--Advertisement--

MLC चुनाव: नॉमिनेशन की अंतिम डेट आज, सीएम योगी ने दी सभी कैडिंडेट को शुभकामनाएं

एमएलसी चुनाव के लिए 26 अप्रैल को वोटिंग होगी।

Dainik Bhaskar

Apr 16, 2018, 10:20 AM IST
बीजेपी ऑफिस में सभी कैडिंडेट का स्वागत किया गया। बीजेपी ऑफिस में सभी कैडिंडेट का स्वागत किया गया।

लखनऊ. विधानपरिषद चुनाव के नामांकन का आज आखिरी दिन था। बीजेपी कार्यालय में सीएम योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पांडेय और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने बीजेपी के सभी कैंडिडेट का स्वागत किया। इस दौरान सीएम योगी ने कहा कि सभी उम्मीदवारों को शुभकामनाएं। बता दें कि बीजेपी ने 10 कैंडिडेट की लिस्ट रविवार को जारी की थी जबकि एक सीट अपने सहयोगी दल अपना दल (एस) को दी है। वहीं, सपा ने प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम को अपना कैडिंडेट घोषित किया है। जबकि एक के लिए सपा ने बसपा के समर्थन की घोषणा की है। बसपा की तरफ से भीमराव आंबेडकर कैडिंडेट हैं। बीजेपी के सभी कैडिंडेट ने आज अपना नामांकन दाखिल किया।

क्या कहा नरेश उत्तम ने

- नरेश उत्तम ने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को बधाई दी और कहा कि हमारे दोनों प्रत्याशी सपा और बसपा को विजयी मिलेगी। भाजपा ने पिछली बार सत्ता का दुरुपयोग किया था लेकिन अबकी बार हमारी संख्या पूरी है।

इन नेताओं को बीजेपी ने दिया है टिकट

नाम पद
मोहसिन रजा योगी सरकार में अल्पसंख्यक राज्यमंत्री
डॉ महेन्द्र सिंह योगी सरकार में राज्यमंत्री
डॉ. सरोजनी अग्रवाल सपा छोड़ बीजेपी में हुई थी शामिल (इनकी छोड़ी सीट पर एमएलसी चुने गए थे स्वतंत्र देव सिंह)
बुक्कल नबाव सपा छोड़ बीजेपी में आए (इनकी छोड़ी सीट पर एमएलसी चुने गए थे मोहसिन रजा)
यशवंत सिंह सपा से बीजेपी में शामिल (इनकी छोड़ी सीट पर एमएलसी चुने गए थे मुख्यमंत्री योगी आदित्यननाथ)
जयवीर सिंह सपा से बीजेपी में शामिल (इनकी छोड़ी सीट पर एमएलसी चुने गए थे डिप्टी सीएम केशव मौर्य)
विद्यासागर सोनकर प्रदेश महामंत्री
विजय बहादुर पाठक बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष
अशोक कटारिया बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष
अशोक धवन पूर्व एमएलसी
आशीष सिंह पटेल अपना दल (एस) के अध्यक्ष


सपा के नेताओं ने कब दिया था इस्तीफा

-29 जुलाई, 2017 को सपा के एमएलसी बुक्कल नवाब ने विधानपरिषद की सदस्यता से इस्तीफा दिया था। इनका कार्यकाल 6 जुलाई 2022 तक था। बाद में इन्होंने बीजेपी ज्वाइन कर ली थी।
-29 जुलाई को ही सपा के यशवंत सिंह ने भी विधानपरिषद की सदस्यता से इस्तीफा दिया था। इनका भी कार्यकाल 6 जुलाई 2022 तक था। बाद में इन्होंने बीजेपी ज्वाइन कर ली थी।
-वहीं, सपा की ही डॉ सरोजनी अगरवाल ने 4 अगस्त, 2017 को इस्तीफा दिया था। इनका कार्यकाल 30 जनवरी 2021 को खत्म हो रहा था। बाद में इन्होंने बीजेपी ज्वाइन कर ली थी।
-सपा के ही अशोक वाजपेयी ने भी 9 अगस्त 2017 को इस्तीफा दिया था। इनका भी कार्यकाल 30 जनवरी 2021 तक था। बाद में इन्होने बीजेपी ज्वाइन कर ली थी।

कब है चुनाव
- यूपी से खाली हो रही 13 एमएलसी की सीटों पर चुनाव आयोग ने तारीखों का एलान कर दिया है। विधान परिषद की 13 सीटों के लिए अधिसूचना जारी करते हुए 9 से 16 अप्रैल तक नामांकन होगा। 26 अप्रैल को मतदान की तिथि घोषित किया हैं। बता दें 5 मई 2018 को पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव समेत 13 एमएलसी रिटायर होंगे।


इन नेताओं की सीटे होंगी खाली?
- विधानपरिषद की 12 सीटें 5 मई को खाली हो रही हैं। जबकि एक सीट पहले से ही खाली है। यह सीट अंबिका चौधरी सपा से बसपा में जाने के बाद इस्तीफा देने के बाद खाली हुई थी।

पार्टी नेता
बीजेपी महेंद्र कुमार सिंह और मोहसिन रजा
सपा अखिलेश यादव, नरेश उत्तम, राजेंद्र चौधरी, मधु गुप्ता, रामसकल गुर्जर, विजय यादव और उमर अली खान
बीएसपी विजय प्रताप और सुनील कुमार चित्तौड़
रालोद चौधरी मुश्ताक


क्या है विधानपरिषद का गणित?
- विधानसभा की मौजूदा संख्या 402 सदस्य हैं। 1 सीट नूरपुर विधायक की मृत्यु के बाद खाली है। - 402 सदस्यों की संख्या के अनुसार एक विधानपरिषद की सीट के लिए 29 वोटों की जरूरत है। इस तरह बीजेपी गठबंधन के खाते में 11 सीट जानी तय हैं। इसके बाद उसके पास 5 वोट अतिरिक्त बचेंगे।
- वहीं, बीएसपी के समर्थन से सपा भी दो सीट आसानी से निकाल लेगी। कांग्रेस के भी वोट मिलाये तो विपक्ष के पास दो सीटें निकालने भर के वोट हैं।

मंत्री मोहसिन रजा योगी सरकार में मंत्री हैं। मंत्री मोहसिन रजा योगी सरकार में मंत्री हैं।
X
बीजेपी ऑफिस में सभी कैडिंडेट का स्वागत किया गया।बीजेपी ऑफिस में सभी कैडिंडेट का स्वागत किया गया।
मंत्री मोहसिन रजा योगी सरकार में मंत्री हैं।मंत्री मोहसिन रजा योगी सरकार में मंत्री हैं।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..