--Advertisement--

उत्तरप्रदेश: बारिश-बिजली गिरने से 32 दिन में 162 लोगों की मौत, गंगा का जलस्तर बढ़ने से वाराणसी में मंदिर डूबे

मौसम विभाग ने प्रदेश के कुछ हिस्सों में शुक्रवार तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया

Danik Bhaskar | Aug 01, 2018, 10:06 PM IST
वाराणसी में गंगा का जलस्तर तेज वाराणसी में गंगा का जलस्तर तेज

- वाराणसी में गंगा के तटीय इलाकों में आपदा से निपटने के लिए 48 नावें रिजर्व

- गंगा में तेज बहाव के चलते प्रशासन ने बोटिंग पर रोक लगाई

लखनऊ. उत्तरप्रदेश के कई जिलों में बीते 10 दिन से भारी बारिश हो रही है। गंगा, सरयू समेत ज्यादातर नदियां उफान पर हैं। वाराणसी में गंगा का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है, जो खतरे के निशान से अभी पांच मीटर कम है। बुधवार को गंगा घाटों के किनारे बने कई मंदिर डूब गए। मौसम विभाग ने प्रदेश के कुछ हिस्सों में शुक्रवार तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। जुलाई की शुरुआत से अब तक बारिश और बिजली गिरने से 162 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें से 106 जानें पिछले सात दिन में गईं।

राज्य में बुधवार शाम तक 24 घंटे में बारिश से हुए हादसे में 10 लोगों की जान गई। फर्रुखाबाद, बहराइच में दो-दो और रायबरेली, लखीमपुर खीरी, लखनऊ, कन्नौज, हाथरस, कानपुर देहात, बाराबंकी, सीतापुर, सुल्तानपुर, श्रीवस्ती में 1-1 व्यक्ति की जान गई।

एक हजार से ज्यादा घरों को नुकसान : राज्य सरकार के मुताबिक, जुलाई में बारिश-आंधी से करीब 1185 मकान क्षतिग्रस्त हुए। मुख्यमंत्री योगी ने सभी जिलों के डीएम को प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने के साथ ही तत्काल राहत मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं।

कहां कितनी मौतें (1 जुलाई से 31 जुलाई तक)

जिला मौतें
सहारनपुर 11
मेरठ 09
आगरा 08
कानुपर देहात 08
सोनभद्र 07
मुजफ्फरनगर, ललितपुर (यहां 5-5 मौतें) 10
बागपत, अलीगढ़, इलाहाबाद, फतेहपुर, जौनपुर, मैनपुरी, बांदा, अमरोहा (इन जिलों में 4-4 मौतें) 32
फिरोजाबाद, कन्नौज, रायबरेली, सुल्तानपुर, अमेठी, औरैया, कासगंज, फर्रूखाबाद (हर जिले में 3-3 मौतें) 24
आजमगढ, गोरखपुर, बलिया, बहराइच, हाथरस, बुलंदशहर, प्रतापगढ़, लखीमपुर खीरी, उन्नाव, सीतापुर, शामली, बरेली (सभी जिलों में 2-2 मौतें हुईं) 24
मथुरा, पीलीभीत, कानपुर नगर, जालौन, चित्रकूट, झांसी, हापुड़, मिर्जापुर,गाजीपुर, लखनऊ, फैजाबाद, बाराबंकी, गाजियाबाद, महोबा, अंबेडकर नगर (सभी जगह 1-1 मौत हुई) 15