Hindi News »Uttar Pradesh »Lucknow »News» Eye Witnesses Says About NTPC Boiler Blast Unchahar Plant

NTPC हादसा: चश्मदीदों ने कहा- घटना के समय 200 लोग थे मौजूद; डेड-इंजर्ड हैं 92, उठ रहे ये सवाल

सीएम योगी के आदेश के बावजूद अभी तक इस मामले में एफआईआर नहीं दर्ज की गई है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Nov 05, 2017, 05:14 PM IST

  • NTPC हादसा: चश्मदीदों ने कहा- घटना के समय 200 लोग थे मौजूद; डेड-इंजर्ड हैं 92, उठ रहे ये सवाल
    +5और स्लाइड देखें
    गुमशुदा लोगों के ल‍िए लगाया गया है कैंप।
    लखनऊ.एनटीपीसी में रविवार को हादसे को हुए 4 दिन बीत गए हैं, लेकिन सीएम योगी के आदेश के बावजूद अभी तक मामले में एफआईआर नहीं दर्ज की गई है। वहीं, अब हादसे में मृतक और घायलों की संख्या पर भी एनटीपीसी में काम कर रहे वर्कर्स एंट्री रजिस्टर पर सवाल खड़े कर रहे हैं। उनका कहना है कि यह संख्या सामने आनी चाहिए की हादसे के वक्त कितने वर्कर्स वहां काम कर रहे थे।स्थानीय लोगों ने गुमशुदा के लिए लगाया कैम्प...
    -रायबरेली के ऊंचाहार में एनटीपीसी में ठेकेदारी करने वाले मयंक का फैक्ट्री के सामने ही गेस्ट हाउस है। यहीं पर उन्होंने कांग्रेस के पूर्व विधायक कुंवर अजय पाल सिंह के साथ मिलकर गुमशुदा लोगों के लिए कैम्प लगाया हुआ है।
    -मयंक ने कहा, ''मेरी जेसीबी एनटीपीसी में अलग-अलग यूनिट में कॉन्ट्रैक्ट पर चलती है। हादसे के वक्त कम से कम 200 से ज्यादा लोग मौके पर मौजूद रहे होंगे। लेकिन घायलों और मृतकों की संख्या काफी कम बतायी जा रही है। चूंकि यहां काम करने वाले काफी लोग बाहर के हैं। ऐसे में उनके परिजन उन्हें ढूंढते हुए यहां आ रहे हैं। उनकी मदद के लिए यह कैम्प लगाए गए हैं।''
    -''हमने दो दिनों में 4 से 5 लोगों की मदद की है जिनके परिजनों की डेडबॉडी उन्हें नहीं मिली थी। इसमें ऐसे लोग भी थे जिनके लोग घायल थे, लेकिन उन्हें पता नहीं था कि वह कहां पर एडमिट हैं।
    बिना रजिस्टर में एंट्री कराए नहीं जा सकते बायलर में
    -एनटीपीसी में यूनिट नंबर 6 से जुड़े एक सुपरवाइजर ने नाम न छापने की शर्त पर बताया, अमूमन बायलर में एक समय में 200 से ज्यादा लोग ही अलग-अलग फ्लोर पर कम करते हैं।
    -सबकी एंट्री रजिस्टर में होती है। सबके ड्यूटी कार्ड बने होते हैं। यूनिट नंबर 6 में बायलर पर जाने वालों के पिंक कलर के कार्ड थे।
    -हालांकि, जब उनसे पूछा गया कि मृतकों और घायलों की संख्या काम करने वालों की संख्या से कम क्यों है, तो उन्होंने कहा- सबका रिकॉर्ड एनटीपीसी के पास है वही बता सकता है।
    क्या कहते हैं चश्मदीद
    -हादसे के वक्त घायलों के साथ एनटीपीसी में काम करने वाले चश्मदीद दिलीप और सुनील भी सिविल हॉस्पिटल पहुंचे थे। उनका कहना था कि यह सामने आना चाहिए कि आखिर कितने लोग उस वक्त काम कर रहे थे।
    -वहीं, एनटीपीसी में वर्कर्स को खाना खिलाने का काम करने वाला अजय पाल सिंह ने बताया, ज्यादातर मजदूरों को 20 दिन की छुट्टी पर भेज दिया गया है। यूनिट नंबर 6 का काम भी बंद कर दिया गया है।
    59 घायल और 33 लोगों की हुई मौत
    -सरकरी स्तर पर और एनटीपीसी के आंकड़ों के अनुसार अभी तक 59 लोग घायल हैं, जबकि 33 लोगों की मौत हो चुकी है। घायल रायबरेली और लखनऊ दोनों जगह पर एडमिट हैं।
    क्या कहते हैं एनटीपीसी के अध‍िकारी
    -एनटीपीसी के पीआरओ एडिशनल जीएम रूचि रत्ना ने बताया, ''हमारे यहां 6 यूनिट हैं, ऐसे में प्लांट वाइज इंट्री नहीं होती है। केवल एनटीपीसी में इंट्री होती है जिसका रजिस्टर भी मेंटेन किया जाता है।''
    -उन्होंने बताया, ''यहां वर्कर्स रोज का काम होता है, जो आपको बयान मिले हैं कि 200 से ज्यादा लोग काम कर रहे थे तो ये जरूरी नहीं है कि वो एक ही यूनिट में उसी एरिया में काम कर रहे थे। हमें जो लिस्ट मिली है वह 87 लोगों की मिली है जिसमें एजीएम लेवल के तीन अधिकारी भी शामिल हैं।''
  • NTPC हादसा: चश्मदीदों ने कहा- घटना के समय 200 लोग थे मौजूद; डेड-इंजर्ड हैं 92, उठ रहे ये सवाल
    +5और स्लाइड देखें
    गुमशुदा लोगों के ल‍िए लगाया गया है कैंप।
  • NTPC हादसा: चश्मदीदों ने कहा- घटना के समय 200 लोग थे मौजूद; डेड-इंजर्ड हैं 92, उठ रहे ये सवाल
    +5और स्लाइड देखें
  • NTPC हादसा: चश्मदीदों ने कहा- घटना के समय 200 लोग थे मौजूद; डेड-इंजर्ड हैं 92, उठ रहे ये सवाल
    +5और स्लाइड देखें
  • NTPC हादसा: चश्मदीदों ने कहा- घटना के समय 200 लोग थे मौजूद; डेड-इंजर्ड हैं 92, उठ रहे ये सवाल
    +5और स्लाइड देखें
  • NTPC हादसा: चश्मदीदों ने कहा- घटना के समय 200 लोग थे मौजूद; डेड-इंजर्ड हैं 92, उठ रहे ये सवाल
    +5और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×