--Advertisement--

ये हैं यूपी के सबसे यंग एंड बुजुर्ग मेयर, इन पर रहा निकाय के विकास का जिम्मा

DainikBhaskar.com आपको यूपी की सबसे यंग मेयर नूतन राठौर और एल्डर मेयर सीताराम जायसवाल (70) के बारे में बता रहा है।

Danik Bhaskar | Dec 01, 2017, 08:40 PM IST
31 साल की बीजेपी मेयर पद की कैंडिडेट नूतन राठौर को कुल 98, 928 वोट मिले। 31 साल की बीजेपी मेयर पद की कैंडिडेट नूतन राठौर को कुल 98, 928 वोट मिले।

लखनऊ. यूपी स्टेट इलेक्शन कमीशन ने शुक्रवार को नगर निकाय चुनाव के रिजल्ट जारी कर दिए। यूपी में 16 नगर निगम, 198 नगर पालिका और 438 नगर पंचायत की अधिकांश सीटों पर सबसे ज्यादा बीजेपी कैंडीडेट्स को जीत मिली। DainikBhaskar.com आपको यूपी की सबसे यंग मेयर नूतन राठौर (31) और सबसे एल्डर मेयर सीताराम जायसवाल (70) के लाइफ से जुड़ी कुछ खास बातें बता रहा है। सबसे कम उम्र की नूतन राठौर बनी मेयर ...

- 31 साल की नूतन राठौर यूपी के फिरोजाबाद शहर की रहने वाली है। इनके पिता मंगल सिंह राठौर बीजेपी के सीनियर लीडर है।
- बैंक की जॉब छोड़कर नूतन पहले एनजीओ का काम करने लगी। इसके बाद पॉलिटिक्स में आई। बीजेपी ने इनपर भरोसा जताया और पार्टी से मेयर पद का टिकट दिया।
- नूतन ने 2017 में मेयर पद के लिए पहली बार चुनाव लड़ा और बड़ी जीत दर्ज की। उसे मेयर पद के लिए कुल 98928 वोट मिले।
- इन्होंने एआईएमआईएम की मेयर पद की कैंडिडेट मशरूर फातिमा को 42 हजार 3 सौ 96 वोटों से हराकर फिरोजाबाद से मेयर की कुर्सी पर कब्जा कर लिया है।
- बता दें, मशरूर फातिमा को नगर निकाय चुनाव में मेयर पद के लिए कुल 56 हजार 5 सौ 36 वोट मिले।

अधिक उम्र के सीताराम जायसवाल को मिली जीत
- 70 साल के सीताराम जायसवाल 75 हजार वोटों के अंतर से गोरखपुर में बीजेपी के टिकट पर मेयर का चुनाव जीता है।
- इन्होंने अपने प्रतिद्वंदी सपा के राहुल गुप्ता को हराकर जीत हासिल की। इसके साथ ही वो यूपी के सबसे ज्यादा उम्र के मेयर बन गए है।
- फाइनल रिजल्ट में उन्‍हें कुल 1,45,992 वोट और सपा के राहुल गुप्‍ता को 70,169 वोट मिले। वहीं, 34 324 वोट पाकर बसपा के हरेन्‍द्र यादव तीसरे स्‍थान पर रहे।
- बता दें, हाईस्कूल पास सीताराम 2007 में गोरखपुर से मेयर पद का चुनाव लड़ चुके हैं, लेकिन उन्हें बीजेपी की अंजू चौधरी ने हरा दिया था।
- गोरखपुर से संयुक्‍त व्‍यापार मंडल के अध्‍यक्ष रहने के साथ लंबे टाइम से संघ से जुड़े रहे हैं। कहा जाता है उन्‍हें टिकट दिलवाने से लेकर मेयर बनवाने तक में संघ की भूमिका रही है।

नूतन राठौर के पिता मंगल सिंह राठौर बीजेपी के सीनियर लीडर है। नूतन राठौर के पिता मंगल सिंह राठौर बीजेपी के सीनियर लीडर है।
बैंक की जॉब छोड़कर नूतन पहले एनजीओ का काम करने लगी। इसके बाद पॉलिटिक्स में आई। बैंक की जॉब छोड़कर नूतन पहले एनजीओ का काम करने लगी। इसके बाद पॉलिटिक्स में आई।
70 साल के सीताराम जायसवाल 75 हजार वोटों के अंतर से गोरखपुर में बीजेपी के टिकट पर मेयर का चुनाव जीता है। 70 साल के सीताराम जायसवाल 75 हजार वोटों के अंतर से गोरखपुर में बीजेपी के टिकट पर मेयर का चुनाव जीता है।