--Advertisement--

MBA कर जॉब करती थी ये लड़की, बनी UP की सबसे युवा मेयर

नूतन ने DainikBhaskar.com से बात की और अपने लाइफ एक्सपीरियंसेज शेयर किए।

Dainik Bhaskar

Dec 03, 2017, 10:57 AM IST
फिरोजाबाद की रहने वाली नूतन राठौर (31) निकाय चुनाव में यूपी में सबसे यंग मेयर के तौर पर चुनी गई हैं। फिरोजाबाद की रहने वाली नूतन राठौर (31) निकाय चुनाव में यूपी में सबसे यंग मेयर के तौर पर चुनी गई हैं।

लखनऊ. यूपी स्टेट इलेक्शन कमीशन ने 1 दिसंबर को नगर निकाय चुनाव के रिजल्ट जारी कर दिए। यूपी में 16 नगर निगम, 198 नगर पालिका और 438 नगर पंचायत की अधिकांश सीटों पर सबसे ज्यादा बीजेपी कैंडीडेट्स को जीत मिली। फिरोजाबाद की रहने वाली नूतन राठौर (31) निकाय चुनाव में यूपी में सबसे यंग मेयर के तौर पर चुनी गई हैं। नूतन ने DainikBhaskar.com से बात की और अपने लाइफ एक्सपीरियंसेज शेयर किए।

 

पिता से मिली थी पॉलिटिक्स में आने की प्रेरणा
- नूतन राठौर बताती हैं- ''मेरा जन्म फिरोजाबाद शहर में 9 जून 1987 को हुआ था। पिता मंगल सिंह राठौर एडवोकेट और बीजेपी के सीनियर लीडर है। वो भाजपा से जिला महामंत्री, दो बार नगर और दो बार एसोसिएशन के अध्यक्ष रह चुके हैं।''
- ''मुझे बचपन में ही पॉलिटिक्स में आने की प्रेरणा अपने पापा से मिली थी। उनके साथ मैं चुनाव प्रचार में जाया करती थी। तभी से मेरे मन में समाज सेवा के भाव पैदा हुए।''
- ''मैं पॉलिटिक्स को समाज सेवा के तौर पर देखती हूं। मेरा बचपन से ही समाजिक कार्यों से लगाव रहा है।''

 

पढ़ाई में रही शुरू से अव्वल
- ''2002 में मैंने हाईस्कूल की पढ़ाई फिरोजाबाद के एमजी कॉलेज से कंप्लीट किया। मेरे 66 परसेंट मार्क्स आए थे। इंटर की पढ़ाई 2004 में एमजी कॉलेज से कंप्लीट किया। उस टाइम मेरे 62 परसेंट मार्क्स आए थे।''
- ''मैंने बीएससी की पढ़ाई 2007 में सीएल जैन कॉलेज से कंप्लीट किया। उसमें मेरे 60 परसेंट से अधिक मार्क्स थे। 2011 में मैंने एमबीए कम्प्लीट किया। तब मेरे 60 परसेंट से अधिक मार्क्स आए थे।''
- ''मैं शुरू से ही पढ़ाई में अव्वल रही। हाईस्कूल से लेकर एमबीए तक की पढ़ाई में मेरा बेस्ट परफार्मेंस रहा।''

 

बैंक की जॉब छोड़ एनजीओ में किया जॉब
- नूतन बताती हैं- ''मैंने 2011 में एमबीए कंप्लीट करने के बाद मध्य प्रदेश और नई दिल्ली में जॉब किया था। इस बीच मुझे एक प्राइवेट बैंक की जॉब भी मिली थे, लेकिन मैंने वो नौकरी नहीं की।''
- ''मैंने छह महीने तक महिला चेतन मंच नाम के एक एनजीओ में सोशल वर्क किया। उसके बाद नई दिल्ली में काउंसलर के तौर पर सीजी मंत्रा मीडिया कॉलेज में 8 महीने तक काम किया है।''
- ''उसके बाद मैंने दिल्ली में ओकेसेम इंडिया नाम के एक एनजीओ में काम किया है। ये एनजीओ दिल्ली के झुग्गी बस्ती में रहने वाले गरीब बच्चों को एजुकेट करने का काम करती है।''

 

फर्स्ट टाइम टिकट पाकर बन गई मेयर
- ''मेरी उम्र अभी 31 साल है और मैं अभी अन मैरिड हूं। पॉलिटिक्स में मेरा दो साल से ज्यादा का एक्सपीरियंस रहा है। मैं बचपन से ही पॉलिटिक्स से जुड़ी रही है।''
- ''मैं छोटे पर से अपने पापा के साथ चुनाव प्रचार और मीटिंग में पार्टिसिपेट करती थी। बीजेपी ने मुझ पर भरोसा जताया और पहली बार 2017 में मुझे बीजेपी से मेयर पद के लिए टिकट मिला।''
- ''मैं पहली बार में ही बीजेपी के टिकट से फिरोजाबाद शहर से मेयर की सीट पर भारी वोटों से जीत दर्ज की। मैंने एआईएमआईएम की मेयर पद की कैंडिडेट मशरूर फातिमा को 42 हजार 3 सौ 96 वोटों से हराकर फिरोजाबाद से मेयर की कुर्सी पर बीजेपी को जीत दिलाई।''
- ''मशरूर फातिमा को नगर निकाय चुनाव में मेयर पद के लिए कुल 56 हजार 5 सौ 36 वोट मिले और मुझे इस इलेक्शन में कुल 98928 वोट मिले।''

नूतन कहती हैं- मुझे बचपन में ही पॉलिटिक्स में आने की प्रेरणा अपने पापा से मिली थी। नूतन कहती हैं- मुझे बचपन में ही पॉलिटिक्स में आने की प्रेरणा अपने पापा से मिली थी।
मैं छोटे पर से अपने पापा के साथ चुनाव प्रचार और मीटिंग में पार्टिसिपेट करती थी। मैं छोटे पर से अपने पापा के साथ चुनाव प्रचार और मीटिंग में पार्टिसिपेट करती थी।
X
फिरोजाबाद की रहने वाली नूतन राठौर (31) निकाय चुनाव में यूपी में सबसे यंग मेयर के तौर पर चुनी गई हैं।फिरोजाबाद की रहने वाली नूतन राठौर (31) निकाय चुनाव में यूपी में सबसे यंग मेयर के तौर पर चुनी गई हैं।
नूतन कहती हैं- मुझे बचपन में ही पॉलिटिक्स में आने की प्रेरणा अपने पापा से मिली थी।नूतन कहती हैं- मुझे बचपन में ही पॉलिटिक्स में आने की प्रेरणा अपने पापा से मिली थी।
मैं छोटे पर से अपने पापा के साथ चुनाव प्रचार और मीटिंग में पार्टिसिपेट करती थी।मैं छोटे पर से अपने पापा के साथ चुनाव प्रचार और मीटिंग में पार्टिसिपेट करती थी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..