--Advertisement--

पूर्व पीएम की अस्थि कलश यात्रा पर आजम खान ने कसा तंज ; मरने के बाद अटल जी जितना सम्मान मिले तो आज ही मरना पसंद करूंगा

महागठबंधन में शामिल होने के सवाल पर आजम खां ने कहा कि राजनीति में न तो कोई दोस्त होता है और न ही कोई दुश्मन।

Danik Bhaskar | Aug 26, 2018, 02:02 PM IST

रामपुर. भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के बाद देश तथा विदेश में मिल रहे सम्मान पर समाजवादी पार्टी के नेता आजम खां ने भी टिप्पणी की है। पूर्व मंत्री आजम खां ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी की अस्थि कलश यात्रा देश भर में निकाले जाने के मुद्दे पर तंज कसते हुए कहा कि और किसी के बारे में तो वह कुछ नहीं कहते लेकिन यदि उन्हें यह पता हो कि उनके मरने के बाद इतना सम्मान मिलेगा तो वह आज ही मरना पंसद करेंगे।


मुलायम के बाद आया आज़म खां का बयान: रामपुर से समाजवादी पार्टी के विधायक आजम खां ने कहा कि यदि अटल जी को यह पता होता कि उनके मरने के बाद इतना सम्मान होगा और उनके साथ ऐसा होगा तो शायद इतना कुछ नहीं होता। समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता आजम खां ने कहा कि अगर मुझे किसी भी तरह पता चल जाए कि मृत्यु के बाद मुझे इतना सम्मान दिया जाएगा तो मैं आज खुद मरना चाहूंगा। आजम खां ने साफ तौर पर मुलायम सिंह का नाम नहीं लिया लेकिन मुलायम सिंह के बयान के बाद इस तरह जवाब आना इशारा तो उसी तरफ कर रहा है।


राजनीति में न तो कोई दोस्त होता है और न ही कोई दुश्मन : महागठबंधन में शामिल होने के सवाल पर आजम खां ने कहा कि राजनीति में न तो कोई दोस्त होता है और न ही कोई दुश्मन, इसलिए राह खुली हैं। अखिलेश यादव की सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे आजम खां ने बेरोजगारी के मुद्दे पर कहा कि देश में बेरोजगारों की संख्या लगातार बढ़ रही है। हमने जिनको नौकरी दी थी सरकार ने उनसे नौकरी छीन ली। आजम खां ने कहा कि प्रधानमंत्री यदि हर व्यक्ति के खाते में 15 लाख नहीं डाल सकते तो हर साल दो करोड़ बेरोजगारों को नौकरी दे दें।