--Advertisement--

यूपी में लुटेरों का दुस्साहस: राजभवन के पास एटीएम का कैश लेकर जा रही वैन के ड्राइवर की हत्याकर की लूट

राजभवन के पास सोमवार को दिनदहाड़े बाइक सवार बदमाशों ने ड्राइवर को गोली मारकर कैश वैन से 6.44 लाख रूपए लूट लिये।

Danik Bhaskar | Jul 31, 2018, 11:25 AM IST

लखनऊ. राजभवन के पास सोमवार को दिनदहाड़े बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारकर बैंक की कैश वैन से 6.44 लाख रुपए लिए। वीवीआईपी इलाके में हुई वारदात में सीने में गोली लगने से वैन चालक धर्मेंद्र की मौत हो गई तो एक की हालत गंभीर बनी हुई है। राजभवन के पास वारदात के बाद पुलिस महकमें के मुखिया ओपी सिंह समेत दर्जन भर पुलिस अफसर मौके पर पहुंच गए।

कैबिनेट मंत्री के घर के सामने हुई वारदात:बताया जा रहा है कि यह वैन एक्सिस बैंक का कैश लेकर जा रही थी। राजभवन के पास कड़ी सुरक्षा के बीच हुई इस वारदात से इलाके में सनसनी फैल गई। बंदरियाबाग इलाके में जिस जगह पर बदमाशों ने घटना को अंजाम दिया उसके ठीक सामने कैबिनेट मंत्री बृजेश पाठक का आवास है। वहां से लगभग 200 मीटर की दूरी पर मुख्यमंत्री आवास भी है। जबकि इतनी ही दूर पर आईजी रेंज का ऑफिस भी मौजूद है।

बाइक पर स्कूटी का नंबर लगाए थे: वहीँ पता चला है कि बाइक सवार बदमाशों ने बाइक पर स्कूटी का नंबर लगाया हुआ था। जबकि पुलिसिया जांच में आपा-धापी में गिरा बदमाशों का असलहा बरामद कर लिया है। एडीजी एलओ आनंद कुमार का कहना है कि, बाइक नंबर ट्रैश हो गया है जल्द ही बदमाश पकड़े जाएंगे, एक कि मौत हुई एक घायल, लूट कितने की इसकी डिटेल अभी नहीं हो सकी है। पुलिस की टीम लगी है जल्द खुलासा होगा।

एसटीएफ को लगाया गया: घटना की सूचना पाकर डीजीपी ओपी सिंह भी तत्काल मौके पर पहुंचे। उन्होंने बताया कि घटना के त्वरित अनावरण के लिए एसटीएफ की टीम को लगाया गया है। जबकि लखनऊ पुलिस की 6 टीमों को खुलासे के लिए लगाया गया है। यही नहीं पिछले 10 वर्षों में लूट की घटना (मुख्यतः कैश वैन लूट) में प्रकाश में आये अभियुक्तों की धरपकड़ के निर्देश दिए गए हैं।

प्रत्यक्षदर्शी ने क्या बताया: प्रत्यक्षदर्शी प्रभात कुमार पाण्डेय किसी कंस्ट्रक्शन कंपनी में काम करते हैं। वह बोलेरो से सुल्तानपुर रोड से लौट रहे थे तब उन्होंने देखा कि दो बदमाश लूट के इरादे से असलहा लेकर खड़े हैं। वह बदमाश के पास पहुंच गए और उसे वारदात से रोकने की कोशिश की तो उसने प्रभाष पर असलहा तान दिया। प्रभात ने असलहा झटक कर गिरा दिया तो उसने दूसरा असलहा निकाल कर उन पर तान दिया और फरार हो गया। बाइक का नंबर पुलिस को नोट करा दिया गया है। हालांकि प्रभात का कहना है कि बदमाश एक बाइक से थे।