दरवेश यादव हत्याकांड / यूपी के 22 जिलों में वकीलों की हड़ताल, सुरक्षा के लिए कदम उठाने की मांग

Dainik Bhaskar

Jun 13, 2019, 11:46 AM IST



Advocates Will Be Protest In 22 District In UP Bar Council President Darvesh Yadav Murder Case
X
Advocates Will Be Protest In 22 District In UP Bar Council President Darvesh Yadav Murder Case

  •  बुधवार को आगरा कचहरी परिसर में गोली मारकर की गई थी हत्या 
  • साथी वकील ने ही चैंबर में मारी थी गोली

लखनऊ/मेरठ. बार काउंसिल ऑफ यूपी की प्रथम महिला चेयरमैन दरवेश सिंह यादव की बुधवार को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस घटना पर वकीलों ने तीखा आक्रोश जताया है। इस घटना के विरोध में उप्र के 22 जिलों में आज वकील हड़ताल पर हैं। उनकी मांग है कि वकीलों की सुरक्षा के लिए प्रदेश सरकार सख्त कदम उठाए।

 

पश्चिमी उत्तर प्रदेश हाईकोर्ट बेंच स्थापना केंद्रीय संघर्ष समिति के चेयरमैन और मेरठ बार एसोसिएशन के अध्यक्ष मांगेराम ने समिति से जुड़े मेरठ सहित 22 जिलों के वकीलों से गुरुवार को न्यायिक कार्य न करने की अपील की है।

 

केंद्रीय संघर्ष समिति के चेयरमैन मांगेराम ने बताया कि यह एक दु:खद और गंभीर घटना है। जिसको लेकर मेरठ बार एसोसिएशन रोष व्यक्त करती है। 

 

उधर, बार काउंसिल का चुनाव लड़ने वाले अधिवक्ता हरिशंकर सिंह ने कहा कि उनके साथ चुनी गईं चेयरमैन दरवेश सिंह की हत्या बहुत गंभीर अपराध है। प्रदेश में वकील सुरक्षित नहीं हैं जहां पर उनके चेयरमैन की हत्या कचहरी परिसर में ही कर दी गई। इसके लिए वह मांग करते हैं कि वकीलों की सुरक्षा के लिए प्रदेश सरकार सख्त कदम उठाए।

 

उन्होंने बताया कि गुरुवार को दरवेश सिंह की अंत्येष्टि होने की सूचना है, जिसको लेकर प्रदेश के वकील विरोध स्वरूप न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे।

 

दरवेश यादव की कल की गई थी हत्या 

बुधवार को दीवानी परिसर में दरवेश के स्वागत का कार्यक्रम था। कार्यक्रम के बाद वे वरिष्ठ अधिवक्ता अरविंद कुमार मिश्रा के चैंबर में बैठी हुई थीं। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि एडवोकेट मनीष बाबू शर्मा उसी समय दरवेश के पास पहुंचा और उन पर लाइसेंसी पिस्टल से एक के बाद एक तीन राउंड फायर कर दिए। इसके बाद शर्मा ने खुद को भी गोली मार ली। दरवेश को गंभीर हालत में पुष्पांजलि हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

COMMENT