विज्ञापन

'जिला गोरखपुर' फिल्म के पोस्टर पर हुआ विवाद, भगवा पहने कलाकार के हाथ में दिखाई पिस्तौल; बीजेपी नेता ने कहा-सीएम योगी की छवि को नुकसान पहुंचाना मकसद

Dainik Bhaskar

Jul 30, 2018, 10:57 AM IST

जिला गोरखपुर नाम से बन रही फिल्म का पोस्टर रविवार को सोशल मीडिया पर जारी किया गया।

controversy created on zila gorakhpur film
  • comment

लखनऊ. जिला गोरखपुर नाम से बन रही फिल्म का पोस्टर रविवार को सोशल मीडिया पर जारी किया गया। पोस्टर आते ही विवाद भी शुरू हो गया। बीजेपी नेता आईपी सिंह ने तो निर्माता के खिलाफ लखनऊ के विभूतिखंड थाने में मुकदमा तक दर्ज करवा दिया। वहीं देर रात निर्माता ने भी सोशल मीडिया पर प्रेस विज्ञप्ति जारी कर फिल्म बंद करने का ऐलान कर दिया।

क्या विवादित है पोस्टर में: पोस्टर में एक भगवाधारी व्यक्ति को पीठ की तरफ से खड़ा दिखाया गया है। उसके हाथ में एक पिस्टल है। पोस्टर में बछड़े को भी दर्शाया गया है। साथ ही गोरखनाथ मंदिर का सीन भी है। बीजेपी नेता आईपी सिंह समेत कई लोगों का मानना है कि पोस्टर में भगवाधारी व्यक्ति को पिस्टल के साथ दिखाना सीएम योगी आदित्यनाथ की छवि से खिलवाड़ करना है। आईपी सिंह ने ट्वीट सोशल मीडिया पर लिखा कि यह फिल्म न सिर्फ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की की छवि को खंडित करने वाली है बल्कि हिंदू सभ्यता, नाथ संप्रदाय को कलंकित करने वाली भी है। निर्माताओं में अगर हिम्मत है तो वे फिल्म रिलीज करं दिखाएं। सस्ती लोकप्रियता के लिए ऐसी नीचता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

फिल्म होगी बंद: फिल्म निर्माता विनोद तिवारी ने अपने ट्विट्टर हैंडल से ऐलान किया है कि जैसे ही सोशल मीडिया में पोस्टर लांच किया गया। उसके बाद जनता की जो प्रतिक्रिया आई उससे पता चलता है कि जनभावनाएं आहत हुई हैं। जबकि हमारा ऐसा कोई उद्देश्य नहीं है। इस फिल्म को लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं जोकि काल्पनिक हैं। वास्तविकता से कुछ भी लेना देना नहीं है। देशहित में यह प्रोजेक्ट बंद कर रहा हूं।

X
controversy created on zila gorakhpur film
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें