लखनऊ / दलित महिला से ज्यादती के आरेापी सिपाही को मिली दस साल कैद की सजा



court order against constable in a rape case
X
court order against constable in a rape case

  • पांच जुलाई 2000 को माल इलाके में हुई थी घटना
  • सिपाही कमलेश पर लगा था जबरन दुराचार का आरोप 

Dainik Bhaskar

Aug 15, 2019, 09:41 AM IST

लखनऊ.  उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के अपर सत्र न्यायाधीश एसएस पांडेय ने दलित महिला से दुराचार के मामले में थाना माल के तत्कालीन सिपाही कमलेश कुमार यादव को दोषी करार दिया है। उन्होंने इसे 10 साल के कठोर कारावास व 30 हजार के जुर्माने से दंडित किया है। 

 

वर्तमान में यह आरोपी सिपाही आजमगढ़ जिले की मनचोभा थाना में तैनात है। इस मामले में एक अन्य सिपाही प्रमोद कुमार सिंह का मुकदमा अभी विचाराधीन है। वरिष्ठ लोक अभियोजक सत्यव्रत त्रिपाठी ने बताया कि पांच जुलाई, 2000 की रात्रि में यह दोनों पुलिसवाले इलाके में गश्त पर थे। पीड़िता अपने घर में अकेली थी। उसके बच्चों सो रहे थे। यह दोनों पुलिसवाले उसके घर में घुस गए। सिपाही कमलेश उसके साथ जबरिया दुराचार करने लगा। 

 

पीड़िता के चिल्लाने पर दूसरे सिपाही ने कहा चिल्लाओगी तो जान से मार दूंगा। इस बीच पीड़िता का पति घर आ गया। उसने पुलिसवालों के इस कुकर्म का विरोध किया, तो उसे राइफल के कुंदे से मारने लगे। पीड़िता ने इस घटना की एफआईआर थाना माल में दर्ज कराई थी।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना