Hindi News »Uttar Pradesh »Lucknow »News» Dalit Man Forced To Drink Urine In Badaun

UP: बदायूं में दलित ने गेहूं काटने से मना किया तो पेड़ से बांधकर पीटा, मूंछ उखाड़ी और पेशाब पिलाई

घटना 23 अप्रैल की है। यूपी एससी-एसटी आयोग ने इस मामले की रिपोर्ट तलब की है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - May 01, 2018, 05:58 PM IST

    • दबंगों ने पहले सीताराम को पीटा फिर चौपाल पर लाकर उसे पेड़ से बाँध कर पीटा। मूंछ उखाड़ दी। विरोध करने पर आरोपियों ने जूते में पेशाब कर उसे जबरदस्ती पिलाया और जातिसूचक शब्द कहे।

      • पुलिस ने 7 दिन बाद आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया
      • पुलिस ने कहा कि घटना के दिन भी जांच के लिए गए, दोनों पक्षों को आमने-सामने बिठाया था

      बदायूं.यहां के आजमपुर बिसौरिया गांव में गेहूं काटने से मना करने पर एक दलित को पेड़ से बांधकर पीटा गया। उसकी मूंछ उखाड़ दी और पेशाब पिलाई गई। 23 अप्रैल को घटी घटना की जानकारी जब आला अधिकारियों को हुई, तब 7 दिन बाद मामला दर्ज हुआ। फिलहाल दलित के घर पर फोर्स लगा दी गई है हालांकि दहशत के चलते पीड़ित गांव से गायब है।

      जूते में पिलाई शराब

      - गांव के दलित सीताराम ने आईजी बरेली रेंज डीके ठाकुर से शिकायत की, "23 अप्रैल को गांव के रामनिवास सहित उसके परिवारवालों ठाकुर विजय सिंह, शैलेंद्र, पिंकू सिंह और विक्रम सिंह ने फसल की कटाई करने को कहा था। मैंने मना कर दिया, जिसके बाद उन लोगों ने चौपाल पर लाकर उसे पेड़ से बांधकर पीटा और मूंछ उखाड़ दी। विरोध करने पर आरोपियों ने जूते में पेशाब कर उसे जबरदस्ती पिलाया और जातिसूचक शब्द कहे।"

      एसएसपी ने कहा- घटना दिन जांच के लिए गई थी डायल 100
      - एसएसपी अशोक शर्मा ने बताया कि घटना के दिन पीड़ित की सूचना पर डायल 100 मौके पर पहुंची थी, लेकिन छानबीन में कुछ नहीं मिला। बाद में थानाध्यक्ष ने भी कार्रवाई कर दोनों पक्षों को आमने-सामने बिठाया था।
      - बरेली रेंज के आईजी डीके ठाकुर का कहना है कि आरोपियों पर मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। मौके पर दोनों पक्षों की बात सुनी गई है। जो भी तथ्य हैं, उन्हें विवेचना में शामिल किया जाएगा। जांच जारी है।

      - इस मामले में हजरतपुर इंस्पेक्टर राजेश कश्यप को सस्पेंड कर दिया गया है।

      आरोपी के पिता ने कहा- मेरे खेत का ठेका लिया था

      - आरोपी के पिता रामनिवास ने बताया कि सीताराम ने हमारे 10 बीघा खेत में गेहूं कटाई का ठेका लिया था, लेकिन सबके गेहूं काटता रहा और हमारा नहीं काटा। जब हमने दूसरा लड़का खेतों में भेजा तो उसे गाली देकर भगा दिया।

      - "अब फसल बर्बाद हो रही थी तो हमारे लड़के ने सीताराम से कहा कि हम बर्बाद हो रहे हैं और तुम फसल नहीं काट रहे हो। इसको लेकर दोनों में थोड़ी बहुत हाथापाई हुई। इस मामले को तूल दे दिया गया।"

      यूपी एससी/एसटी आयोग ने रिपोर्ट मांगी
      - यूपी एससी/एसटी आयोग के चेयरमैन बृजलाल ने एडीजी बरेली जोन से जांच रिपोर्ट तलब की है। उन्होंने निर्देश दिया है कि पीड़ित को सुरक्षा मुहैया कराई जाए। साथ ही दबंगों के खिलाफ कड़ी कार्यवाई के आदेश दिए हैं।

    • UP: बदायूं में दलित ने गेहूं काटने से मना किया तो पेड़ से बांधकर पीटा, मूंछ उखाड़ी और पेशाब पिलाई
      +1और स्लाइड देखें
      दलित के घर पर फोर्स लगा दी गई है।
    Topics:
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

    More From News

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×