चिन्मयानंद केस / हाईकोर्ट के जस्टिस अशोक कुमार ने सुनवाई से खुद को अलग किया; छात्रा व उसके दोस्तों की पेशी आज

पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद। -फाइल पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद। -फाइल
X
पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद। -फाइलपूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद। -फाइल

  • पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद पर उनके कॉलेज की एक छात्रा ने यौन शोषण करने का आरोप लगाया था
  • छात्रा के आरोप के बाद चिन्मयानंद ने पीड़िता और उसके दोस्तों पर 5 करोड़ की रंगदारी मांगने का केस दर्ज कराया था

Dainik Bhaskar

Dec 03, 2019, 12:39 PM IST

प्रयागराज/शाहजहांपुर. पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद से 5 करोड़ की रंगदारी मांगने के आरोप में जेल में बंद एसएस लॉ कॉलेज की छात्रा और उसके तीन दोस्तों संजय सिंह, विक्रम सिंह व सचिन सेंगर की मंगलवार को शाहजहांपुर कोर्ट में पेशी है। सभी आरोपी शाहजहांपुर जेल में बंद हैं। छात्रा ने चिन्मयानंद पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था।

इसके बाद चिन्मयानंद ने छात्रा व उसके दोस्तों पर रंगदारी मांगने का आरोप लगाते हुए केस दर्ज कराया था। मामले की जांच एसआईटी कर रही है। इस बीच चिन्मयानंद केस से जुड़े इलाहाबाद हाईकोर्ट के जस्टिस अशोक कुमार ने व्यक्तिगत कारणों से खुद को सुनवाई से अलग कर लिया। उन्होंने कोई और पीठ नामित करने के लिए मुख्य न्यायाधीश को अर्जी भेज दी है। 

छात्रा को हाईकोर्ट से नहीं मिली राहत
रंगदारी मामले में पीड़ित छात्रा को इलाहाबाद हाईकोर्ट से राहत नहीं मिली। सोमवार को कोर्ट में पीड़िता की जमानत अर्जी पर सुनवाई होनी थी। लेकिन टल गई। अब 4 दिसंबर को मामले की सुनवाई होगी। पीड़िता की जमानत अर्जी पर राज्य सरकार ने अभी तक जवाब दाखिल नहीं किया। 

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर एसआईटी कर रही मामले की जांच
सर्वोच्च न्यायालय के आदेश पर एसआईटी मामले की जांच कर रही है। इसका नेतृत्व आई नवीन अरोड़ा कर रहे हैं। एसआईटी पीड़ित छात्रा और स्वामी चिन्मयानंद दोनों के खिलाफ दर्ज मुकदमों में चार्जशीट दाखिल कर चुकी है। जबकि पीड़ित छात्रा और स्वामी चिन्मयानंद दोनों की जमानत अर्जी इलाहाबाद हाईकोर्ट में लंबित है।

24 अगस्त को सामने आया था विडियो
शाहजहांपुर में स्वामी शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय में पढ़ने वाली छात्रा ने 24 अगस्त को एक विडियो वायरल कर स्वामी चिन्मयानंद पर शारीरिक शोषण और कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद करने के आरोप लगाए थे। वीडियो वायरल होने के बाद छात्रा लापता हो गई थी। बाद में पुलिस ने राजस्थान से उसे बरामद किया था।

चिन्मयानंद के खिलाफ दर्ज हुआ था केस
इस मामले में 25 अगस्त को पीड़िता के पिता की ओर से कोतवाली शाहजहांपुर में अपहरण और जान से मारने की धाराओं में स्वामी चिन्मयानंद के विरुद्ध मामला दर्ज कर लिया गया था।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना