यूपी / सीएम योगी ने शहीद इंस्पेक्टर के परिवार से की मुलाकात, हो रही चर्चा

Dainik Bhaskar

Dec 06, 2018, 09:58 AM IST



सुबोध की पत्नी रजनी दोनों बेटों और बहन के साथ योगी से मिलने लखनऊ पहुंची थीं। सुबोध की पत्नी रजनी दोनों बेटों और बहन के साथ योगी से मिलने लखनऊ पहुंची थीं।
X
सुबोध की पत्नी रजनी दोनों बेटों और बहन के साथ योगी से मिलने लखनऊ पहुंची थीं।सुबोध की पत्नी रजनी दोनों बेटों और बहन के साथ योगी से मिलने लखनऊ पहुंची थीं।
  • comment

  • सीएम योगी परिवार के साथ कर रहे वार्ता
  • प्रभारी मंत्री अतुल गर्ग, डीजीपी ओपी सिंह, विधायक एटा सतपाल सिंह राठौर भी मौजूद

लखनऊ. बुलंदशहर हिंसा में शहीद हुए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के परिजन गुरुवार सुबह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से यहां उनके बंगले पर मिले। मुख्यमंत्री ने उनसे कुछ और वादे किए। सरकार की ओर से इस परिवार से सात वादे किए जा चुके हैं। 

 

योगी ने ये 7 वादे किए

  1. पत्नी को 40 लाख रुपए का चेक दिया
  2. माता-पिता को 10 लाख देंगे
  3. जैथरा-कुरौली रोड का नाम शहीद सुबोध कुमार सिंह मार्ग होगा
  4. पैतृक गांव तिरगवां में शहीद सुबोध के नाम पर इंटर कॉलेज बनेगा
  5. मकान और बच्चों की पढ़ाई के लिए लिया गया बैंक कर्ज 25 लाख रुपए सरकार चुकाएगी
  6. दोनों बेटों की आगे की पढ़ाई का खर्च सरकार उठाएगी
  7. परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी और सुबोध की पत्नी को पेंशन मिलेगी

 

 

योगी ने कहा- दोषी बच नहीं सकते

मुख्यमंत्री ने सुबोध के परिवार से कहा- दोषी इस गलतफहमी में न रहें कि वे बच जाएंगे। बुलंदशहर में कई टीमें जांच कर रही हैं। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। योगी से मुलाकात करने सुबोध की पत्नी रजनी दोनों बेटों और बहन के साथ पहुंची थीं। उनके साथ जिले के प्रभारी मंत्री अतुल गर्ग, डीजीपी ओपी सिंह और एटा विधायक सतपाल मौजूद रहे।

 

घटना वाले दिन आया था विधायक का फोन
पत्नी रजनी ने मुख्यमंत्री से कहा- घटना से तीन दिन पहले शहीद सुबोध ने गोकशी के तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया था। घटना वाले दिन इस संबंध में एक विधायक का फोन आया था।

 

गोकशी के शक में भड़की थी हिंसा
बुलंदशहर के स्याना में सोमवार को गोकशी को लेकर हिंसा फैली थी। आरोप है कि इसकी अगुआई बजरंग दल के नेता योगेश राज ने की थी। हिंसा में गोली लगने से इंस्पेक्टर सुबोध की मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने दो एफआईआर दर्ज की हैं। पहली एफआईआर योगेश की शिकायत पर गोकशी मामले में दर्ज की गई है। इसमें सात लोगों के नाम हैं। वहीं, दूसरी एफआईआर हिंसा और इंस्पेक्टर की हत्या के मामले में दर्ज किया गया। इसमें 27 के नाम हैं, 60 से ज्यादा अज्ञात हैं। इस मामले में अब तक चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है जबकि चार को हिरासत में लिया गया है।

COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन