लखनऊ / खनन विभाग के पांच अफसरों पर भ्रष्टाचार के आरोप, सरकार ने दिए जांच के आदेश

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ - फाइल फोटो उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ - फाइल फोटो
X
उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ - फाइल फोटोउत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ - फाइल फोटो

  • पांचों अफसरों पर राजकोष को नुकसान पहुंचाने और पट्टा नवीनीकरण कराने के मामले में भ्रष्टाचार को आरोप
  • कुछ दिन पहले योगी ने उन्नाव के डीएम देवेंद्र कुमार पांडेय को भी भ्रष्टाचार के आरोप में निलंबित कर दिया था

दैनिक भास्कर

Feb 25, 2020, 03:19 PM IST

लखनऊ. खनन कार्य में भ्रष्टाचार के आरोपी 5 अधिकारियों के खिलाफ सरकार ने जांच के आदेश दे दिए हैं। इनमें शामली और कौशांबी में तैनात रह चुके दो सहायक भूवैज्ञानिक, हमीरपुर में तैनात रह चुके एक भूवैज्ञानिक और देवरिया में तैनात रह चुके खान निरीक्षक व सहायक भूवैज्ञानिक शामिल हैं।

इन पर आरोप है कि शासकीय नियमों को ताक पर रखकर ये अवैध खनन कराने में शामिल थे। इन पर निजी लोगों को लाभ पहुंचाने, राजकोष को नुकसान पहुंचाने और पट्टा नवीनीकरण कराने के मामले में आरोप लगे हैं। सीएम ने मामले में भूतत्व एवं खनिकर्म निदेशालय के वरिष्ठ वेधन अभियंता सुधीर दुबे को इनके खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं।

इन अधिकारियों के खिलाफ सीएम ने दिए जांच के आदेश 

  • डॉ. एदल प्रसाद-सहायक भूवैज्ञानिक शामली, सम्प्रति मुजफ्फरनगर
  • अरविंद कुमार, सहायक भूवैज्ञानिक, कौशाम्बी, सम्प्रति चंदौली
  • मुईनुद्दीन,  भूवैज्ञानिक एवं खान अधिकारी हमीरपुर, सम्प्रति मुख्यालय लखनऊ
  • पंकज सिंह, खान निरीक्षक देवरिया, संप्रति मिर्ज़ापुर खान अधिकारी
  • विजय कुमार मौर्य, सहायक भूवैज्ञानिक एवं खान अधिकारी देवरिया, सम्प्रति भूवैज्ञानिक, प्रभारी, सोनभद्र

इससे पहले सरकार ने शनिवार को उन्नाव के डीएम देवेंद्र कुमार पांडेय को निलंबित कर दिया था। उन पर सरकारी स्कूलों के कंपोज़िट ग्रांट में गड़बड़ी का आरोप लगा था। पांडेय के खिलाफ शासन को कई शिकायतें मिल रही थीं। मामले की जांच लखनऊ के कमिश्नर से कराई गई, जिसमें वह प्रथम दृष्टया दोषी पाए गए।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना