उप्र / मोदी पर अखिलेश का पलटवार; हमको महा मिलावट कहने वाले मिट जाएंगे, पता नहीं चलेगा



सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव।
X
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव।सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव।

  • कुशीनगर व सहारनपुर में शराब कांड के लिए योगी सरकार को ठहराया जिम्मेदार
  • बोले- सीएम योगी एक संत, फिर भी बोलते हैं झूठ

Feb 08, 2019, 01:47 PM IST

लखनऊ. सपा अध्यक्ष व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शुक्रवार को प्रदेश सरकार व केंद्र की मोदी सरकार पर करारा हमला बोला। कुशीनगर व सहारनपुर में जहरीली शराब से हुई मौतों पर अखिलेश ने कहा, सरकार को सब पता है कि कौन ऐसी शराब बना रहा है? शराब के अवैध कारोबार के लिए सरकार ही जिम्मेदार है। कहा, हम एक योगी से यह उम्मीद नहीं रखते हैं कि वह झूठ बोलें, लेकिन एक भी यूनिट बिजली नहीं बना रहे हैं। अखिलेश ने इशारों में पीएम मोदी पर हमला बोला। कहा, महागठबंधन को महामिलावट कहने वाले मिट जाएंगे, पता नहीं चलेगा। 


 

अखिलेश ने कहा- अन्याय की सीमा लांघ गई भाजपा सरकार

  1. अखिलेश ने कहा कि, अन्याय की सीमा भाजपा सरकार लांघ गई। जिसके पास काम नहीं रहता था, वो परेशान रहते थे, लेकिन यह सरकार ऐसी सरकार है, जिसके पास काम है वो भी परेशान है। बजट आकड़ो में अच्छा लग सकता है। लेकिन भाजपा सरकार अपना ही संकल्प पत्र भूल गई है। कहा था, एक साल में पुलिस के रिक्त पदों को भरेंगे, लेकिन जेलों में हत्याएं हो रही हैं। सबसे ज्यादा वसूली जेलों में हो रही है। पिछली जितनी सरकारे थीं, सबके आंकड़े को पीछा छोड़ दिया गया है। सीएम सन्यासी हैं, तब भी कुछ नहीं हो रहा है। बजट में देखने को बहुत पैसा है। लेकिन गाय खाएंगी क्या? जो बीमारी हो गई, उनका इलाज कैसे होगा?

     

  2. अखिलेश ने कहा, समाजवादी पेंशन जो चलती थी, वही शुरू हुई है। गंगा में जैसे पानी बहा था, वैसे ही फंड भी बह गया। कन्नौज में एक किसान पर करोड़ों का बिल आ गया बिजली का। सड़क पर आलू गिराने वालों पर ऐसी धारा लगाई कि वकीलों को भी पन्ने पलटने पड़ गए। अंग्रेजो के जमाने की धाराएं लगाई गईं। तीन बजट चले गए पर आज तक लैपटॉप का पता नहीं। केंद्र को यूपी के बिजली का कोटा बढ़ा देना चाहिए था, पर कोटा नही बढ़ाया है। इन्होंने सबको धोखा दिया है, सूरज को भी धोखा दिया है। ये पुरानी योजनाओं को ही आगे बढ़ रहे हैं, रंग पोत कर फीता काट कर। हमें इंतेजार रहेगा कि, गोरखपुर में कब मेट्रो चलेगी? नया कोई इन्वेस्टमेंट नही आया है, न ही बजट में दिखता है, इनके पास कोई पालिसी नहीं है।

  3. अखिलेश ने आरोप लगाया कि, महिलाएं सबसे ज्यादा असुरक्षित भाजपा सरकार में है। मुख्यमंत्री आवास से भी न्याय मिलना बंद हो गया है। यह तब जब मुख्यमंत्री एक संत हो। किसानों का गन्ना जिस तरह सें पानी में बह गया, उसी तरह बजट भी बह गया है। आलू प्याज का न्यूनतम मूल्य देने का वायदा किया गया था, लेकिन वह भी सरकार द्वारा कहीं नहीं दिख रहा है। ब्लॉक स्तर पर कोल्ड स्टोरेज की बात सरकार ने किया था, लेकिन वह भी हवा हवाई है। 

     


     

  4. रोजगार के लिए भी इस सरकार ने कोई काम नहीं किया है। शिक्षा मित्रों से किए गए वायदों को भी सरकार ने हवा में उड़ा दिया। केंद्र ने कोई भी ऐसी बड़ी योजना नहीं दी, जिससे बड़े विश्वविद्यालय उत्तर प्रदेश को मिल सकें। इंफ्रास्ट्रक्चर में 2 साल हो गए हैं, इन्होंने गड्ढा मुक्त करने की बात कही थी, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ पर ठेकेदार जरूर खुश हो गए हैं। उत्तर प्रदेश की जनता को कोई भी बड़ा बजट एक्सप्रेस वे के लिए नहीं दिया। 

     

  5. इन्होंने थामा सपा का दामन

    शुक्रवार को सपा कार्यालय में किसान नेता अखिलेश कटियार, पूर्व विधायक भाजपा शशिबाला पुंडीर, पूर्व एमएलसी भाजपा अजय कुमार सिंह बागी, व्यापारी नेता राम बाबू रस्तोगी, एएमयू के उपाध्यक्ष नदीम अंसारी व दीपक कुमार त्यागी ने सपा का दामन थामा। इन्हें सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सदस्यता ग्रहण कराई। 
     

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना