--Advertisement--

एक्सिस बैंक लूट मामला: फोरेंसिक लैब भेजे गए घटना के सीसीटीवी फुटेज, वारदात के दिन से दो छात्र हॉस्टल से लापता

मुखिबरों की मदद से सबूत जुटा रही है पुलिस

Danik Bhaskar | Aug 02, 2018, 05:17 PM IST

लखनऊ. राजभवन के पास हुई लूट का अभी तक कोई खुलासा नहीं हो सका है। कैश वैन के गार्ड की हत्या व लूटकाण्ड में पुलिस की तीन टीमों ने हजरतगंज के नरही इलाके में जांच कर रही हैं। मुखबिरों की मदद से पुलिस पीजी व किराए पर रहने वाले छात्रों व प्राइवेट कम्पनी में काम करने वाले युवकों का सिजरा खंगालने में जुटी है। पुलिस ने बुधवार को जू के रास्ते नरही में प्रवेश करने वाली रोड पर सीसीटीवी कैमरों के बारे में पड़ताल की।

एसएसपी ने की पूछताछ: एसएसपी ने वारदात के अहम गवाह निजी कंस्ट्रक्शन कम्पनी के अधिकारी प्रभात पाण्डेय से पूछताछ की है। उनसे जानकारी की गई तो वे उस वक्त कहां से आ रहे थे? कहां जा रहे थे? क्या देखा बदमाश कैसा था। उसके कपड़े, बाइक, हुलिया व अन्य। नरही में जांच के समय एक बाइक उसी तरह मिली जैसा प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया गया था। हॉस्टल से दो युवक उसी रात से फरार हैं जिनके बारे में जानकारी की जा रही हैं। फिलहाल एसएसपी के निर्देश पर गंज पुलिस की तीन टीमें नरही में संदिग्धों का की तलाश कर रही हैं। बुधवार को पुलिस ने नरही से तीन संदिग्धों को हिरासत में लिया है। बुधवार को पुलिस ने 20 संदिग्धों से पूछताछ की। घटनास्थल से मिली फुटेज को फोरेंसिक लैब दिल्ली व चण्डीगढ़ भेजा गया है। एएसपी पूर्वी सव्रेश कुमार मिश्रा ने बताया कि बुधवार को करीब 25 सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली गयी। एसएसपी ने हजरतगंज में 30 सिपाही तैनात किये हैं, जो घटना पर काम करेंगे।

हॉस्टल छोड़कर गये दो युवक: नरही में पड़ताल के दौरान पुलिस को पता चला कि हॉस्टल में रहने वाले दो युवक उसी दिन कमरा छोड़कर चले गये हैं। पुलिस ने उन युवकों का नाम-पता हासिल कर लिया है।

क्या है मामला: राजभवन के पास सोमवार को दिनदहाड़े बाइक सवार बदमाशों ने ड्राइवर को गोली मारकर कैश वैन से 6.44 लाख रूपए लूट लिये थे।