--Advertisement--

2019 की तैयारी में योगी सरकार, दलित-मुस्लिम वोटरों के लिए जारी किया ये ऑर्डर

अंबेडकर की जन्मतिथि-पुण्यतिथि और उनके बारे में संक्षिप्त विवरण भी दर्शाया जाएगा।

Danik Bhaskar | Dec 31, 2017, 10:13 AM IST
फाइल । फाइल ।

लखनऊ. हाल ही में संपन्न हुए यूपी के निकाय चुनावों में दलित-मुस्लिम वोटरों के गठजोड़ को लेकर योगी सरकार चौकन्ना हो गई है। योगी सरकार ने अंबेडकरवादियों को लुभाने के लिए एक नया प्लान बनाया है। जिसमें सभी ऑफिसों व संस्थानों में अब अंबेडकर की मूर्ति लगाने का आदेश यूपी सरकार ने जारी कर दिया है। जिसमें अंबेडकर की जन्मतिथि-पुण्यतिथि और उनके बारे में संक्षिप्त विवरण भी दर्शाया जाएगा।

-भाजपा सरकार के इस ऑर्डर को आगामी लोकसभा चुनावों 2019 से जोड़कर देखा जा रहा है। क्योंकि निकाय चुनावों में दलित-मुस्लिम वोटरों के गठजोड़ ने भाजपा को मुश्किल में डाल दिया है।
-इसके अतिरिक्त जहां कहीं भी उनकी प्रतिमाएं लगी हैं, उनको हटाने पर भी रोक लगाने के साथ उनकी साफ सफाई का पूर्ण ध्यान रखने का ऑर्डर जारी कर दिया गया है।

निकाय चुनावों में घटे वोट प्रतिशत से भाजपा में बढ़ी बेचैनी

-हाल में सम्पन्न हुए निकाय चुनावों में अगर 16 नगर निगमों के मेयर की सीट को छोड़ दें तो सभी जगहों पर भाजपा के वोट प्रतिशत में कमी आई है।
-खासतौर पर नगर पालिका और नगर पंचायत स्तर पर भाजपा को बुरी हार का सामाना करना पड़ा था। इसमें ज्यादातर सीटों पर सपा और निर्दलियों का कब्जा रहा है।
-40 प्रतिशत से ज्यादा कस्बों की सीटों पर भाजपाई प्रत्याशियों की जमानत तक जब्त हो गई थी।
-इसका मुख्य कारण भाजपा के प्रति लोगों का रूझान कम होना और दलित-मुस्लिम गठजोड़ को बेहतर माना जा रहा है।
-इन चुनावों में दलितों-मुस्लिम वोटरों के बेस के कारण ही बसपा के 2 मेयर चुनाव जीतकर आए। जिसे भाजपा के लिए खतरे की घंटी के तौर पर भी देखा जा रहा है।

फाइल । फाइल ।