--Advertisement--

डिंपल यादव ने सांसद बनते ही बना डाले थे ये रिकॉर्ड, जब स्कूल में थीं तभी पहली मुलाकात के बाद से अखिलेश को करने लगी थीं डेट

बर्थडे आज: डिंपल को इस वजह से अपना 'लेडी लक' मानते हैं अखिलेश

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 09:24 PM IST
डिंपल निर्विरोध सांसद बनने वाली देश की 44वीं पॉलिटिशियन बनी थीं डिंपल निर्विरोध सांसद बनने वाली देश की 44वीं पॉलिटिशियन बनी थीं

लखनऊयूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव की पत्नी और सांसद डिंपल यादव का आज 41वां बर्थडे है। डिंपल की पर्सनल लाइफ किसी फिल्म से कम नहीं रही है। अखिलेश और डिंपल करीब 4 साल से ज्यादा समय तक रिलेशनशिप में रहे। लंबी डेटिंग के बाद दोनों ने शादी की। यही नहीं अखिलेश के सीएम बनने पर डिंपल उनकी सीट से सांसद बनीं। सांसद बनते ही डिंपल ने कुछ रिकॉर्ड भी बना डाले। आइए डालते हैं इनकी लाइफ स्टोरी पर एक नजर.....

पुणे में कर्नल पिता के घर हुआ जन्म

- डिंपल यादव का जन्म 15 जनवरी 1978 को पुणे में आर्मी कर्नल एससी रावत के घर हुआ था। उनकी शुरुआती पढ़ाई और पालन-पोषण पुणे, भटिंडा और अंडमान निकोबार में हुआ।
- इंटरमीडिएट के बाद डिंपल यादव ने लखनऊ विश्‍वविद्यालय से ह्यूमेनिटीज़ में स्नातक किया। वे फिलहाल समाजवादी पार्टी से कन्नौज सीट से सांसद हैं।

अखिलेश से इंजीनियरिंग के दौरान मिलीं

- अखिलेश की लाइफ पर किताब लिखने वाली सुनीता एरन ने उनकी लाइफ से जुड़े पर्सनल फैक्ट्स उजागर किए हैं। सुनीता की किताब 'अखिलेश यादव - बदलाव की लहर' में उन्होंने डिंपल के साथ रिलेशनशिप का भी जिक्र किया है।

- अखिलेश की डिंपल से मुलाकात इंजीनियरिंग के दिनों में हुई थी। वे तब महज 21 साल के थे और डिंपल 17 की। डिंपल तब स्कूल में पढ़ती थीं। दोनों की मुलाकात एक कॉमन फ्रेंड के घर पर हुई थी। पहली ही मुलाकात में दोनों के बीच अच्छी कैमिस्ट्री जम गई थी।

आगे पढ़ें: लंबी चली डेटिंग

today dimple yadav birthday special story dating with akhilesh since school time know love life and interesting facts

लंबी चली डेटिंग

- सुनीता एरन ने अपनी किताब में लिखा है कि पहली मुलाकात में अच्छी दोस्ती होने के बाद अखिलेश और डिंपल में रेग्यूलर बातचीत होने लगी। जल्द ही ये दोस्ती प्यार में बदल गई। सुनीता की किताब के मुताबिक अखिलेश और डिंपल फ्रेंड से मिलने का बहाना बनाकर एकदूसरे से छुपकर मिलते थे।
- वे कभी लखनऊ के मोहम्मद बाग क्लब, तो कभी कैंट सूर्या क्लब में। इंजीनियरिंग पूरी होने के बाद अखिलेश ऑस्ट्रेलियाई यूनिवर्सिटी से मास्टर्स डिग्री लेने सिडनी निकल गए।
- अखिलेश के हवाले से किताब में लिखा है कि सिडनी जाने के बाद भी अखिलेश लगातार डिंपल से कॉन्टेक्ट में रहे। वे डिंपल को लेटर्स लिखते थे, ग्रीटिंग कार्ड्स भेजते थे। ये सिलसिला अखिलेश की मास्टर्स डिग्री पूरी होने तक चला।

आगे पढ़ें: फिर अखिलेश ने लिया शादी का फैसला लेकिन...

today dimple yadav birthday special story dating with akhilesh since school time know love life and interesting facts

फिर अखिलेश ने लिया शादी का फैसला लेकिन...

- अखिलेश जब सिडनी से लौटे तो उनके पिता ने पहला सवाल किया- शादी कब करोगे? तब अखिलेश की दादी मुरती देवी बीमार थीं। अपनी फैमिली को मनाने के लिए अखिलेश ने दादी का सहारा लिया।
- उन्होंने अपनी दादी को अपनी प्रेम कहानी कह सुनाई और उन्होंने तुरंत हामी भर दी। दादी की हां के बाद अखिलेश डिंपल से शादी करने के लिए अड़ गए। लेकिन मुश्किलें अभी कम नहीं थीं।
- डिंपल उत्तराखंड के निवासी रहे लेफ्टिनेंट कर्नल एससी रावत की बेटी हैं। चूंकि जब डिंपल-अखिलेश की लव स्टोरी चल रही थी, तब पहाड़ी विद्रोही अलग राज्य की मांग कर रहे थे।
- डिंपल के गांव के लोग अखिलेश के पिता मुलायम के सख्त खिलाफ थे। जब मुलायम को इस रिश्ते का पता चला तो उनकी चिंता बढ़ गई। कहीं उनके विरोधी अखिलेश की जान के दुश्मन न बन जाएं।

आगे पढ़ें: इन नेताओं ने भी किया सपोर्ट

today dimple yadav birthday special story dating with akhilesh since school time know love life and interesting facts

इन नेताओं ने भी किया सपोर्ट

- यादव और राजपूतों के बीच शादी को लेकर पॉलिटिकल रिश्ते बिगड़ने का भी डर था, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। बिहार के सीनियर सपा नेता कपिल देव सिंह और उत्तराखंड के सपा नेता विनोद बर्थवाल ने मुलायम को शादी के लिए हां कहने की सलाह दी।
- अमर सिंह ने भी अपना सपोर्ट दिया। 24 नवंबर 1999 में डिंपल और अखिलेश विवाह सूत्र में बंध गए। अखिलेश और डिंपल के आज अदिति, टीना और अर्जुन नाम के 3 बच्चों के पेरेंट्स हैं। 
- अखिलेश पत्नी डिंपल को अपना लेडी लक मानते हैं। वे कई मंच से ये बात कह चुके हैं। उनका कहना था- डिंपल से शादी के बाद उनका भाग्य खुला। बता दें नवंबर 1999 में अखिलेश-डिंपल यादव की शादी के अगले ही साल फरवरी (वर्ष 2000) में अखिलेश सांसद चुने गए थे।

आगे पढ़ें: MP बनते ही बनाए थे रिकॉर्ड्स

today dimple yadav birthday special story dating with akhilesh since school time know love life and interesting facts

MP बनते ही बनाए थे रिकॉर्ड्स

- डिंपल निर्विरोध सांसद बनने वाली देश की 44वीं पॉलिटिशियन बनी थीं। बीजेपी, कांग्रेस की तरफ से किसी कैंडिडेट का नॉमिनेशन नहीं आया था।
- यूपी की पॉलिटिक्स में यह कारनामा करने वाली वो पहली महिला थीं। डिंपल देश की एकमात्र ऐसी MP थीं, जिनके पति सीएम थे और एकमात्र ऐसी MP रहीं जिनके ससुर उसी सदन में सांसद हों। 

X
डिंपल निर्विरोध सांसद बनने वाली देश की 44वीं पॉलिटिशियन बनी थींडिंपल निर्विरोध सांसद बनने वाली देश की 44वीं पॉलिटिशियन बनी थीं
today dimple yadav birthday special story dating with akhilesh since school time know love life and interesting facts
today dimple yadav birthday special story dating with akhilesh since school time know love life and interesting facts
today dimple yadav birthday special story dating with akhilesh since school time know love life and interesting facts
today dimple yadav birthday special story dating with akhilesh since school time know love life and interesting facts
Astrology

Recommended

Click to listen..