--Advertisement--

उप्र / अयोध्या में राम मंदिर आंदोलन के लिए बजरंग दल करेगा 25 हजार सैनिकाें की भर्तियां



प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो
X
प्रतीकात्मक फोटोप्रतीकात्मक फोटो

  • निराला नगर सरस्वती शिशु मंदिर में आयोजित हुई बैठक
  • आरएसएस, विहिप व अन्य अनुषांगिक संगठन पदाधिकारियों ने लिया हिस्सा
  • 25 नवंबर को अयोध्या, नागपुर व बेंगलुरु में होगा रामभक्तों का जमावड़ा

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 10:59 AM IST

लखनऊ. अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर बजरंग दल 25 हजार नए सैनिकों की भर्ती करेगा। आरएसएस, विहिप समेत अन्य अनुषांगिक संगठन आंदोलन को धार देंगे। हिन्दू जागरण मंच के बैनर तले शनिवार देर शाम निराला नगर सरस्वती शिशु मंदिर में आयोजित बैठक में 115 यूपी-उत्तराखंड के प्रमुख पदाधिकारी शामिल हुए। क्षेत्र प्रचारक अनिल ने सभी आरएसएस के अनुषांगिक संगठनों को राम मंदिर बनाने को लेकर दिशा निर्देश दिए।

 

हिन्दू जागरण मंच के मीडिया प्रभारी जगदीश का कहना है कि यह बैठक अयोध्या में राम मंदिर बनाने को लेकर सरकार पर कानून बनाने के लिए दबाव बनाने को लेकर सम्पन्न हुई है। उन्होंने कहां कि अयोध्या में मंदिर निर्माण को लेकर विहिप भी एक बड़ा आंदोलन करने की योजना तैयार कर रहा है। सभी पदाधिकारियों को उनकी जिम्मेदारी का निर्वहन करने के लिए निर्देश दिए गए है।
 
25 नवंबर को लगेगा सन्तों का जमावड़ा : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ भी मंदिर निर्माण आंदोलन को धार देने के लिए खुलकर सामने आ गया है। इसी कड़ी में 25 नंवबर को एक साथ अयोध्या, नागपुर और बेंगलुरू में रामभक्तों का जमावड़ा रहेगा। इन सभी जगहों पर होने वाले जन आंदोलन रैली में करीब 2 लाख लोगों को जुटाने का लक्ष्य रखा गया है। हालांकि, कार्यक्रम का आयोजन विश्व हिंदू परिषद और संत समाज करेगा, लेकिन हर रैली मे संघ का एक बड़ा पदाधिकारी भी मौजूद रहेगा।

 

सह कार्यवाह रहेंगे मौजूद : अयोध्या में आरएसएस के सह-कार्यवाहक दत्तात्रेय होसबोले और विश्व हिंदू परिषद के उपाध्यक्ष चंपत राय मौजूद रहेंगे। वैसे भी इस कार्यक्रम का संचालन वीएचपी और संत समाज को करना है, लेकिन संघ की मौजूदगी रहेगी। इसी तरह दिल्ली में भी दिल्ली और एनसीआर के रामभक्त 9 दिसंबर को इक्ट्ठा होंगे। इसी बाच 25 नवंबर से लेकर 9 दिसंबर तक संघ के हर प्रांत में तीन से चार बड़े सभाओं का भी आयोजन किया जाएगा। यूपी में संघ के 6 प्रांत हैं।

 

अवध प्रान्त के 100 स्थानों पर होंगे त्रिशूल दीक्षा के कार्यक्रम : अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण के लिए अवध प्रान्त में 25 हजार बजरंग दल सैनिकों की नई भर्ती करते हुए उन्हें राम मंदिर निर्माण का संकल्प दिलाने और त्रिशूल दीक्षा कार्यक्रम गीता जयंती 18 दिसम्बर तक चलेगा। बजरंग दल के प्रतिज्ञित कार्यकर्ता आवश्यकता पड़ने पर किसी भी समय पर मंदिर निर्माण हेतु पूज्य संतों के आदेश पर अयोध्या कूच कर सकते हैं। 


विश्व हिन्दू परिषद के अवध प्रान्त के प्रान्त संगठन मंत्री भोलेन्द्र ने बताया कि अवध प्रान्त में अब तक 10 हजार बजरंग दल के नवीन कार्यकर्ता संकल्प और दीक्षा पूर्ण कर चुके हैं। उन्होंने बताया कि भगवान राम के मंदिर के लिए 25 हजार बजरंग दल सैनिकों की नई भर्ती का लक्ष्य रखा गया है। 


राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए संकल्प और प्रतिज्ञा का कार्यक्रम अवध प्रान्त में 100 स्थानों पर तय हैं। गीता जयंती 18 दिसम्बर तक यह कार्यक्रम होंगे। हर जिले में संकल्प और त्रिशूल दीक्षा का कार्यक्रम चल रहा है। यह कार्यक्रम बजरंग दल के पदाधिकारी कर रहे हैं। विहिप उसमें सहयोग कर रही है। 

 

धर्म की रक्षा के लिए यह कार्यक्रम : भोलेन्द्र ने कहा कि धर्म व संस्कृति की रक्षा के लिए बजरंग दल युवाओं को राष्ट्र शक्ति से ओत प्रोत करने के लिए त्रिशूल दीक्षा कार्यक्रम का आयोजन समय-समय पर करता रहता है। भारत में अस्त्र-शस्त्र प्रशिक्षण की परंपरा रही है। धर्म और संस्कृति की रक्षा के लिए यह कार्यक्रम किया जाता है।

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..