अजब-गजब: दूल्हा बनने के लिए यहां हुई परीक्षा, 250 में से 219 हुए फेल, सिर्फ 31 युवाओं की नवरात्र में बजेगी शहनाई / अजब-गजब: दूल्हा बनने के लिए यहां हुई परीक्षा, 250 में से 219 हुए फेल, सिर्फ 31 युवाओं की नवरात्र में बजेगी शहनाई

250 युवाओं ने किया था आवेदन, सभी की जिला प्रशासन ने ली परीक्षा...

Bhaskar News

Oct 10, 2018, 10:16 AM IST
groom exam for community marriage 31 pass of 250

लखनऊ। आपने नौकरी के लिए परीक्षा और इंटरव्यू के बारे में तो सुना होगा, लेकिन दूल्हे की परीक्षा के बारे में शायद ही आपने पहले कभी सुना हो। राजधानी में ऐसी ही हुई एक परीक्षा का परिणाम बीते महीने घोषित किया गया। लखनऊ के राजकीय पाश्चात्यवर्ती देखरेख संगठन में रहने वाली युवतियों से शादी के लिए आवेदन मांगे गए थे। 250 युवाओं ने दूल्हे के लिए आवेदन किया था। सभी युवाओं की जिला प्रशासन की ओर से परीक्षा ली गई। परीक्षा और इंटरव्यू के बाद 219 युवा फेल हो गए।

250 युवकों ने किए थे आवेदन, लेकिन 31 ही दूल्हे के लिए चुने गए
पास होने वाले 31 युवाओं को शादी के लिए चुना गया। राजकीय पाश्चात्यवर्ती देखरेख संगठन की अधीक्षिका मंजू वर्मा ने बताया कि शादी के लिए 250 युवकों ने आवेदन किए थे, लेकिन 31 ही दूल्हे के लिए चुने गए। जिला प्रशासन और एलआइयू की जांच के बाद सभी को शादी के योग्य पाया गया। नवरात्र में बजेगी शहनाई मोतीनगर स्थित राजकीय पाश्चात्यवर्ती देखरेख संगठन परिसर में नवरात्र में शहनाई बजेगी। 15 अक्टूबर को महानगर के कल्याण मंडप में सभी 31 युवतियां सभी चुने गए युवकों के साथ सात फेरे लेंगी।

जिला प्रशासन की ओर से होता है सामूहिक विवाह
समाज कल्याण अधिकारी केएस मिश्रा ने बताया कि सामूहिक शादी के लिए अनुदान की व्यवस्था की जा रही है। सभी युवतियों के खाते में 20 हजार रुपए की रकम भेजी जाएगी और 10 हजार रुपए का घरेलू सामान दिया जाएगा। पांच हजार रुपए शादी समारोह में खर्च होंगे। प्रशासन के सहयोग से सामूहिक विवाह होगा। यहां प्रदेशभर से आती हैं युवतियां राजधानी के स्थित राजकीय पाश्चात्यवर्ती देखरेख संगठन में 18 वर्ष से ऊपर वाली सभी बेसहारा युवतियों को रखा जाता है। राजकीय बालगृह (बालिका) में रहने वाली ऐसी बालिकाएं जिनकी उम्र 18 वर्ष हो जाती है उन्हें यहां स्थानांतरित कर दिया जाता है।

X
groom exam for community marriage 31 pass of 250
COMMENT