उप्र / दिवाली मनाने हरदोई पहुंचीं रूस की दो युवतियां, योग के गुर सिखाए



रूसी नागरिक याना व नताशा। रूसी नागरिक याना व नताशा।
X
रूसी नागरिक याना व नताशा।रूसी नागरिक याना व नताशा।

  • हिंदी में संवाद साधकर लोगों को अपनी तरफ किया आकर्षित
  • विदेशी युवतियों ने कहा- उन्हें भारतीय परंपरा से लगाव

Dainik Bhaskar

Oct 27, 2019, 04:31 PM IST

हरदोई. भारतीय संस्कृति से प्रभावित रूस की दो युवतियां याना व नताशा दिवाली मनाने के लिए हरदोई पहुंची हैं। दोनों को भारतीय परंपरा व हिंदू संस्कृति से बेहद लगाव है। याना बताती हैं कि, वह अपने घर में भी भारतीय संस्कृति जैसा माहौल रखती हैं। शनिवार को दोनों विदेशी मेहमानों ने सवायजपुर कस्बे में स्थित गन्ना कृषक महाविद्यालय में बच्चों को योग सिखाया और उसके फायदे भी गिनाए। 

 

याना व नताशा बीते शुक्रवार को हरदोई पहुंची हैं। पिछले 2 दिनों से रूस के मास्को शहर से भारत भ्रमण पर आई नताशा और याना भारत में योग का संदेश दे रही हैं। इस दौरान वह बच्चों को स्वस्थ रहने का संदेश भी दे रही हैं।

 

योग को लेकर उन्होंने कहा कि योग से बच्चों का शरीर स्वस्थ रहेगा। इस प्रचार को लेकर उन्होंने कहा कि बच्चे भी योग का संदेश देने में सहायक बने, जिससे सभी चुस्त और तंदुरुस्त रहें। स्कूल में करीब 2 घंटे तक योग की शिक्षा देने के बाद याना और नताशा ने स्कूली बच्चों के साथ दीपावली भी मनाई और हैप्पी दिवाली कहकर बच्चों का उत्साहवर्धन के साथ ही भारतीय संस्कृति को अपनाने के विचार व्यक्त किए।

 

नताशा बताती हैं कि उन्होंने रूस में मास्को में हिंदी सीखी थी और वह हर साल भारत आती हैं, भारत में उनके अच्छे दोस्त हैं, यहां आकर उन्होंने योग सीखा और दीपावली के मौके पर वह इसलिए आई हैं क्योंकि त्योहार के मौके पर रिश्तेदार इकट्ठे होते हैं। हिंदू धर्म से बेहद प्रेम करने वाली और हिंदू धर्म के मुताबिक सिंदूर लगाकर और मंगलसूत्र पहनकर हिंदू धर्म के प्रति अपने प्रेम को जाहिर कर रही याना बताती हैं कि वह 7 वर्ष की थी, तब वह अपने माता-पिता के साथ मथुरा आई थीं। इसके बाद उनका भारत में कई बार आना जाना हुआ, जिसके बाद उन्हें भारतीय संस्कृति से बेहद लगाव हो गया और उन्होंने भारतीय संस्कृति को ही अपना लिया।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना