--Advertisement--

मायावती ने जय प्रकाश सिंह को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद से हटाया, राहुल गांधी के खून को बताया था विदेशी

मायावती ने कहा- विपक्षी दलों के खिलाफ दिया गया बयान जय प्रकाश सिंह का व्यक्तिगत विचार है।

Danik Bhaskar | Jul 17, 2018, 04:10 PM IST

लखनऊ. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और विपक्षी दलों के खिलाफ विवादस्पद टिप्पणी करने वाले बसपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जय प्रकाश सिंह को पार्टी ने उनको पद से हटा दिया है। मंगलवार को बसपा सु्प्रीमो मायावती ने कहा, 'मुझे जय प्रकाश सिंह के भाषण के बारे में पता चला जिसमें उन्होंने बसपा की विचारधारा के खिलाफ बात की है और विपक्षी दलों के खिलाफ टिप्पणी की है। विपक्षी दलों पर की गई टिप्पणी उनकी व्यक्तिगत राय हो सकती है। इसलिए, उन्हें तत्काल प्रभाव से उनके पद से हटा दिया गया है।


गठबंधन का फैसला हाई कमान पर छोड़े बसपा नेता: मायावती ने कहा, 'उत्तर प्रदेश और अन्य राज्यों में भी जब तक किसी पार्टी के साथ गठबंधन की घोषणा नहीं की जाती है तब तक पार्टी के सदस्यों को किसी भी स्तर पर गठबंधन के बारे में कुछ भी बोलने से बचना चाहिए। उन्हें यह फैसला हाईकमान पर छोड़ देना चाहिए।'


क्या है मामला: सोमवार को राजधानी लखनऊ में बसपा जोन स्त्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन किया गया था। इस दौरान जय प्रकाश सिंह ने क्या कहा था जय प्रकाश सिंह ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए वंशवादी राजनीति पर हमला बोला था। सिंह ने राहुल गांधी के 'विदेशी खून' का हवाला देकर उन्हें देश का नेतृत्व करने के लिए नाकाबिल बताया था। 26 मई को बीएसपी ने जय प्रकाश सिंह को पार्टी का उपाध्यक्ष और 'नेशनल कोआर्डिनेटर' नियुक्ति किया गया था।