सुल्तानपुर / आनंदीबेन पटेल ने कहा- अब भी प्राइमरी शिक्षकों पर सबसे अधिक भरोसा



महिला शिक्षक को सम्मानित करतीं आनंदीबेन पटेल। महिला शिक्षक को सम्मानित करतीं आनंदीबेन पटेल।
X
महिला शिक्षक को सम्मानित करतीं आनंदीबेन पटेल।महिला शिक्षक को सम्मानित करतीं आनंदीबेन पटेल।

  • एक दिवसीय दौरे पर बुधवार को सुल्तानपुर पहुंची थीं
  • कहा- एक समय लोग खत भी शिक्षकों से ही पढ़वाते थे

Dainik Bhaskar

Nov 13, 2019, 03:57 PM IST

सुल्तानपुर. उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने बुधवार को कहा कि अब भी सबसे अधिक भरोसा प्राथमिक विद्यालय के शिक्षकों पर है। पहले जमाने में लोग आने वाले खत उन्हीं से पढ़ाते थे। 

 

आनंदीबेन पटेल प्राथमिक विद्यालयों के उत्थान और नौनिहालों के भविष्य निर्माण को लेकर आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने एक दिवसीय दौरे पर पहुंची थी। 

 

व्यवहारिक ज्ञान पढ़ाई से संभव नहीं
आनंदीबेन ने कहा कि पहले लोग दादा दादी के नाम पर लोग कालेज चला देते थे और गुप्त दान करते थे। उन्होंने कहा बच्चों को टूर कराएं , गांव और आसपास की बेहतरीन चीज दिखाइए। इसके लिए निजी स्कूलों के संचालक अपनी बसें दे सकते हैं। सप्ताह में एक दिन सरकारी स्कूलों के बच्चों को टूर के लिए। साथ साथ नाश्ता भी दें यही सहयोग है। टूर से बच्चों को मिलता व्यावहारिक ज्ञान, जो पढ़ाई से संभव नहीं। 

 

परस्पर सहयोगी से टूटती है जाति की दीवार
राज्यपाल ने कहा कि बच्चों के परस्पर संपर्क से जाति की दीवार टूटती है। उन्होंने कहा स्कूलों में जन सहयोग का कार्य देश में जगह जगह शुरू हुआ है, ये सार्थक संकेत है। जब तक पूरा गांव नहीं जुड़ेगा ग्रामीण जिम्मेदारी नहीं लेंगे तब तक काम नहीं बनेगा। उन्होंने ये भी कहा कि जब तक स्कूलों में सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं होंगे नौनिहालों की प्रतिस्पर्धा नहीं निखरेगी। सांस्कृतिक कार्यक्रमों के जरिए बच्चों में विशिष्टता की पहचान होती है। 

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना