--Advertisement--

अखिलेश के खाली किए गए सरकारी बंगले में तोड़फोड़ से 10 लाख रुपए का नुकसान, हो सकती है रिकवरी

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अखिलेश यादव ने 8 जून को बंगला खाली किया था

Danik Bhaskar | Aug 02, 2018, 12:54 PM IST
आखिलेश ने अपनी सफाई में कहा था आखिलेश ने अपनी सफाई में कहा था

- सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर खाली किया था अखिलेश ने बंगला

- अखिलेश ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके दी थी सफाई

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के खाली किए गए सरकारी बंगले में तोड़फोड़ की रिपोर्ट पीडब्लूडी ने राज्य संपत्ति विभाग को सौंप दी। इसमें तोड़फोड़ के कारण 10 लाख रुपए का नुकसान होने की बात कही गई। रिपोर्ट के मुताबिक, बंगले की छत, किचन, बाथरूम, लॉन, जिम, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, बैडमिंटन कोर्ट और साइकिल ट्रैक को नुकसान पहुंचाया गया। टाइल्स, सेनेट्री और बिजली की लाइन भी उखाड़ी गई।

राज्य संपत्ति अधिकारी योगेश कुमार शुक्ला ने रिपोर्ट राज्य संपत्ति विभाग को सौंपने की पुष्टि की। इसकी एक प्रति अदालत में भी दाखिल की जा सकती है। इसके बाद नुकसान के बदले जुर्माना लगाया जा सकता है। हालांकि, अभी यह साफ नहीं है कि रिपोर्ट में इस नुकसान के लिए किसी को जिम्मेदार माना गया या नहीं।

266 पेज की रिपोर्ट: पीडब्लूडी विभाग ने 266 पेज की रिपोर्ट के साथ एक सीडी भी सौंपी है। इसमें बंगले की मौजूदा स्थिति की वीडियोग्राफी है। 8 जून को राज्य संपत्ति विभाग को बंगला सौंपा गया था। बाद में विभाग ने बंगले की स्थिति का आकलन कराया था तो उसमें तोड़फोड़ और टोटियां उखाड़ने की बात सामने आई थी। बाद में अखिलेश ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके इस पर सफाई दी थी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों से बंगले खाली कराए गए थे।