Hindi News »Uttar Pradesh »Lucknow »News» Bad Condition In Lucknow University

एलयू VC के एक साल का कार्यकाल पूरा, स्टूडेंट्स बोले- अब भी ये 5 जरूरतें नहीं हुई पूरी

एलयू के VC ने सोमवार को अपने कार्यकाल का एक साल पूरा कर लिया।कुछ स्टूडेंट्स में वीसी के काम पर नाराजगी देखने को मिली।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Nov 13, 2017, 10:45 PM IST

  • एलयू VC के एक साल का कार्यकाल पूरा, स्टूडेंट्स बोले- अब भी ये 5 जरूरतें नहीं हुई पूरी
    +1और स्लाइड देखें
    लखनऊ.एलयू के वीसी प्रो. एसपी सिंह ने सोमवार को अपने कार्यकाल का एक साल पूरा कर लिया। इस मौके पर कुछ स्टूडेंट्स में नाराजगी देखने को मिली। स्टूडेंट्स का कहना था, ''कॉलेज में 5 ऐसी जरूरतें हैं, जिनपर वीसी द्वारा विचार किया गया, लेकिन वो अभी तक अधूरी ही पड़ी हैं। वहीं, वीसी ने उन्हें फ्यूचर में पूरा करने को कहा है। हॉस्टलों की नहीं हो पाई रिपेयरिंग...
    - अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद(एबीवीपी) के लीडर अजीत प्रताप सिंह ने कहा, ''हॉस्टलों की खस्ता हालत के खिलाफ स्टूडेंट्स की तरफ से प्रोटेस्ट किया था। जिसके बाद से वीसी ने इसकी रिपेयरिंग कराने का भरोसा दिलाया था। लेकिन एक साल बाद भी कुछ नहीं किया गया। टॉयलेट और रूम की हालत अभी भी खस्ताहाल है। रिपेयरिंग के नाम पर केवल दीवारों की पेंटिंग कराई गई है।
    कैम्पस को WIFI से नहीं कर पाए लैस
    - एलयू के स्टूडेंट्स ने नाम न छापने की शर्त पर बताया, ''प्रो. एसपी सिंह ने वीसी का चाज संभालने के बाद यूनिवर्सिटी को वाई-फाई से लैस करने को कहा था। लेकिन ये काम एक साल बाद भी पूरा नहीं कराया जा सका है।''
    - ''अगर वीसी चाहते तो इस काम को टाइम रहते पूरा कराया जा सकता था, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया।''
    - ''वीसी ने चार्ज संभालने के बाद स्टूडेंट्स से कहा था कि वे सभी कोर्स के टापर्स की डिग्रियां ऑनलाइन करेंगे। मार्कशीट और माईग्रेशन के लिए उन्हें यूनिवर्सिटी नहीं आना होगा। वे घर बैठे ही इसके लिए भी अप्लाई कर सकेंगे।''
    - ''एक साल बाद भी न तो टापर्स की डिग्रियां ऑनलाइन की जा सकी और न ही ऑनलाइन मार्कशीट और माईग्रेशन प्रोवाईड कराने की फसिलिटी की शुरुआत हो पाई।''
    B.A-Bsc और बीकाम को नहीं कर पाए सेमेस्टर मोड़ पर
    - प्रो. एसपी सिंह ने एलयू का वीसी बनने के बाद स्टूडेंट्स से जुड़े प्रॉब्लम की सुनवाई और उनकी हेल्प के लिए स्टूडेंट्स ग्रीवांस सेल का गठन करने की बात कही थी। - लेकिन एक साल बाद भी यूनिवर्सिटी के अंदर ग्रीवांस सेल का गठन नहीं हो पाया है। स्टूडेंट्स को अपनी प्रॉब्लम वीसी तक पहुचाने के लिए काफी चक्कर काटने पड़ते है। उसके बाद भी उनकी बातें अनसुनी कर दी जाती है।
    - एलयू के स्टूडेंट्स ने बताया, ''वीसी ने बीए, बीएससी और बीकाम को सेमेस्टर मोड़ में कन्वर्ट करने की बात कही थी, लेकिन 1 साल बाद भी इसमें कोई बदलाव नहीं कर पाए। ये सभी कोर्स अब भी एनुवल मोड पर ही रन कर रहे है।''
    एलयू प्रशासन का पक्ष ?
    - एलयू वीसी प्रो. एसपी सिंह के मुताबिक, ''यूनिवर्सिटी को वाईफाई से लैस करने में करीब 10 करोड़ रूपए का खर्च आएगा। लेकिन यूनिवर्सिटी के पास अभी केवल 1 करोड़ का बजट है। टापर्स की डिग्रियां ऑनलाइन करने की दिशा में काम किया जा रहा है। जल्द ही इसे कम्प्लीट कर लिया जाएगा। अधिकांश हॉस्टलों की रिपेयरिंग काम पूरा कराया जा चुका है। बाकी जो बचे है उनमें भी काम जारी है।''
    - ''बीए, बीएससी और बीकाम कोर्स अभी एनुवल मोड पर है। उन्हें सेमेस्टर मोड़ में करना है। इस दिशा में भी तेजी से काम चल रहा है। ग्रीवांस सेल के लिए पोर्टल लांच किया जा रहा है। यूनिवर्सिटी में कार्यों के आंकलन के लिए एक साल का टाइम कम है। इसे पांच साल होना चाहिए।''
  • एलयू VC के एक साल का कार्यकाल पूरा, स्टूडेंट्स बोले- अब भी ये 5 जरूरतें नहीं हुई पूरी
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×