--Advertisement--

ड्यूटी ना जाना एंप्लाई को पड़ा भारी, Boss ने दी ये शर्मनाक सजा

वीडियो में रेलवे के कुछ अधिकारी अपने एक सहयोगी कर्मचारी को कान पकड़कर उठक-बैठक कराते दिख रहे हैं।

Danik Bhaskar | Dec 21, 2017, 11:01 AM IST
कर्मचारी को कान पकड़कर उठक-बैठक कराते अधिकारी। कर्मचारी को कान पकड़कर उठक-बैठक कराते अधिकारी।

सुल्तानपुर (यूपी). यहां के रेलवे अधिकारियों का एक बेहद ही शर्मनाक वीडियो सामने आया है। वीडियो में रेलवे के कुछ अधिकारी अपने एक सहयोगी कर्मचारी को कान पकड़कर उठक-बैठक कराते दिख रहे हैं। वहीं, इस घटना को लेकर कर्मचारी संगठन ने लिखित शिकायत करने के साथ-साथ कार्यवाई की मांग की है। एक गलती की ये सजा...

- मामला सुल्तानपुर रेलवे स्टेशन का है। जहां रेलवे के एक फोर्थ क्लास इम्प्लॉई द्वारा गलती करने पर अधिकारी उसे कान पकड़कर 50 बार उठने-बैठने को कह रहा है।
- पीड़ित कर्मचारी 5-6 बार उठक-बैठक करने के बाद पैर में दर्द की बात कहता है। लेकिन अधिकारी उसे फिर भी नहीं छोड़ते है और उसका पैंट उतरवाकर उठक-बैठक करवाने लगते हैं।
- इस दौरान पूरी घटनाक्रम का किसी ने वीडियो बना कर वायरल कर दिया। बता दें, पीड़ित कर्मचारी ट्रैक मैन के पद पर तैनात है।
- वहीं, पीड़ित ट्रैक मैन के अनुसार, "ये घटना 13 दिसम्बर की है। 2 दिन से काम पर नहीं जा रहा था इसलिए अधिकारियों ने ये सजा दी। ये बात मैंने संगठन अध्यक्ष को बताई। जिसके बाद संगठन अध्यक्ष ने 20 दिसम्बर को इस घटना की उच्चाधिकारियों से शिकायत किया।"

क्या कहते हैं संगठन अध्यक्ष

- संगठन अध्यक्ष बी.एल. मीना का कहना है कि उक्त अभद्रता और शारीरिक दंड देने वालों में एसएसई एसके मिश्रा और ट्राली मैन राजित राम शामिल थे। यह निंदनीय अपराध है और हम सब इसका विरोध करते हैं। अधिकारियों से दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाई करने की मांग की गई है। अगर ऐसा नहीं हुआ तो यूनियन दो दिन बाद प्रदर्शन करेगी।

क्या कहते हैं रेलवे के अधिकारी

- स्टेशन अधीक्षक एल.एल. मीना ने बताया कि मामला संज्ञान में है। ट्रैक मैन बग़ैर बताए ड्यूटी से दो दिनों तक ग़ायब था। इस पर सक्षम अधिकारी ने पूछताछ किया था, बाकी मामले में जांच की जा रही है। रिपोर्ट आने पर कार्यवाई की जाएगी।

पीड़ित कर्मचारी 5-6 बार उठक-बैठक करने के बाद पैर में दर्द की बात कहता है। पीड़ित कर्मचारी 5-6 बार उठक-बैठक करने के बाद पैर में दर्द की बात कहता है।
अधिकारी उसे फिर भी नहीं छोड़ते है और उसका पैंट उतरवाकर उठक-बैठक करवाने लगते हैं। अधिकारी उसे फिर भी नहीं छोड़ते है और उसका पैंट उतरवाकर उठक-बैठक करवाने लगते हैं।