आया एक सपना और... प्यार की तलाश में चल पड़ी थी अयोध्या की राजकुमारी / आया एक सपना और... प्यार की तलाश में चल पड़ी थी अयोध्या की राजकुमारी

16 साल की उम्र में राजकुमारी सुरीरत्ना बनी थी कोरिया की क्वीन, अब यहां बन रहा है मेमोरियल।

Jun 19, 2018, 11:57 AM IST
साउथ कोरियाई एक्ट्रेस सियो जी साउथ कोरियाई एक्ट्रेस सियो जी

लखनऊ. राम की नगरी अयोध्या में साउथ कोरिया की महारानी हियो ह्वांग ओक का मेमोरियल बनने जा रहा है। कोरियाई राजघराने की पहली महारानी रहीं ओक अयोध्या में ही जन्मीं थीं। 16 साल की उम्र में एक सपने के बाद वो यहां से पति की तलाश में साउथ कोरिया पहुंची थीं, जहां उन्होंने वहां के राजा से शादी की थी। इस मौके पर DainikBhaskar.com अपने रीडर्स को अयोध्या और दक्षिण कोरिया के इस कनेक्शन के बारे में बता रहा है।

डिजाइन के लिए होगा कॉम्पिटीशन

- साउथ कोरियाई राजा से शादी करने वाली अयोध्या की राजकुमारी का मेमोरियल किस डिजाइन का होगा, यह डिसिजन लेने के लिए यूपी टूरिज्म एक कॉम्पिटीशन करवा रहा है।
- इस कॉम्पिटीशन में देशभर के आर्किटेक्ट्स से अपने-अपने डिजाइन प्रेजेंट करने के लिए मांगे गए हैं। जिसका डिजाइन सिलेक्ट किया जाएगा, यह मेमोरियल उसी आर्किटेक्ट के एकॉर्डिंग बनेगा। जीतने वाले आर्किटेक्ट को 75 हजार और सेकंड नंबर पर आने वाले को 50 हजार कैश प्राइज देने का एलान किया गया है। रिजल्ट्स 26 जून को डिक्लेयर होंगे।

अयोध्या में बनेगा मेमोरियल

- यह मेमोरियल शुरुआत में अयोध्या में सरयू किनारे लगभग 55,765 स्क्वैयर मीटर एरिया में प्लान किया गया था, लेकिन यह क्षेत्र सरयू फ्लड प्लेन के तहत आता है। बाढ़ के रिस्क को देखते हुए उस साइट को छोड़ दिया गया।
- अब इसका निर्माण राम कथा म्यूजियम के ठीक पीछे करवाया जाएगा।

16 साल की राजकुमारी को आया था सपना

- कथाओं के मुताबिक अयोध्या की राजकुमारी सुरीरत्ना को 16 साल की उम्र में सपना आया था कि उन्हें समुद्र पार करने के बाद पति की प्राप्ति होगी।
- उन्होंने अपने माता-पिता को सपने के बारे में बताया और उनसे परमिशन लेकर यात्रा पर निकल गईं।
- सुरीरत्ना नाव से साउथ कोरिया पहुंची थीं, जहां उनकी मुलाकात गया किंगडम के राजा सूरो से हुई। उन्होंने राजा के सामने शादी का प्रस्ताव रखा और दोनों बंधन में बंध गए।
- शादी के बाद उनका नाम बदलकर हियो ह्वांग ओक रख दिया गया था।
- कथाओं में यह बात भी लिखी गई है कि राजकुमारी अपने हाथ में एक पत्थर लेकर गई थीं, जिसकी मदद से उन्होंने समंदर की लहरों को शांत कर अपना रास्ता बनाया था।
- राजकुमारी अपने साथ सोना-चांदी और एक चाय का पौधा लेकर कोरिया पहुंची थीं।

पत्थर देते हैं प्रमाण

- आर्कियोलॉजिस्ट्स को साउथ कोरिया में ऐसे पत्थर मिले हैं, जिनके ऊपर दो मछलियां अंकित हैं। उनके मुताबिक ये पत्थर अयोध्या और साउथ कोरिया के मध्य कल्चरल हैरिटेज लिंक को प्रमाणित करते हैं।
- यही नहीं, साउथ कोरिया के गिमहे शहर में मौजूद रॉयल कब्रों से लिए डीएनए सैम्पल्स भी कोरिया और भारतीय सभ्यता के बीच लिंक को प्रमाणित करते हैं।
- अयोध्या में महारानी हियो ह्वांग ओक के मेमोरियल का प्रपोजल साल 2016 में साउथ कोरिया ने यूपी के तात्कालीन सीएम अखिलेश यादव के सामने रखा था, जिसे उन्होंने अप्रूव किया था।

X
साउथ कोरियाई एक्ट्रेस सियो जीसाउथ कोरियाई एक्ट्रेस सियो जी
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना