राजनिति / प्रेस कांफ्रेंस से पहले सियासी सरगर्मी बढ़ी, मायावती को रिसीव करने उनके अवास जा सकते हैं अखिलेश



पूर्व मुख्यमंत्री मायावती एवं अखिलेश यादव पूर्व मुख्यमंत्री मायावती एवं अखिलेश यादव
X
पूर्व मुख्यमंत्री मायावती एवं अखिलेश यादवपूर्व मुख्यमंत्री मायावती एवं अखिलेश यादव

  • बसपा कार्यालय और सपा कार्यालय के बाहर शुरु हुआ कार्यकर्ताओं का जमावड़ा
  • होटल ताज के बाहर बड़ी संख्या में पहुंच रहे हैं कार्यकर्ता 

Dainik Bhaskar

Jan 12, 2019, 11:28 AM IST

लखनऊ. उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ में पूर्व मुख्यमंत्री मायावती और अखिलेश यादव की संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में गठबंधन पर मुहर लग गई है। आगामी लोकसभा चुनाव के लिए मायावती ने इसका ऐलान किया। घोषणा के बाद ताज होटल के बाहर मौजूद कार्यकर्ता खुशी से झूम उठे। कार्यकर्ताओं की तरफ से बुआ-भतीजा जिंदाबाद के नारे भी लगाए गए।

ताज होटल के बाहर लगी कार्यकर्ताओं की भीड़

 

लखनऊ में सपा-बसपा की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस किए जाने से अखिलेश यादव और मायावती के पोस्टर लगाए गए हैं, जो चर्चा के विषय बने हुए हैं। पोस्टर पर लिखा है, “हमारा काम बोलता है और बीजेपी का झूठ बोलता है।” यह पोस्टर समाजवादी पार्टी के छात्र नेता की ओर से लगवाया गया है। कार्यकर्ताओं का कहना है कि दोनों नेताओं के मिलने से नए युग की शुरुआत हो रही है। सबकी सहमति और सबके सहयोग से हम भाजपा को उखाड़ फेंकेंगे।

लखनऊ में दिखा जय भीम, जय समाजवाद लिखा पोस्टर

सपा और बसपा कार्यालय से लेकर ताज होटल तक पूरा लोहिया पथ अखिलेश और मायावती के संयुक्त पोस्टरों से पटा हुआ है। दोनों दलों के गठबंधन को लेकर अलग-अलग तरह के पोस्टर लगाए गए हैं।

 

सपा बसपा के गठबंधन की बधाई देते कार्यकर्ता

 

COMMENT