--Advertisement--

अखिलेश यादव ने दी वकार अहमद शाह को श्रद्धांजलि, रविवार रात हुआ था निधन

2013 में तबियत बिगड़ने के बाद वह कोमा में चले गए थे।

Danik Bhaskar | Apr 16, 2018, 03:19 PM IST
अखिलेश यादन के साथ राजेन्द्र चौधरी भी मौजूद थे। अखिलेश यादन के साथ राजेन्द्र चौधरी भी मौजूद थे।

बहराइच. सपा मुखिया अखिलेश यादव सोमवार को पूर्व मंत्री डॉक्टर वकार अहमद शाह को श्रद्धांजलि देने पहुंचे। अखिलेश ने परिवार के लोगों से मुलाकात की और उनको सांत्वना दी। उनके साथ अहमद हसन और राजेन्द्र चौधरी भी मौजूद थे। बता दें बहराइच के पूर्व सदर विधायक व कैबिनेट मंत्री डॉ. वकार अहमद शाह का लंबी बीमारी के बाद रविवार देर शाम को निधन हो गया था। उन्होंने लखनऊ के सिविल अस्पताल में अंतिम सांस ली।


- वर्ष 2012 में हुए विधानसभा चुनाव के ठीक एक साल बाद वह अचानक बीमार हुए और कोमा में चले गए। वर्ष 2013 से निरंतर कोमा में थे। उनका इलाज वेदांता, अपोलो हास्पिटल में चला। लेकिन सुधार न होने पर पुन: सिविल हास्पिटल लखनऊ में भर्ती कराया गया।
- डॉ. वकार के बेटे व मटेरा विधायक यासर शाह ने बताया कि इलाज के दौरान डॉ. वकार ने सिविल हास्पिटल लखनऊ में रविवार रात 7.40 बजे अंतिम सांस ली। छड़ेशाह तकिया में शव को सुपुर्द-ए-खाक किया गया।

यह है राजनीति इतिहास
- डॉ. वकार पांच बार विधायक रहे। 2013 में तबियत बिगड़ने के बाद वह कोमा में चले गए थे। तब से उनका इलाज चल रहा था। डॉ वकार के निधन की सूचना पाकर जिले के लोग शोकाकुल हैं। शहर के मोहल्ला काजीपुरा निवासी डॉ.वकार अहमद शाह जिले के वरिष्ठ राजनीतिज्ञों में शुमार होते थे। वर्ष 1993 में उन्होंने समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ा था।
- भाजपा के बृजराज त्रिपाठी को पराजित कर वह सदन पहुंचे थे। इसके बाद डॉ. वकार राजनीति में ऐसे सक्रिय हुए कि वह लगातार पांच बार जिले के सदर विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए। विधानसभा अध्यक्ष भी थे। दो बार कैबिनेट मंत्री भी चुना गया।

वर्ष 1993 में उन्होंने समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ा था। वर्ष 1993 में उन्होंने समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ा था।