सोनभद्र हत्याकांड / पीड़ितों से मिले योगी, कहा- दोषियों को सजा मिलेगी; मृतकों के परिजनों को 18.5 लाख देने का ऐलान



CM Yogi will visit sonbhadra today
CM Yogi will visit sonbhadra today
X
CM Yogi will visit sonbhadra today
CM Yogi will visit sonbhadra today

  • शनिवार को मिर्जापुर में पीड़ित परिवारों और घायलों से मिलीं थीं प्रियंका गांधी
  • 17 जुलाई को सोनभद्र में जमीनी विवाद में तीन महिलाओं समेत 10 लोगों की हत्या हुई थी 
  • प्रियंका ने भी की थी मृतक के परिजनों को दस-दस लाख रुपए देने की घोषणा

Dainik Bhaskar

Jul 21, 2019, 04:38 PM IST

सोनभद्र. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोनभद्र हत्याकांड के तीन दिन बाद रविवार को यहां पहुंचे। यहां उन्होंने हत्याकांड में मारे गए लोगों के परिजनों से मुलाकात की। यहां योगी ने एक बार फिर कहा कि यह पाप कांग्रेस के समय में ही किया गया था। जांच में पारदर्शिता बरती जाएगी और 10 दिनों के भीतर रिपोर्ट सौंपी जाएगी। रिपोर्ट आने के बाद दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

 

योगी ने हत्याकांड में मारे गए सभी मृतकों के परिजनों को 18.50 लाख रुपए और घायलों को 2.50 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने का ऐलान भी किया। इससे पहले सरकार ने मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपए देने की घोषणा की थी।

 

कुकर्मों की छिपाने की कोशिश

मुख्यमंत्री ने कहा कि जो जमीन खेती के लिए यूज हो रही थी उसे पब्लिक ट्रस्ट को कैसे दी गई। उन्होंने कहा कि आदिवासियों की जमीन को जबरन कब्जा किया गया। फिर इसे पब्लिक ट्रस्ट को सौंप दी गई। सोनभद्र हत्याकांड के नाम पर कुछ लोग घड़ियाली आंसू बहाकर अपने कुकर्मों को छिपाने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन यह ज्यादा दिन तक छिपेगा नहीं। योगी के साथ भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष स्‍वतंत्र देव सिंह, मुख्य सचिव डॉ. अनूप चन्द्र पांडेय व डीजीपी ओपी सिंह भी मौजूद रहे।

 

प्रियंका ने 10 लाख की मदद देने का ऐलान किया था

इससे पहले शुक्रवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाराणसी पहुंचीं थीं। वह पीड़ितों से मुलाकात के लिए सोनभद्र जा रही थीं, तभी पुलिस ने उन्हें रोक दिया था। प्रशासन उन्हें चुनार गेस्ट हाउस ले गया। जहां वह 26 घंटे तक धरने पर बैठीं रहीं। बाद में शनिवार को प्रशासन ने पीड़ितों से उनकी मुलाकात करवाई। इस दौरान प्रियंका ने सभी मृतकों के परिजनों को 10 लाख रु. की मदद देने का ऐलान किया था।

 

डीजीपी कर रहे मामले की निगरानी

योगी ने कहा कि मैंने खुद डीजीपी को निर्देश दिया है कि वे व्यक्तिगत तौर पर मामले की निगरानी करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस जमीन पर काफी समय से विवाद था। वारदात के बाद एसडीएम, सीओ, एसओ सहित हल्का और बीट के सभी सिपाही निंलबित कर दिए गए हैं। साथ ही इस जमीनी विवाद की जांच अपर मुख्य सचिव राजस्व को सौंप दी गई है।

 

यह है मामला
17 जुलाई को प्रधान यज्ञदत्त  करीब 200 लोगों को लेकर घोरावल थाना इलाके के उम्भा गांव पहुंचा। उन लोगों के पास गंड़ासे और अवैध तमंचे थे। प्रधान ट्रैक्टरों से खेत की जबरन जुताई करवाने लगा। इस पर ग्रामीणों ने विरोध किया तो प्रधान के समर्थकों ने उन पर हमला कर दिया था। इस दौरान हुई हिंसा में दस लोग मारे गए थे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना