--Advertisement--

NHM भर्ती मामला: योगी के मंत्री ने मानी गलती, कहा- गड़बड़ी हुई, करप्शन नहीं

NHM भर्ती में हुई गड़बड़ी को लेकर कैबिनेट मंत्री रीता जोशी ने सफाई दी है।

Danik Bhaskar | Dec 28, 2017, 08:37 PM IST

लखनऊ. एएनएम भर्ती में गड़बड़ी की बात सामने आने के बाद कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने सफाई देते हुए अपनी गलती मानी। उन्होंने कहा- "इतने कम मार्क्स वाले कैंडिडेट्स को पास कैसे किया गया। ये मेरी गलती है। अब रिज़ल्ट सुधार कर नया रिज़ल्ट जारी कर दिया गया है। इसके साथ ही ये भी साफ किया कि इसमें कोई करप्शन नहीं हुआ, बस थोड़ी गड़बड़ी हुई है।" पिछली सरकार पर लगाए आरोप...


-रीता बहुगुणा जोशी ने कहा, "जब हम सत्ता में आए, तब हमें हेल्थ सर्विस गड़बड़ हालत में मिली थी। हमने देखा कि पैरामेडिकल स्टॉफ की काफी कमी थी।"
-"संविदा के जरिए भर्ती के लिए हमने जुलाई में विज्ञापन निकाला था। इसके लिए हमने एक इंस्टीट्यूट को टेंडर के दिया था। ये एजेंसी ऑल इण्डिया काम करती है। ये कंपनी ब्लैक लिस्ट नही हैं। इसकी हमने जांच करा ली है।"
-"पिछली सरकार में भर्तियां पहले जिले स्तर में होती थी। सीएमओ इसकी भर्ती करता था, जिसमे कई शिकायतें आती थी। अबकी बार हमने तय किया कि मण्डलवार एक्जाम कराएंगे।"


बुधवार को जारी हुआ संशोधित रिजल्ट
-बता दें कि नेशनल हेल्थ मिशन (एनएचएम) के तहत भर्ती में लापरवाही पर मिशन के एचआर संदीप सक्सेना को सस्पेंड कर बुधवार को संसोधित रिजल्ट जारी कर दिया गया है। नए रिजल्ट में 3814 कैंडिडेट्स का भर्ती प्रक्रिया के लिए सेलेक्शन हुआ है। वहीं कम मार्क्स पाकर सेलेक्ट हुए 258 कैंडि‍डेट्स भर्ती प्रक्रिया से बाहर हो गए है।

3 और 8 नंबर वाले हो गए थे सलेक्ट
- एनएचएम ने 90 में से 3 और 8 मार्क्स पाने वाले कैंडिडेट्स को पास दिखाते हुए सेलेक्ट कर लिया गया। वहीं, 64 नंबर पाने वाले पास कैंडिडेट्स को फेल कर दिया गया था।
-मंगलवार देर शाम रिजल्ट पर रोक लगा दी गई। प्रमुख सचिव स्वास्थ्य प्रशांत त्रिवेदी ने बताया, ''खामियां दूर कर नए सिरे से कट आफ जारी होगी। सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने इस मामले के सभी दोषियों पर कार्रवाई का ऐलान किया था।''


4688 पदों के लिए निकली थी वैकेंसी
- राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) के तहत प्रदेश भर में एएनएम, स्टॉफ नर्स, पीआरओ, लैब टेक्नीशियन और लैब अटेंडेट के करीब 4688 पदों पर संविदा के तहत भर्ती के लिए 22 जुलाई, 2017 को वैकेंसी निकाली गई थी।
- आवेदन की आयु सीमा 18 से 43 वर्ष थी। वहीं, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिए उम्र सीमा 18 से 45 वर्ष निर्धारित की गई थी। जनरल कैंडिडेट्स के लिए आवेदन शुल्क 100 रूपए, जबकि अन्य के लिए 50 रूपए रखा गया था।
- इच्छुक कैंडिडेट्स को ऑनलाइन आवेदन करना था। इसके लिए अंतिम तिथि 14 अगस्त, 2017 निर्धारत की गई थी। भर्ती प्रक्रिया के लिए 5 नवंबर, 2017 को प्रदेश भर में लिखित परीक्षा आयोजित कराई गई थी।

22 दिसंबर को जारी हुआ रिजल्ट
- 22 दिसंबर को रिजल्ट जारी किया गया था। जिसमें व्यापक स्तर पर गड़बड़ियां पाई गई हैं। रिजल्ट में 90 में से 8 और 3 मार्क्स पाने वाले कैंडिडेट्स को सेलेक्ट कर लिया गया। जबकि 90 में से 60 से अधिक नंबर पाने वाले कई कैंडिडेट को फेल दिखाते हुए भर्ती प्रक्रिया से बाहर कर दिया है।
- एएनएम- जीएनएम पदों के लिए 2809 पद आरक्षित है और चयनित उम्मीदवारों की पे-स्केल 10395-12128 रुपए होगी। इन पदों के लिए नर्सिंग में डिप्लोमा कर चुके उम्मीदवार आवेदन कर सकते थे।
- स्टॉफ नर्स- स्टॉफ नर्स पदों के लिए 1386 पद आरक्षित हैं और चयनित उम्मीदवारों की पे-स्केल 18150-20013 रुपए होगी। इन पदों के लिए 3 साल 6 महीने नर्सिंग में बीएससी कर चुके उम्मीदवार आवेदन कर सकते थे।
- पीआरओ-पीआरओ पदों के लिए 18 पद आरक्षित है और चयनित उम्मीदवारों की पे-स्केल 20000 रुपए होगी। इन पदों के लिए पोस्ट ग्रेजुएट या सोशल वर्क, हुमैन डवलपमेंट, पब्लिक हेल्थ में डिप्लोमा कर चुके उम्मीदवार आवेदन कर सकते थे।
- लैब टैक्नीशियन- लैब टैक्नीशियन पदों के लिए 409 पद आरक्षित हैं। चयनित उम्मीदवारों की पे-स्केल 11000-18000 रुपए होगी। इन पदों के लिए लेबोरेट्री टेक्नोलॉजी में डिप्लोमा कर चुके उम्मीदवार आवेदन कर सकते थे।