उप्र / सरकार के ढाई साल पूरे होने पर योगी ने उपलब्धियां गिनाईं, टीम वर्क से परसेप्शन बदला



सीएम योगी ने की प्रेस कांफ्रेंस। सीएम योगी ने की प्रेस कांफ्रेंस।
X
सीएम योगी ने की प्रेस कांफ्रेंस।सीएम योगी ने की प्रेस कांफ्रेंस।

  • भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद रहे
  • योगी सरकार ने उपलब्धियों पर दिखाई डॉक्यूमेंट्री फिल्म

Dainik Bhaskar

Sep 19, 2019, 12:49 PM IST

लखनऊ. उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सरकार के ढाई साल पूरे होने पर गुरुवार को सरकार की उपलब्धियों का बखान किया। योगी ने कहा कि सरकार ने एक टीम की तरह काम किया है। इसी का नतीजा है कि आज उप्र को लेकर लोगों का परेशेप्सन पूरी तरह से बदल गया है। उन्होंने यह भी कहा कि उप्र का चेहरा हम बदलने में कामयाब हुए हैं। आने वाले समय में इसमें और निखार लाने का प्रयास करेंगे।

 

योगी ने प्रेस कांफ्रेंस करते हुए यह बातें कही। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी का अभारी हूं क्योंकि उनके मार्गदर्शन में उप्र सरकार ढाई  साल का कार्यकाल पूरा कर रही है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और गृहमंत्री अमित शाह ने सरकार बनने के बाद समय-समय पर अपना सहयोग दिया। योगी ने कहा कि ढाई वर्षों में हम जो भी कर पाए हैं, यह एक टीम वर्क की वजह से संभव हो पाया है।

 

योगी ने कहा कि टीम वर्क की वजह से उप्र के परसेप्शन को बदलने का काम किया है। सरकारें भी ऐसे चल सकती हैं हमने उप्र की सरकार की जनता का विश्वास अर्जित करके दिखाया है। उन्होंने कहा कि सभी लोगों का सकारात्मक सहयोग लोगों का प्राप्त हुआ है।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि 19 मार्च 2017 में चौदह वर्ष के बनवास के बाद प्रदेश् में भाजपा की सरकार बनी थी। प्रदेश में सरकार बनने के बाद जैसे पीएम मोदी ने सबका साथ सबका विकास की तर्ज पर काम किया। गांव और गरीब को केंद्र में रखकर सरकार की योजनाओं को धार देनी शुरू की थी, ठीक उसी तरह हमने भी प्रयास किया।

 

सरकार के सामने थी चुनोतियां

योगी ने कहा कि सरकार बनने के बाद चुनौतियां बहुत थीं लेकिन हमने मेहनत और टीम को परशेप्सन बदलने का जिम्मा सौंपा गया था। उप्र के सामने पहचान का संकट खड़ा हो गया था। सुशासन और विकास की द़ष्टि से यह ढाई साल काफी महत्वपूर्ण रहा है। सभी मंत्रियों ने अपने अपने विभागों में अच्छा काम किया। 

 

किसान आत्महत्या करने को मजबूर था

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले पंद्रह वर्षों से किसान आत्महत्या करने के लिए मजबूर था। केंद्र की सरकार की योजनाएं यहां लागू नहीं की गईं थी। दशकों तक कोई ऐसा योजना नहीं लागू हुई थी जो किसानों के लिए हितकर हो। हमने सरकार बनने के बाद पहली ही कैबिनेट में फसल ऋण माफी योजना के तहत 86 लाख किसानो का कर्ज माफ किया।

 

सरकार की ओर से दिखाई गई डॉक्यूमेंट्री फिल्म

इसमें पिछले ढाई साल के दौरान हुए कामकाज को जनता के सामने रखा गया। इसमें पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से लेकर बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का भी जिक्र किया गया था। योगी सरकार के दौरान लखनऊ में हुई इन्वेस्टर्स समिट का भी इसमें उल्लेख किया गया है। उप्र में दो लाख से अधिक भर्तियां सृजन करने का दावा किया गया है। सरकार की ओर से बताया गया कि अयोध्या में दीपोत्सव हो चाहे मथुरा में जन्माष्टमी का पर्व सरकार ने पूरे मन से इसको पूरा करने का काम किया। डॉक्यूमेंट्री फिल्म में इलाहाबाद में हुए कुम्भ और वाराणसी भारतीय प्रवासी दिवस का भी उल्लेख किया गया है।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना