Hindi News »Uttar Pradesh »Lucknow »News» देशभक्ति-जनसेवा का सही उदाहरण: Free Clinical Treatment Of Soldiers In This Clinic

आर्मी में नहीं हुआ सिलेक्शन, अब डॉक्टर बनकर कर रहे फौजियों का फ्री इलाज

लखनऊ के गेस्ट्रो स्पेशलिस्ट डॉ. अजय चौधरी फौजियों और उनकी फैमिली का फ्री इलाज करते हैं।

dainikbhaskar.com | Last Modified - May 10, 2018, 02:02 PM IST

    • लखनऊ, यूपी। यहां के एक डॉक्टर ने फौजियों और उनकी फैमिली को सम्मान देने के मकसद से अनूठी मिसाल पेश की है। लखनऊ के गेस्ट्रो स्पेशलिस्ट डॉ. अजय चौधरी इन लोगों का फ्री इलाज करते हैं। उन्होंने अपने क्लीनिक पर बकायदा एक सूचना चिपका रखी है। इसमें लिखा है कि, 'सेना के जवान उनकी फीस बॉर्डर पर दे चुके हैं।'

      -डॉ. अजय चौधरी का गोमती नगर में क्लीनिक है। फौजियों और उनके परिजनों को फ्री इलाज के लिए सिर्फ आईडी कार्ड दिखाना पड़ता है। डॉ. चौधरी ने कुछ साल पहले इसकी शुरुआत की थी।
      -डॉ. चौधरी कहते हैं,'फौजी बिना किसी स्वार्थ के बॉर्डर पर देश और उनकी हिफाजत करते हैं। अगर हम लोग उनके लिए कुछ कर पाएं, तो यह गर्व की बात है। फीस न लेकर हम उन्हें सम्मान देना चाहते हैं।'

      आर्मी में थे डॉ. चौधरी के पिता
      -डॉ. चौधरी खुद सेना की बैकग्राउंड वाली फैमिली से ताल्लुक रखते हैं। उनके पिता सेना में थे। जबकि भाई नौसेना में कमांडर था।
      -वे बताते हैं, 'हम भी आर्मी में जाना चाहते थे। एनडीए की परीक्षा दी, लेकिन सफल नहीं हो सका। इसलिए इस तरह से फौजियों की सेवा कर रहे हैं।'
      - डॉ. अजय को उनके इस काम के लिए हाल में मध्य कमान सेनाध्यक्ष लेफ्टिनेंट जनरल बीएस नेगी की ओर से मेजर जनरल डीएस भाकुनी ने उन्हें सम्मानित किया था। उन्हें सेना की तरफ से एक प्रशंसा पत्र व उत्कृष्ट सेवा प्रमाणपत्र दिया गया था। डॉ. अजय चौधरी छावनी स्थित मध्य कमान अस्पताल में अपने पिता के साथ पहुंचे थे। वहां उनका सम्मान किया गया।

    • आर्मी में नहीं हुआ सिलेक्शन, अब डॉक्टर बनकर कर रहे फौजियों का फ्री इलाज
      +1और स्लाइड देखें
      डॉ. अजय चौधरी का सम्मान करते मेजर जनरल डीएस भाकुनी।
    Topics:
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

    More From News

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×