--Advertisement--

16 महीने में योगी आदित्यनाथ ने यूपी के सभी 75 जिलों का किया दौरा, नोएडा का तोड़ा मिथक; 6 बार गए अयोध्या

योगी आदित्यनाथ ने 19 मार्च 2017 को यूपी के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी

Danik Bhaskar | Jul 24, 2018, 07:30 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 16 महीनों में प्रदेश के सभी 75 जिलों का दौरा कर लिया। सोमवार को हाथरस पहुंचने के साथ ही इतने कम समय में ऐसा करने वाले वह प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री बन गए। योगी ने इन दौरों के दौरान स्कूल, अस्पताल, धान, गेहूं व गन्ना क्रय केंद्रों के आकस्मिक निरीक्षण किए तो कानून-व्यवस्था और विकास कार्यों की समीक्षा भी की। साथ ही हजारों करोड़ रुपए की विकास परियोजनाओं का लोकार्पण-शिलान्यास भी किया।

19 मार्च, 2017 को बने थे मुख्यमंत्री: योगी आदित्यनाथ ने 19 मार्च 2017 को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। 4 मई 2017 को को उन्होंने आगरा जिले का पहला दौरा किया था। इसके बाद से उन्होंने प्रदेश के हर जिलों का तूफानी दौरा किया। वे पहले सीएम हैं जो गांव में रात्रि चौपाल में शामिल हुए। लोगों की समस्याएं सुनी और वहीं रात्रि विश्राम किया। सरकारी प्रवक्ता के मुताबिक मुख्यमंत्री के दौरे सिर्फ औपचारिकता नहीं रहे, कई जिलों में रात को रुककर वहां की जरूरतों को भी उन्होंने समझा।

6 बार गए अयोध्या: सीएम योगी ने इस दौरान छह बार अयोध्या का दौरा किया। 18 अक्टूबर 2017 को सीएम योगी आदित्यनाथ पहली बार अयोध्या पहुंचे। यहां वो दीपोत्सव कार्यक्रम में शामिल हुए। तीन दौरे विकास कार्यों के उदेश्य से किए।जबकि दिन दौरे में विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल हुए।

नोएडा का मिथक तोड़ा : योगी के दौरे की सबसे बड़ी बात रही की सीएम ने नोएडा से जुड़े मिथक को तोड़ा। वह 25 दिसंबर, 2017 को नोएडा पहुंचे। नोएडा के बारे में यह मिथक वर्षों से चला आ रहा है कि जो भी मुख्यमंत्री नोएडा जाता है, वह सत्ता में दोबारा नहीं लौटता है। इसके चलते प्रदेश के कई मुख्यमंत्रियों ने नोएडा का कभी रुख नहीं किया। योगी ने दो बार नोएडा जाकर विकास योजनाओं की शुरुआत की। हाल में वे नोएडा में पीएम नरेन्द्र मोदी के साथ एक कार्यक्रम में शामिल हुए।

कई जिलों का दो बार से ज्यादा किया दौरा: विकास कार्यों की समीक्षा के लिए सीएम योगी ने कई जिलों का दो बार से अधिक दौरा किया है। आजमगढ़, आगरा और मथुरा का 4 बार, इलाहाबाद 5 बार, महाराजगंज, देवारिया, कुशीनगर, सिद्धार्थ नगर, संतकबीरनगर, गौतमबुद्ध नगर, लखीमपुर खीरी, सीतापुर, उन्नाव, वाराणसी, गोंडा, कानपुर नगर, गोरखपुर, फैज़ाबाद, शाहजहांपुर और मिर्जापुर का तीन बार दौरा किया है। अमेठी, बदायूं, बरेली, भदोही, सोनभद्र का एक बार दौरा किया।