--Advertisement--

9 नवंबर के बाद शुरू कर देंगे राम मंदिर का निर्माण, जानें किसने दिया ये बयान

श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण न्यास के प्रदेश अध्यक्ष रंजीत बहादुर श्रीवास्तव ने सोमवार को बाराबंकी में राम मंदिर निर्माण मुद्दे पर प्रेस कॉन्फ्रेंस किया।

Dainik Bhaskar

May 09, 2016, 05:30 PM IST
प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया को जानकारी देते रंजीत बहादुर श्रीवास्तव। प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया को जानकारी देते रंजीत बहादुर श्रीवास्तव।
बाराबंकी. श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण न्यास के प्रदेश अध्यक्ष रंजीत बहादुर श्रीवास्तव ने सोमवार को बाराबंकी में राम मंदिर निर्माण मुद्दे पर प्रेस कॉन्फ्रेंस किया। उन्‍होंने कहा कि अयोध्या में भगवान श्रीराम मंदिर निर्माण का समय नवंबर माह तक निर्धारित किया गया है। कोर्ट, केंद्र और प्रदेश की सरकारें जो आवश्‍यक कदम उठाना है उठा लें। 9 नवंबर के बाद न्यास के कार्यकर्ता मंदिर निर्माण का कार्य शुरू कर देंगे। आगे पढ़िए और क्‍या कहा रंजीत बहादुर सिंह ने
-रंजीत बहादुर श्रीवास्तव ने कहा कि अगर सुप्रीम कोर्ट का निर्णय राम मंदिर के पक्ष में आता है तो ठीक है।
-अगर एक विदेशी लुटेरे और बाबर के पक्ष में कोर्ट फैसला देता है तो वह उसका घोर विरोध करेंगे।
-उन्‍होंने कहा कि बाबरी मस्जिद का निर्माण कभी नहीं होने देंगे।
नवंबर में करेंगे अयोध्‍या कूच
-उन्‍होंने कहा कि प्रभु श्रीराम की इच्छा और आदेश पर वह अपने न्यास कार्यकर्ताओं के साथ मंदिर निर्माण करने के लिए नवंबर में अयोध्या कूच करेंगे।
-कोर्ट और सरकार के पास सिर्फ 6 महीने का समय है।
-इस दौरान अगर मंदिर निर्माण के पक्ष में जो भी फैसला लेना है ले लें।
-क्‍योंकि तय समय के बाद मंदिर निर्माण का कार्य शुरू कर दिया जाएगा।
तैयार हो गई है फौज
-रंजीत बहादुर ने कहा कि जिस तरह एक वर्ग ने शाहबानो केस में कोर्ट की अवमानना कर चुके हैं वो हमें कोर्ट की दुहाई न दें।
-हम हर हाल में प्रभु श्रीराम के भव्य मंदिर का निर्माण करेंगे।
-इसके लिए हमने 50 हजार से भी ज्यादा बलिदानी न्यास कार्यकर्ताओं की फौज बना ली है।
अब मामला भगवान श्रीराम की अदालत में है
-उन्‍होंने कहा कि अब यह मामला सुप्रीम कोर्ट में नहीं, बल्कि भगवान श्रीराम की अदालत में है।
-ऐसे में प्रभु राम के आदेश पर वह मंदिर निर्माण का काम शरू करने जा रहे हैं।
-अब जिसको भी अपील करनी हो, वह भगवान राम के कोर्ट में आकर करे।
-उन्‍होंने रामायण के प्रसंग का उल्लेख करते हुए कहा कि भगवान राम ने रामकाज के लिए एक समय वानरों को श्रेय दिया था।
-ठीक उसी प्रकार श्रीराम ने आदेश देकर मंदिर निर्माण कराने का श्रेय उन्हें देकर धन्य कर दिया है, अब यह काम जरूर पूरा होगा।
X
प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया को जानकारी देते रंजीत बहादुर श्रीवास्तव।प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया को जानकारी देते रंजीत बहादुर श्रीवास्तव।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..