न्यूज़

--Advertisement--

सपा-बसपा की दोस्ती समझने में हुई चूक, योगी बोले-'अति आत्मविश्वास ने हराया'

यूपी लोकसभा उपचुनाव में बीजेपी गोरखपुर और फूलपुर दोनों ही सीट सपा के हाथों हार गई।

Danik Bhaskar

Mar 14, 2018, 06:08 PM IST

लोकल डेस्क. यूपी लोकसभा उपचुनाव में सपा से मिली करारी हार पर सीएम योगी आदित्यनाथ ओवर कॉन्फिडेंस को हार कारण माना है। उन्होंने कहा- हम अति आत्मविश्वास से हारे हैं। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा है कि ऐन वक्त पर सपा-बसपा के बेमेल गठबंधन को समझने में उनसे चूक हुई है। गौरतलब है कि फूलपुर सीट समाजवादी पार्टी के नागेंद्र प्रताप सिंह जीते हैं। वहीं, योगी का गढ़ रही गोरखपुर सीट भी सपा के खाते में गई है। सपा-बसपा ने की राजनीतिक सौदेबाजी...

- योगी बोले- 'चुनाव से पहले सपा और बसपा अलग थी, लेकिन चुनाव के बीच में दोनों पार्टी का साथ आना और उनकी सौदेबाजी को हमे समझने में दिक्कत हुई।'
- 'उपचुनाव एक सबक है, इसकी समीक्षा जरूरी है। प्रदेश के अंदर बेमेल राजनीति और सौदेबाजी का जो दौर शुरू हुआ है, इसे जनता समझेगी।'
- 11 मार्च को दोनों सीटों के लिए वोटिंग हुई थी।
- फूलपुर सीट पर 38% और गोरखपुर में 43% मतदान हुआ।

जीत पर क्या बोले अखिलेश?

- सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा, 'कर्जमाफी नहीं हुई, रोजगार नहीं मिले, जीएसटी ने रोजगार छीन लिए। कानून की धज्जियां उड़ाने का जनता ने जवाब दिया'

- योगी पर निशाना साधते हुए कहा- 'सदन में कहा गया मैं हिंदू हूं, ईद नहीं मनाऊंगा। एनकाउंटर कर दो। मैंने कभी भी अपने आपको बैकवर्ड नहीं समझा।'

- 'हमारे लिए कहा गया सांप-छछूंदर और नापाक गठबंधन किया है। एसपी को औरंगजेब की पार्टी कहा गया। दलिताें, किसानों और बेरोजगारों ने वोट देकर संदेश दिया है। इस जीत से सोशल जस्टिस का सपना पूरा हुआ है।'

- 'बीजेपी समाज में जहर घोलने का काम कर रही है। इस सरकार ने जनता को दुख दिया है। अच्छे दिन तो आए नहीं जनता एक हो गई और बीजेपी के बुरे दिन आ गए।'

क्यों हुए गोरखपुर-फूलपुर सीट पर चुनाव?

गोरखपुर: योगी आदित्यनाथ यहां से लगातार 5 बार सांसद चुने गए। यूपी के मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्होंने 21 सितंबर, 2017 को सीट छोड़ दी।
फूलपुर: केशव प्रसाद मौर्य यहां से सांसद थे। उनके यूपी के डिप्टी सीएम बनने के बाद यह सीट खाली हुई।

Click to listen..