2018, 11:00 AM IST
सरकार ने मदरसों की छुट्टियां भी कम कर दी हैं। (फाइल) सरकार ने मदरसों की छुट्टियां भी कम कर दी हैं। (फाइल)

लखनऊ. योगी सरकार ने यूपी के अनुदान प्राप्त मदरसों के लिए नए कैलेंडर जारी किया है। इस कैलेंडर में छुट्टियां कम की गई हैं। वहीं, कुछ नई छुट्टियों को इसमें शामिल भी किया गया है। वार्षिक कैलेंडर में मदरसों की क्लासेज की टाइमिंग भी निर्धारित की गई है। कलेंडर जारी होने के बाद से आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी शुरू हो गया है। सरकार के इस फैसले के बाद मदरसे से जुड़े कई संगठनों ने इस पर नाराजगी जताई है।

-मदरसा संगठनों का आरोप है कि- "योगी सरकार मुसलमानों के साथ भेदभाव कर रही है। वह मुस्लिम त्योहारों के दौरान छुट्टियां कम कर रही है। ये ठीक बात नहीं है। इसे वापस लिया जाये।
-बता दें- "योगी सरकार द्वारा पूर्व में यूपी के मदरसों में गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रगान गाने और उसकी वीडियोग्राफी कराने के फैसले पर भी काफी विवाद हुआ था।


ये है पूरा मामला

-प्रदेश सरकार ने यूपी के सभी 16,461 मदरसों को महानवमी, दशहरा, दीपावली, रक्षाबंधन, बुद्ध पूर्णिमा और महावीर जयंती पर बंद करने का आदेश जारी किया गया है।
-नए आदेश में यहां कक्षाओं का समय भी तय किया गया है। सभी मदरसों में अब एक ही टाइम पर कक्षाएं लगेंगी। सलाना अवकाश में कटौती कर इसे 92 के बजाय 86 दिन किया गया है।
-मदरसा बोर्ड से तैतानिया, फौकानिया, आलिया और उच्च आलिया स्तर के मान्यता प्राप्त सभी मदरसे अब इन त्योहारों पर भी बंद रहेंगे। मान्यता प्राप्त सभी मदरसों को अवकाश के बारे में आदेश जारी किए गए हैं।

कम की गई छुट्टियां

-बोर्ड ने नए आदेश जारी कर मदरसा शिक्षकों और छात्र-छात्राओं की छुट्टियां तो बढ़ा दी हैं लेकिन उनके दिनों मे कटौती कर दी है।
-सर्दियों की छुट्टियां 13 दिन की जगह 10 दिन होंगी। क्रिसमस को अलग करने के साथ ही रमजान और ईद के सालाना अवकाश 46 के बजाय 42 दिन किए गए हैं।
-मदरसा प्रबंधन को मिलने वाला 10 दिन का विशेष अवकाश भी समाप्त कर दिया गया है। यह अवकाश मोहर्रम या किसी अन्य मौके पर लिया जाता है।
-बोर्ड ने साप्ताहिक अवकाश बरकरार रखते हुए जुमा (शुक्रवार) ही रखा है। मदरसों में अब कुल 92 के बजाय 86 दिनों की ही छुट्टियां मिल सकेंगी।
-अब एक अप्रैल से 30 सितंबर तक सुबह 8 बजे से दोपहर एक बजे तक कक्षाएं संचालित करनी होंगी। सुबह 10:30 बजे से 11 बजे तक इंटरवल रहेगा।
-वहीं, एक अक्बटूर से 31 मार्च तक कक्षाएं सुबह 9 बजे से दोपहर 2 बजे तक चलेंगी। इसमें 12 से 12:30 बजे के बीच आधे घंटे का इंटरवल रहेगा।


मदरसे को मिलेगी ये छुट्टियां

-शीतकालीन अवकाश 26 दिसंबर से 5 जनवरी तक रहेगा। गणतंत्र दिवस, होली, उर्स ख्वाजा गरीब नवाज, महावीर जयंती, हजरत अली जन्मदिवस, अंबेडकर जयंती, मेराजुन्नबी, शबे बरात, रमजान व ईद, बुद्ध पूर्णिमा, ईदुल अजहा, रक्षाबंधन, मोहर्रम, गांधी जयंती, महानवमी, दशहरा, चेहल्लुम, दीपावली, ईद मीलादउन्नबी, ग्याहरवीं शरीफ, क्रिसमस पर मदरसे बंद रहेंगे।

मदरसा शिक्षा बोर्ड का पक्ष

-यूपी मदरसा बोर्ड के रजिस्ट्रार राहुल गुप्ता के मुताबिक "पहले मदरसों के विवेक के आधार पर 10 दिन की छुट्टियां थीं, लेकिन अब इन छुट्टियों का ऐलान अन्य स्कूलों के आधार पर किया गया है।' कुछ पुरानी छुट्टियों को कम किया गया है। वहीं, कुछ नई छुट्टियों को इसमें शामिल किया गया है। इसमें किसी भी तरह का भेदभाव नहीं किया गया है।"

मदरसा टीचर्स एसोसिएशन का पक्ष

-इस्लामिक मदरसा मॉडर्नाइजेशन टीचर्स एसोसिएशन के प्रमुख ऐजाज अहमद के मुताबिक- "मदरसे धार्मिक संस्था हैं। अन्य त्योहारों पर छुट्टियां बढ़ाने से हमें कोई ऐतराज नहीं है, लेकिन हमारी 10 छुट्टियों को कम करना पूरी तरह गलत है।"

फाइल । फाइल ।
X
सरकार ने मदरसों की छुट्टियां भी कम कर दी हैं। (फाइल)सरकार ने मदरसों की छुट्टियां भी कम कर दी हैं। (फाइल)
फाइल ।फाइल ।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..