Hindi News »Uttar Pradesh »Lucknow »News» Ragging In La Martiniere College Update

रैगिंग के 47 दिन बाद भी नहीं मिली TC, थाने-स्कूल के चक्कर काट रहे पेरेंट्स

रैगिंग के बाद लामार्ट्स कॉलेज में पेरेंट्स अपने बेटे की टीसी के लिए 47 दिनों से स्कूल और थाने के चक्कर काट रहे हैं।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Nov 06, 2017, 07:33 PM IST

  • रैगिंग के 47 दिन बाद भी नहीं मिली TC, थाने-स्कूल के चक्कर काट रहे पेरेंट्स
    +1और स्लाइड देखें
    लखनऊ.रैगिंग के बाद लामार्ट्स कॉलेज में पेरेंट्स अपने बेटे की टीसी के लिए 47 दिनों से स्कूल और थाने के चक्कर काट रहे हैं। अभी तक उन्हें टीसी नहीं मिल पाई है। पैरेंट्स ने मदद के लिए शिक्षा विभाग और एसएसपी दीपक कुमार से मदद की गुहार लगाई है। उनका आरोप है, ''गौतम पल्ली थाने की पुलिस पेरेंट्स की हेल्प नहीं कर रही है। बल्कि स्कूल के दबाव में काम कर रही है। पेरेंट्स की बच्चे की टीसी दिलाए जाने की मांग की है। आगे पढ़िए पूरा मामला...
    - 21 सिंतबर को लामार्ट्स कॉलेज में 8वीं क्लास के छात्र के साथ रैगिंग का मामला सामने आया था। उसके पेरेंट्स ने अज्ञात सीनियर्स छात्रों के खिलाफ गौतम पल्ली थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी।
    - वहीं कम्प्लेन से नाराज होकर स्कूल प्रशासन ने बच्चे की टीसी दिए बगैर उसके स्कूल में प्रवेश पर रोक लगा दिया था।
    - 25 सिंतबर को छात्र को थाने में बुलाकर पुलिस ने बयान दर्ज किया था। मामले की जांच कर रहे अधिकारी (आईओ) विनय शर्मा बच्चे को लेकर अगले दिन लामार्ट्स कॉलेज पहुंचे थे।

    1 घंटे तक कॉलेज के गेट खड़ी रही पुलिस
    - पैरेंट्स का आरोप है, ''लामार्ट्स कॉलेज प्रशासन ने उनके बच्चे और मामले की जांच कर रहे अधिकारी(आईओ) दोनों को 1 घंटे तक गेट पर रोके रखा। साथ ही अंदर घुसने नहीं दिया गया।''
    - इसके बाद जांच अधिकारी को बिना बयान लिए ही वापस लौटना पड़ा।
    -इस घटना के लगभग 47 दिन पूरे हो चुके है लेकिन स्कूल ने अभी तक बच्चे की टीसी नहीं दी है। साथ ही उसके स्कूल में प्रवेश पर भी रोक लगा रखी है।

    कॉलेज प्रशासन और पुलिस की है मिलीभगत
    - पैरेंट्स का आरोप है, ''पुलिस अब तक दो बार हमें थाने में बुलाकर बयान दर्ज कर चुकी है, लेकिन कॉलेज की तरफ से अभी तक किसी को भी थाने में न तो पूछताछ के लिए बुलाया गया है और न ही उनके बयान दर्ज हुए हैं।''
    - ''लामर्ट्स कॉलेज के साथ पुलिस की मिलीभगत है। अधिकारी कालेज के प्रिंसिपल और दोषी छात्रों को बचाने में जुटी है।''
    -अभी तक बच्चे को न तो टीसी दिया गया है और न ही एग्जाम में ही बैठने दिया जा रहा है। बच्चे का सेशन भी खराब हो रहा है। लेकिन किसी को भी इसकी परवाह नहीं है।
    क्या कहना है पुलिस का ?
    - एसएसपी दीपक कुमार के मुताबिक, ''लामार्ट्स कालेज के मामले में अभी जांच चल रही है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही इस मामले में कोई टिप्पणी करना उचित होगा।
    स्कूल का पक्ष
    -लामार्ट्स कालेज से इस मामले में बात करने के लिए फोन से सम्पर्क किया गया लेकिन स्कूल की तरफ से कोई प्रतिक्रया नहीं मिली।
  • रैगिंग के 47 दिन बाद भी नहीं मिली TC, थाने-स्कूल के चक्कर काट रहे पेरेंट्स
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×