अयोध्या / राष्ट्रमंडल प्रतिनिधिमंडल ने किया रामलला का दर्शन, डेलिगेट्स ने कहा- अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए

हनुमानगढ़ी मंदिर में दर्शन करते विदेशी डिलिगेट्स। हनुमानगढ़ी मंदिर में दर्शन करते विदेशी डिलिगेट्स।
X
हनुमानगढ़ी मंदिर में दर्शन करते विदेशी डिलिगेट्स।हनुमानगढ़ी मंदिर में दर्शन करते विदेशी डिलिगेट्स।

  • विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित की अगुवाई में शनिवार को पहुंचा था प्रतिनिधिमंडल
  • इस डेलिगेशन में 45 लोग शामिल थे, अयोध्या के कई मंदिरों में की पूजा अर्चना

दैनिक भास्कर

Jan 18, 2020, 06:30 PM IST

अयोध्या. उत्तर प्रदेश की रालधानी लखनऊ में 7वीं इंडिया रीजन सम्मेलन में हिस्सा लेने आए राष्ट्रमंडल दल के 45 सदस्यों का एक संसदीय प्रतिनिधि मंडल शनिवार को अयोध्या में रामलला के दर्शन किए। 45 सदस्यों वाले इस दल में भारत के अलग-अलग राज्यों के राजनीतिक प्रतिनिधि शामिल थे। शनिवार को अयोध्या पहुंचे इस दल ने कनक भवन, हनुमानगढ़ी और राम जन्मभूमि के दर्शन किए।

राज्य अतिथि का दर्जा प्राप्त ये प्रतिनिधि मंडल राम नगरी में भक्ति के रंग में रंगा नजर आया। इनके सुरक्षा से लेकर भ्रमण तक की सारी व्यवस्थाएं अयोध्या प्रशासन ने पुरी मुस्तैदी से संभाल रखी थी। विभिन्न मंदिरों में दर्शन के दौरान इन सभी ने खूब तस्वीरें भी खिंचवाई।

दरअसल लखनऊ में आयोजित कॉमनवेल्थ पार्लियामेंट्री एसोसिएशन के सातवें सम्मेलन के बाद राष्ट्रमंडल देशों का ये संसदीय प्रतिनिधि मंडल शनिवार को अयोध्या पहुंचा था। प्रतिनिधि मंडल में लोकसभाध्यक्ष सहित भारत की विभिन्न विधानसभा, विधान परिषदों के पीठासीन अधिकारी व दो दर्जन से अधिक विशिष्ट मेहमान सम्मिलित हैं जिसमें गुजरात, महाराष्ट्र, केरल तमिलनाडु, असम, मध्य प्रदेश समेत विभिन्न राज्यों के विधानसभा स्पीकर शामिल थे। 

बार बार अयोध्या आना चाहेंगे

कनक भवन में दर्शन करने के बाद भाव-विभोर उड़ीसा के डिप्टी स्पीकर रंजीत सिंह ने कहा कि वह अयोध्या बार-बार आना चाहेंगे। वहीं रामलला का दर्शन करने के बाद कर्नाटक के स्पीकर विशेश्वर हेगड़े ने कहा कि 'राम जन्म स्थान बहुत पवित्र स्थान है, श्रद्धा भाव भक्ति से हमने इसे नमन किया। उन्होंने कहा राम मंदिर का भव्य निर्माण होना चाहिए ऐसा देश के लोगों की इच्छा है इसमें हमको विश्वास भी है।
 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना