--Advertisement--

बयानबाजी / बीजेपी के शत्रु ने राफेल डील पर राहुल के सुर से मिलाया सुर, बोले- मोदी जी पब्लिक जवाब चाहती है



सपा मुखिया अखिलेश यादव के साथ मौजूद बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा व पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिंह सपा मुखिया अखिलेश यादव के साथ मौजूद बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा व पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिंह
X
सपा मुखिया अखिलेश यादव के साथ मौजूद बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा व पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिंहसपा मुखिया अखिलेश यादव के साथ मौजूद बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा व पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिंह
  • शत्रुघ्न सिन्हा, यशवंत सिंह ने सपा प्रमुख के साथ साझा किया मंच
  • दोनों नेता केंद्र सरकार पर जमकर बरसे, लगाए गंभीर आरोप

Dainik Bhaskar

Oct 11, 2018, 05:50 PM IST

लखनऊ. जय प्रकाश नारायण जयंती के मौके पर समाजवादी पार्टी की तरफ से आयोजित कार्यक्रम में गुरुवार को बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा और पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा लखनऊ पहुंचे। यहां सपा कार्यालय में सपा अखिलेश यादव के साथ मंच साझा किया और केंद्र की मोदी सरकार को जमकर आड़े हाथों लिया। यशवंत सिंह ने कहा कि आज देश में प्रजातांत्रिक मान्यताएं खतरे में हैं। राफेल डील पर शत्रुघ्न सिन्हा ने राहुल गांधी का समर्थन करते हुए कहा कि मोदी जी इतना ही बता दें कि हाल से सौदा हटाकर जीरो बैलेंस वाली कंपनी को क्यों सौदा दे दिया गया। 
 

आजकल देश में चल रहा दमन चक्र, नहीं चेते तो देश का होगा नुकसान

  1. सबको होना पड़ेगा एकजुट

    यशवंत सिंह ने कहा कि एक बार फिर सबको एकजुट होना पड़ेगा। चुनौती का सामना करना पड़ेगा। अगर हम चेते नहीं तो देश का बहुत नुकसान होने वाला है। मैं और शत्रुघ्न सिन्हा देश में घूम घूम कर प्रजातांत्रिक मान्यताओं के लिए काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पत्रकार राघव बहल के घर और दफ्तर पर इनकम टैक्स का छापा इसलिए पड़ा है, क्योंकि वह सरकार के सामने नही झुके। आजकल दमन का चक्र चल रहा है। 

  2. दुर्योधन व दुशासन से लड़ने का वक्त आया

    आज मैं, शत्रुघ्न सिन्हा, अखिलेश यादव जो बोल रहे हैं, सामने बैठे लोग केवल सुन रहे हैं। मीडिया को हमारा बहिष्कार करने के लिए ऊपर से कहा गया है। अखिलेश यादव दमदार नेता हैं जो सबसे लोहा लेता है। अखिलेश से कहूंगा कि, मिलकर लड़ेंगे तो 1977 की तरह हमारी जीत होगी। एक बार फिर से दुर्योधन और दुशासन से लड़ने का वक्त आ गया है। 

  3. विदेश मंत्री के पास काम नहीं इसलिए सिर्फ ट्वीट करती हैं

    शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि पीएम कैबिनेट में फर्स्ट अमंग इक्वल होता है। लेकिन यहां कुछ और ही है। जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती की सरकार से समर्थन वापस हो जाता है और देश के गृह मंत्री को पता ही नहीं। रक्षा मंत्री को नहीं पता कि रॉफेल का सौदा हो गया। वित्त मंत्री को नही पता कि नोटबंदी होने जा रही है। विदेश मंत्री के पास कोई काम नहीं। इसलिए ट्वीट करती हैं केवल।

  4. आज के छुटभैये नेता अपने को तीसमारखां समझते हैं

    शत्रुघ्न सिन्हा ने सवाल करते हुए कहा कि क्या सब कुछ एक व्यक्ति चलाएगा देश में? लाल बहादुर शास्त्री ने कभी यह नहीं कहा कि मैं गरीब हूं। मैनें चंद्रशेखर जी के साथ काम किया। मुलायम सिंह जी के साथ काम किया। जेपी को करीब से जाना। लेकिन आज के छुटभैये नेता अपने को तीसमारखां समझते हैं। 

  5. सच कहना बगावत तो मैं बागी हूं

    शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि सत्ता सेवा का माध्यम है, मेवा पाने का माध्यम नहीं है। युवाओं से कहता हूं कि अगर ठान लें तो नामुमकिन को मुमकिन कर सकते हैं। आज यशवंत जी के साथ देश भर में लोगों को जगाने का काम कर रहा हूं। अगर सच कहना बगावत है तो मैं बागी हूं। उन्होंने कहा कि व्यक्ति से बड़ी पार्टी है और पार्टी से बड़ा देश। मैं सच कहता हूं, इसलिए बुरा लगता है। नोटबंदी का फैसला पार्टी का फैसला नही था। आज वन मैन शो है। 

  6. मेरे ऊपर लग जाएगा मीटू का आरोप

    शत्रुघ्न सिन्हा इस दौरान अपने चिर परिचित मजाकिया अंदाज में भी नजर आए। उन्होंने सामने बैठे लोगों से कहा कि ज्यादा मुस्कराओं नहीं। नहीं तो मेरे ऊपर मीटू का आरोप लग जाएगा।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..