Hindi News »Uttar Pradesh »Lucknow »News» Yogi Honors The Writers

सीएम योगी ने किया साहित्यकारों का सम्मान, बोले- हिंदी ने भारत को समेटने की कोशिश की

इस कार्यक्रम में सीएम योगी के साथ विधानसभा स्पीकर भी मौजूद थे।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 22, 2018, 04:21 PM IST

  • सीएम योगी ने किया साहित्यकारों का सम्मान, बोले- हिंदी ने भारत को समेटने की कोशिश की
    +1और स्लाइड देखें
    2016 में साहित्यकारों के योगदान के लिए सीएम योगी ने सम्मानित किया।

    लखनऊ.यूपी हिंदी संस्थान की तरफ से सीएम आवास पर साहित्यकारों का सम्मान किया गया। इस कार्यक्रम में सीएम योगी के साथ विधानसभा स्पीकर हृदय नारायण दीक्षित,संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. सदानंद प्रसाद गुप्त और डॉ. आनंद प्रकाश दीक्षित मौजूद रहे। इस कार्यक्रम में हिंदी साहित्य के विद्वानों को साल 2016 में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया। यहां सिमटा में पूरा भारत: योगी

    - सीएम योगी ने कहा, "तमिलनाडु, महाराष्ट्र, बंगाल, कर्नाटक, केरल, राजस्थान, कश्मीर और देश के अन्य क्षेत्रों से भी साहित्यकार यहां पर आए हैं। इस सम्मान समारोह के जरिए पूरे भारत को समेटने की कोशिश हो रही है। वास्तव में यही भूमिका हिंदी की होनी चाहिए।"

    इन लोगों को किया गया सम्मानित

    - सर्वोच्च भारत-भारती सम्मान- डॉ. आनंद प्रकाश दीक्षित
    - हिंदी गौरव सम्मान- डॉ. विद्याबिंदु सिंह
    - लोहिया साहित्य- आनन्द मिश्र
    - अवंतीबाई साहित्य सम्मान- नेत्रपाल सिंह
    - डॉ. नन्द किशोर आचार्य - महात्मा गांधी साहित्य सम्मान
    - डॉ. महेश चन्द्र शर्मा- पं. दीनदयाल उपाध्याय साहित्य सम्मान
    - राजर्षि पुरुषोत्तमदास टंडन सम्मान- चेन्नई की संस्था साहित्यानुशीलन को सम्मान

  • सीएम योगी ने किया साहित्यकारों का सम्मान, बोले- हिंदी ने भारत को समेटने की कोशिश की
    +1और स्लाइड देखें
    ये समारोह यूपी हिंदी संस्था की तरफ से आयोजित किया गया था।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Lucknow News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Yogi Honors The Writers
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×