--Advertisement--

राजधानी में प्रदूषण रोकने का किया ये उपाय, कूड़ा जलाने पर होगी FIR

राजधानी लखनऊ में बढ़ते प्रदूषण की रोकथाम के लिए पानी से किया गया छ‍िड़काव।

Danik Bhaskar | Nov 16, 2017, 06:50 PM IST
लखनऊ में प्रदूषण रोकने के लिए पेड़ों पर पानी का छ‍िड़काव किया गया। लखनऊ में प्रदूषण रोकने के लिए पेड़ों पर पानी का छ‍िड़काव किया गया।

लखनऊ. राजधानी लखनऊ में बढ़ते प्रदूषण की रोकथाम के लिए पहल शुरू हो गई है। नगर निगम और अग्नि शमन विभाग की तरफ से पानी के टैंकर और फायर बिग्रेड की गाड़ियों से शहर के कई इलाकों में पानी से पेड़ों पर छ‍िड़काव किया गया। इस काम के लिए 6 से ज्यादा फायर बिग्रेड और 8 से ज्यादा पानी के टैंकर लगाए थे। पटाखा-आतिशबाजी करने पर होगी FIR : DM ने दिए निर्देश ....

- लखनऊ में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुएजिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने शादी और समारोह में आतिशबाजी पर रोक लगाते हुए ऐसा करने वालों पर धारा 144 में FIR का आदेश दिया है।

- इस आदेश का प्रभाव 16 नवंबर से 15 जनवरी तक रहेगा। सीएम की सख्ती के बाद प्रदूषण को कंट्रोल करने में सभी विभाग जुटे है।

CM ने किया था अध‍िकारियों के साथ मीट‍िंग

- बता दें, राजधानी में मंगलवार को प्रदूषण का लेवल 484 माइक्रोग्राम तक पहुंच गया था। जिसके बाद बुधवार को यूपी के सीएम योगी आदित्य नाथ ने विभागीय अधिकारियों के साथ हाई लेवल मीटिंग की थी।

- मीटिंग में सीएम योगी ने कहा था, "आईआईटी कानपुर के एक्सपर्ट के साथ मिलकर इसके कृत्रिम बारिश के लिए प्लानिंग बनाई जाए। इस पर ये भी विचार किया जाए,आर्टिफिशियल बारिश का तरीका कितना बेहतर है।''
- निर्देश के अनुसार , गुरूवार को हजरतगंज, गोमती नगर, महानगर, निरालानगर, आलमबाग़, और चारबाग में पानी से पेड़ों में बौछार कराई गई है।

पॉल्यूशन का स्तर

#शहर AQI (एयर क्वालिटी इंडेक्स)
गाजियाबाद 418 माइक्रोग्राम
लखनऊ 404 माइक्रोग्राम
मुरादाबाद 392 माइक्रोग्राम
रोहतक 380 माइक्रोग्राम
कानपुर 373 माइक्रोग्राम
नोएडा 367 माइक्रोग्राम
दिल्ली 361 माइक्रोग्राम

कूड़ा जलाने पर होगी FIR
- बीते दिनों बढ़ते वायु प्रदूषण के इफेक्ट को कम करने के लिए नगर आयुक्त उदय राज सिंह ने निर्देश देते हुए कहा, ''शहर के किसी भी क्षेत्र, गली, मोहल्ले में कूड़ा न जलाया जाए। अगर आदेश के बाद भी कोई कूड़ा जलाता है, तो पर्यावरण विभाग के नियम के आधार पर उस पर एफआईआर दर्ज की जाएगी।"

डीजल जनरेटर का इस्तेमाल पर रोक
- बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए निर्माण स्थलों पर डीजल जनरेटरों का प्रयोग न करने के लिए भी कहा गया है। मिट्टी खुदाई के बाद पानी का छिड़काव करने के निर्देश दिए गए हैं।
- यहीं नहीं ऐसे स्थानों पर राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण के आदेशों के बाद लखनऊ विकास प्राधिकरण ने सभी ठेकेदारों को इस संबंध में कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

इस काम के लिए 6 से ज्यादा फायर बिग्रेड और 8 से ज्यादा पानी के टैंकर लगाये थे। इस काम के लिए 6 से ज्यादा फायर बिग्रेड और 8 से ज्यादा पानी के टैंकर लगाये थे।
सीएम योगी ने प्रदूषण की रोकथाम के लिए विभागीय अधिकारियों के साथ हाई लेबल मीटिंग की थी। सीएम योगी ने प्रदूषण की रोकथाम के लिए विभागीय अधिकारियों के साथ हाई लेबल मीटिंग की थी।